Wednesday, May 29, 2019

रेशम उत्पादन के लिये किसानों को प्रेरित कर, लाभान्वित करें

रेशम उत्पादन के लिये किसानों को प्रेरित कर, लाभान्वित करें

भोपाल। गोंडवाना समय।
कुटीर और ग्रामोद्योग मंत्री हर्ष यादव ने मंगलवार मंत्रालय कक्ष में सिल्क फेडरेशन के संचालक मंडल की बैठक में फेडरेशन के कार्यों की समीक्षा की। श्री यादव मध्यप्रदेश राज्य रेशम विकास एवं विपणन सहकारी संघ(सिल्क फेडरेशन) के अध्यक्ष भी हैं। श्री यादव ने प्रदेश में फेडरेशन के विभिन्न शो रूम द्वारा किये जा रहे विक्रय, प्रदेश में हो रहे सिल्क उत्पाद, किसानों को ककून तैयार करने, धागा निकालने जैसे कार्यों के लिये दी जाने वाली सहायता और फेडरेशन द्वारा सिल्क प्रमोशन के लिये किये जा रहे प्रयासों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने मैदानी अधिकारियों को किसानों की आमदनी बढ़ाने की दृष्टि से उनसे सतत् संपर्क कर रेशम उत्पादन के लिये प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए। श्री यादव ने कहा कि मध्यप्रदेश रेशम उत्पादन में देश के अग्रणी प्रांतों में है। कर्नाटक के बाद मध्यप्रदेश रेशम उत्पादन, गुणवत्ता और उत्पाद विक्रय में काफी आगे है। फेडरेशन को उत्पादित ककून और धागों की गुणवत्ता और उपयोगिता वृद्धि पर निरन्तर ध्यान देना है। मंत्री श्री यादव ने शुद्ध रेशम से निर्मित वस्त्रों की बिक्री बढ़ाने के लिए विभिन्न प्रदर्शनियों और मेलों में सहभागिता बढ़ाने के लिये भी कहा। इस अवसर पर प्रमुख सचिव कुटीर एवं ग्रामोद्योग मो.सुलेमान ने फेडरेशन में आॅडिट कार्य पूर्ण करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने मृगनयनी और अन्य एम्पोरियम पर रेशम वस्त्रों के स्टॉल स्थापित करने के लिए आवश्यक कार्यवाही करने को कहा। फेडरेशन के प्रबंध संचालक श्री विभाष ठाकुर ने गतिविधियों की जानकारी दी। बैठक में नवीन धागाकरण इकाइयों की स्थापना एवं रोजगार सृजन बढ़ाने पर भी चर्चा हुई।

No comments:

Post a Comment

Translate