Wednesday, July 31, 2019

जल, जंगल और जमीन हमारी संस्कृति का है मूल आधार-सुश्री अनुसुइया उईके

जल, जंगल और जमीन हमारी संस्कृति का है मूल आधार-सुश्री अनुसुइया उईके

राज्यपाल से आदिवासी जीवन ज्योति फाउंडेशन के प्रतिनिधिमण्डल ने की मुलाकात 

रायपुर। गोंडवाना समय।
छत्तीसगढ़ की राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से बुधवार को यहां राजभवन में आदिवासी जीवन ज्योति फाउंडेशन के अध्यक्ष श्री अरविन्द गोंड के नेतृत्व में प्रतिनिधिमण्डल ने मुलाकात किया। प्रतिनिधिमण्डल ने सुश्री अनुसुईया उइके को छत्तीसगढ़ के राज्यपाल पद के दायित्व ग्रहण करने पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दिया। राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उईके ने उन्हें धन्यवाद देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ वन संसाधनों से भरपूर आदिवासी बहुल राज्य है। जल, जंगल और जमीन हमारी संस्कृति का मूल आधार है। इसे बचाए रखना हम सबका दायित्व है। उन्होंने कहा कि आवश्यकता है कि समाज को शिक्षित करें, शिक्षा से ही जागरूकता आती है। राज्यपाल के रूप में आदिवासी समाज सहित अन्य समाज के समस्याओं का हर संभव समाधान करने का प्रयास करूंगी। प्रतिनिधिमण्डल ने राज्यपाल को पत्रिका गोण्डवाना स्वदेश भेंट की और विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में आने का न्यौता दिया। प्रतिनिधिमण्डल में डॉ. उदयभान सिंह चौहान, डॉ. आर. एस. मरकाम, श्री एस. टिर्की, श्री भारत प्रकाश कुर्रे सहित अन्य प्रतिनिधि शामिल थे। 

No comments:

Post a Comment

Translate