Saturday, August 17, 2019

निर्माण एजेंसी रोड इंजीनियरिंग के साथ ट्रैफिक इंजीनियरिंग पर भी दे विशेष ध्यान

निर्माण एजेंसी रोड इंजीनियरिंग के साथ ट्रैफिक इंजीनियरिंग पर भी दे विशेष ध्यान 

सड़क निर्माण एवं सुधार कार्य में सुरक्षा मापदण्डों का कड़ाई से पालन करने के निर्देश
राज्य सड़क सुरक्षा परिषद के सदस्य सचिव श्री शर्मा द्वारा सुरक्षा उपायों की समीक्षा

भोपाल। गोंडवाना समय।
राज्य सड़क सुरक्षा परिषद के सदस्य सचिव और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री अजय कुमार शर्मा ने सड़क निर्माण एवं सुधार के समय ठेकेदारों से सुरक्षा उपायों के मापदण्डों का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिये हैं। श्री अजय शर्मा ने पुलिस प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान में सड़क सुरक्षा संबंधी विभाग के नोडल अधिकारियों की बैठक में कहा कि निर्माण एजेंसी रोड इंजीनियरिंग के साथ ट्रैफिक इंजीनियरिंग पर भी विशेष ध्यान दे। उन्होंने कहा कि सभी संबंधित विभाग अपनी अद्यतन रिपोर्ट लीड एजेंसी कार्यालय को देते रहें।

प्रदेश के अत्यंत संवेदनशील 100 ब्लेक-स्पॉट किय गये चिन्हित 

राज्य सड़क सुरक्षा परिषद के सदस्य सचिव और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री अजय शर्मा ने कहा कि प्रदेश के अत्यंत संवेदनशील 100 ब्लेक-स्पॉट चिन्हित किये गये हैं। इन्हें 3 प्रकारों में बाँटा गया है। इसमें 39 टी अथवा वाय टाइप जंक्शन, 41 थ्रू जंक्शन और 20 ब्लाइंड टर्न अथवा एस. कर्व हैं। उन्होंने कहा कि ब्लेक-स्पॉट्स पर सुधार की काफी आवश्यकता है। इनको रि-विजिट कर सुधार कार्य करें।

सभी एम्बुलेंस को एक सूत्र में जोड़ने की कार्यवाही की अद्यतन रिपोर्ट दी जाये

राज्य सड़क सुरक्षा परिषद के सदस्य सचिव और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री अजय शर्मा ने कहा कि नोडल अधिकारी संबंधित विभाग के विषयों को गंभीरता से लें। जिन स्थानों पर दुर्घटनाओं में कमी आयी है, उसे केस स्टडी के रूप में विकसित करें। अच्छे कार्य की जानकारी भी संकलित करें। श्री शर्मा ने कहा कि आॅडिट रिपोर्ट के संबंध में निर्धारित प्रारूप बनाकर निर्माण एजेंसियों से जानकारी मांगी जाये। सभी एम्बुलेंस को एक सूत्र में जोड़ने की कार्यवाही की अद्यतन रिपोर्ट दी जाये।

No comments:

Post a Comment

Translate