Saturday, August 17, 2019

आडिटर रमेश देवांगन पर एट्रोसिटी एक्ट में कार्यवाही करने सौंपा ज्ञापन

आडिटर रमेश देवांगन पर एट्रोसिटी एक्ट में कार्यवाही करने सौंपा ज्ञापन

मारपीट, अपशब्दों के साथ जातिगत रूप से अपमानित कर प्रताड़ित करने का मामला

अजजा संघ द्वारा श्याम कुमार ध्रुव को उन्हीं के विभाग के जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में पदस्थ आडिटर रमेश कुमार देवांगन द्वारा मारपीट कर जातिसूचक शब्दों के साथ अपशब्दों का उपयोग कर अपमानित करने एवं नौकरी से निकाल देने की धमकी देने पर अनुसूचित जाति/जनजति अत्याचार अधिनियम की धारा लगाकर एफआईआर दर्ज करने की मांग को लेकर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौपा गया है। 

धमतरी। गोंडवाना समय।
छत्तीसगढ़ अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ द्वारा श्री श्याम कुमार ध्रुव भृत्य ग्राम खिरकीटोला के साथ रमेश कुमार देवांगन वरिष्ठ अंकेक्षक कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी धमतरी द्वारा दिनांक 4 जुलाई 2019 को कार्यालय में श्री श्याम ध्रुव के साथ मारपीट, जाति सूचक गाली गलौज एवं नौकरी से निकाल देने की धमकी देने सहित उनका एक इंक्रीमेंट रोककर निलंबन किए जाने की कड़ी निंदा करते हुए श्री रमेश कुमार देवांगन एवं उनके साथ इस कृत्य में संलग्न अधिकारी कर्मचारी के खिलाफ अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अत्याचार अधिनियम की धारा लगाकर एफआईआर दर्ज करने हेतु धमतरी जिला के पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौपे । पुलिस अधीक्षक द्वारा त्वरित कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है । इस अवसर पर अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ के प्रांताध्यक्ष आर एन ध्रुव, जिला के महासचिव एचआर ध्रुव, कोषाध्यक्ष विष्णु सिंह सिदार एवं धमतरी जिला अधिकारी कर्मचारी संघ फेडरेशन के समस्त संगठन के पदाधिकारी गण उपस्थित थे।

अपशब्द कहें मारापीटा और निलंबित करवा दिया 

ज्ञात हो इस संबंध में श्याम कुमार ध्रुव पिता स्वर्गीय श्री सुकालूराम ध्रुव ग्राम खिरकी टोला जिला धमतरी निवासी वर्तमान में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गोपालपुरी धमतरी में भृत्य के पद पर कार्यरत है। इसके पहले वर्ष 2012 से जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय धमतरी में भृत्य के पद पर कार्यरत थे। उन्हें कार्यालय में रात्रि कालीन ड्यूटी का कार्य सौंपा गया था। वह इस कार्य को ईमानदारी एवं निष्ठा के साथ निर्वहन कर रहा थे। उन्हें रात्रि ड्यूटी के साथ अन्य कार्यालयीन कार्य डाक बांटने का भी दिया गया था। जिसका निर्वहन भी ईमानदारी से कर रहा थे। यहां यह उल्लेखनीय है कि घटना दिनांक 4 जुलाई दिन गुरुवार को रथ यात्रा के कारण भीड़भाड़ होने की वजह से उन्हें कार्यालय पहुंचने में कुछ देर हो गई थी। श्री रमेश कुमार देवांगन द्वारा उन्हें पूछा गया तो देर होने का कारण रथ यात्रा में भीड़ में फंसना बताया गया किंतु रमेश कुमार देवांगन ने उन्हें जातिसूचक अपशब्दों का उपयोग किया तो उन्होंने अपशब्दों का उपयोग मत करिये सर कहा तो, जिला शिक्षा अधिकारी धमतरी के कक्ष में उनका कालर पकड़कर मारा पीटा और धक्का देकर गिरा दिया और लात से भी मारे एवं उन्हें नौकरी से निकालने की धमकी देते हुए कालर पकड़कर उसे जिला शिक्षा अधिकारी के कक्ष तक ले गए। उसी दिन 4 जुलाई को जिला शिक्षा अधिकारी को गलत जानकारी देकर रात्रि में ही उनका पक्ष सुने बगैर निलंबित कर दिए।

जबरन करवा लिया हस्ताक्षर और वेतनवृद्धि काटने का उल्लेख 

इस घटना से श्याम कुमार ध्रुव अत्यंत भयभीत हो गए। डर के कारण वह किसी को नहीं बता पा रहा था। इस बीच उन्हें कार्यालय बुलाकर डरा धमका कर पहले से टाइिपंग किए हुए कागज पर जबरदस्ती हस्ताक्षर करा लिए। यहां तक उस कागज में क्या लिखा है उन्हें पढ़ने का अवसर भी नहीं दिया गया और 15 ,20 दिन के भीतर निलंबन से बहाली आदेश शासकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय गोपालपुरी के लिए बीईओ धमतरी के माध्यम से कर दिए। जिसमें उनका एक वेतन वृद्धि काटने का भी उल्लेख किया गया है। इस घटना से प्रार्थी मानसिक शारीरिक आर्थिक रूप से परेशान हैं एवं डरा हुआ भयभीत है ।  इस तरह इनके साथ मारपीट एवं जातिसूचक गाली गलौज करने वाले रमेश कुमार देवांगन वरिष्ठ आॅडिटर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय एवं इस घटना में सम्मिलित अन्य अधिकारी कर्मचारी के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने हेतु अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ को आवेदन प्रस्तुत किया गया है।

No comments:

Post a Comment

Translate