Monday, June 3, 2019

महिलाओं के विरुद्ध अपराध के प्रति संवेदनशील रहे पुलिस

महिलाओं के विरुद्ध अपराध के प्रति संवेदनशील रहे पुलिस 

महिलाओं के विरूद्ध अपराध में 5.51 प्रतिशत की कमी
प्रदेश में कानून-व्यवस्था को सुदृढ़ बनाये रखने के निर्देश 
गृह मंत्री बाला बच्चन की अध्यक्षता में कानून-व्यवस्था की समीक्षा

भोपाल। गोंडवाना समय।
मध्य प्रदेश में महिलाओं के विरुद्ध आपराधिक प्रकरणों में 5.51 प्रतिशत की गिरावट हुई है। रेप के प्रकरणों में वर्ष 2017 के मुकाबले वर्ष 2018 में 3.05 गिरावट आई। गृह एवं जेल मंत्री बाला बच्चन की अध्यक्षता में प्रदेश की कानून-व्यवस्था और महिलाओं के विरुद्ध अपराधों की उच्च-स्तरीय बैठक में यह जानकारी दी गयी। गृह मंत्री बाला बच्चन ने निर्देश दिये कि कानून-व्यवस्था को हमेशा सुदृढ़ बनाये रखें। इसमें कसावट बनी रहे। महिलाओं के विरुद्ध अपराध के प्रति पुलिस संवेदनशील रहे। इसके साथ ही यातायात व्यवस्था में सुधार पर भी ध्यान देने को कहा।

100 अपराधियों को आजीवन कारावास हुआ 

बैठक में यह भी बताया गया कि प्रदेश में सामान्य अपराध में भी कुल 5.35 प्रतिशत की कमी आई है। हत्या में 2.75, हत्या के प्रयास में 9.56, डकैती में 78.13, लूट में 16.16, चोरी में 6.07, नकबजनी में 4.48, यौन-प्रताड़ना/छेड़छाड़ में 18.86, बलवा में 40.69 और अन्य में 4.94 प्रतिशत गिरावट हुई है। बताया गया कि जनवरी से अप्रैल माह तक 5 प्रकरणों में मृत्युदंड की सजा हुई है, जिनमें महिलाओं के विरुद्ध अपराध के 4 प्रकरण शामिल हैं। कुल 1107 प्रकरणों में सजा हुई है और 100 अपराधियों को आजीवन कारावास हुआ है।

आपत्तिजनक पोस्ट पर पुलिस अलर्ट

बताया गया कि सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट की प्रभावी मॉनीटरिंग की जा रही है। किसी भी प्रकार की घटना पर त्वरित कार्यवाही करने के लिये पुलिस अलर्ट है। बैठक में डीएनए लैब और महिला पुलिस कर्मियों के लिये थानों में शौचालयों के निर्माण के संबंध में भी चर्चा हुई। बताया गया कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति बेहतर है। इस वर्ष विभिन्न धर्मावलंबियों के त्यौहार शांतिपूर्वक सम्पन्न हुए हैं। विभिन्न आंदोलनों के दौरान भी कानून-व्यवस्था की स्थिति नियंत्रण में रही।

शांतिपूर्ण संपन्न हुये चुनाव 

जानकारी दी गयी कि प्रदेश में चार चरणों में लोकसभा चुनाव शांतिपूर्ण सम्पन्न हुए। चुनाव में 96 सीआरपीएफ कम्पनी, 107 कम्पनी एसएएफ, 73 हजार 925 पुलिस कर्मी एवं होमगार्ड सहित कुल 92 हजार का पुलिस बल तैनात किया गया। इस दौरान 77,183 गैर-जमानती वारंट तामील किये गये। तीन लाख 57 हजार 910 प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की गई। सात लाख 66 हजार 27 लीटर अवैध शराब और 9,250 अवैध हथियार जप्त किये गये। बैठक में प्रमुख सचिव गृह श्री एस.एन.मिश्रा, पुलिस महानिदेशक श्री विजय कुमार सिंह, एडीजी सीआईडी श्री राजीव टंडन, एडीजी (गुप्तवार्ता) श्री कैलाश मकवाना, एडीजी महिला अपराध श्री अन्वेष मंगलम और आईजी कानून-व्यवस्था श्री योगेश चौधरी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

Translate