गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Friday, August 23, 2019

विश्व व्यापार संगठन के सुधार सभी सदस्य देश लागू करें-पीयूष गोयल

विश्व व्यापार संगठन के सुधार सभी सदस्य देश लागू करें-पीयूष गोयल

दक्षिण-दक्षिण और त्रिकोणीय सहयोग पर अंतर्राष्ट्रीय संवाद को किया संबोधित 

नई दिल्ली। गोंडवाना समय।
केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग तथा रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा है कि विश्व भर में मुक्त व्यापार पर विपरीत प्रभाव डालने वाली कुछ विकसित देशो की संरक्षणवादी और एकपक्षीय प्रभावो वाली नीति से मुकाबला करने का समय आ गया है। यदि यह नीतियां जारी रहीं तो विश्व भर में मंदी आएगी और कोई भी देश इससे अछूता नहीं रहेगा। केंद्रीय मंत्री श्री पीयूष गोयल ने नई दिल्ली में दक्षिण-दक्षिण और त्रिकोणीय सहयोग पर आयोजित एक अंतर्राष्ट्रीय संवाद को संबोधित करते हुये कहा कि सभी सदस्य देशो को विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के सुधारो को अपनाना होगा और इसे अलग-अलग रूप से लागू नहीं किया जा सकता है। हम वर्तमान प्रणाली से दूर नहीं हो सकते, बल्कि सभी डब्ल्यूटीओ सदस्य देशो को मुक्त व्यापार के लिए आवश्यक नियमो पर आधारित,पारदर्शी और भेदभाव से दूर सुशासन को ईमानदारी से लागू करना होगा। हमें असमान जीडीपी वाले विभिन्न सदस्य देशो के हितो का भी ध्यान रखना होगा।

भारत की इच्छा है कि विकास की यह गति शेष दुनिया तक भी पहुंचे

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि कुछ विकसित देशो द्वारा संरक्षणवाद की नीतियां विभिन्न देशो के मध्य सामान के व्यापार,सेवाओ और निवेश की सुरक्षा को प्रभावित कर रहा है। विश्व भर के 7 बिलियन लोगो की बेहतर जीवन के लिए आशा को रोका नहीं जा सकता है। भारत दीर्धकालिक विकास लक्ष्य(एसडीजी) के लिए प्रतिबद्ध है और उसे विश्वास है कि लोगो की आशाओ को 2030 तक रोका नहीं जा सकता है। वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारत अपने नागरिको को ऊर्जा,साक्षरता और पेयजल तक पंहुच देने के लिए 2030 तक का इंतजार नहीं करेगा। भारत अंतिम पायदान पर बैठे नागरिक तक दीर्धकालिक विकास लक्ष्यो को पहुंचाने के लिए तेजी से प्रयास कर रहा है। भारत की इच्छा है कि विकास की यह गति शेष दुनिया तक भी पहुंचे। वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने आशा व्यक्त कि दक्षिण-दक्षिण और त्रिकोणीय सहयोग विकासशील देशो की विकसित देशो के विकास एंजेडा का हिस्सा बनने में सहयोग करेगा।

No comments:

Post a Comment

Translate