Sunday, September 8, 2019

अंधे हत्याकाण्ड का खुलासा, प्रेमी ने ही किया था सहपाठी छात्रा की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

अंधे हत्याकाण्ड का खुलासा, प्रेमी ने ही किया था सहपाठी छात्रा की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

जबलपुर/कुण्डम। गोंडवाना समय। 
जबलपुर जिले के थाना कुण्डम अन्तर्गत 5 सितंबर 2019 को ग्राम बीजापुरी के जंगल मे पोल्ट्री फार्म के पीछे नाले के पास एक युवती का शव पड़े होने की सूचना पर पहुंची पुलिस को बीजापुरी के जंगल मे पोल्ट्रीफार्म के पीछे नाले के पास एक युवती मृत पड़ी थी । आसपास लोगो की भीड़ लगी हुई थी, ग्राम कुटरागोंदी थाना खमरिया निवासी निरपत ंिसह धुर्वे ने मृतिका की पहचान अपनी बेटी कु. पिंकी धुर्वे, उम्र 18 वर्ष निवासी ग्राम कुटरागोंदी के रूप में किया एवं बताया कि उसकी बेटी पिंकी धुर्वे ग्राम पड़रिया स्थित अर्जुन स्कूल में कक्षा 12 वीं में पढ़ती थी और वह 3 सितंबर 2019 को सुबह 9 बजे गॉव से ग्राम पड़रिया अर्जुन स्कूल पढ़ने गयी थी। जिसके घर वापस न लौटने पर स्कूल में जाकर पता करने के बाद आसपास के जंगल में तलाश कर रहे थे तो 5 सितंबर 2019 को बीजापुरी जंगल में पोल्ट्रीफार्म के पीछे नाले के किनारे बेटी कु. पिंकी का शव पड़ा दिखा, पास ही स्कूल बैग पड़ा हुआ था।

धारा 302, 201 भादवि का अपराध ंपजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया                     

घटित हुई घटना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया, सूचना पर पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह (भा.पु.से.) अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ राय सिंह नरवरिया, उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री मलखान सिंह, थाना प्रभारी खमरिया एवं एफ.एस.एल. टीम मौके पर पहुंचे, घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण करते हुये पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये मर्ग कायम कर जांच में लिया गया। इस दौरान पी.एम. के मृतिका के सिर में किसी ठोस वस्तु से गम्भीर चोट आने से मृत्यु होना पाया जाने पर पिता निरपत सिंह धुर्वे की रिपोर्ट पर अज्ञात आरोपी के द्वारा सिर मे किसी ठोस वस्तु से हमला कर चोट पंहुचाकर हत्या करना एवं शव को छिपाना पाया जाने पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध 5 सितंबर 2019 को धारा 302, 201 भादवि का अपराध ंपजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।

अज्ञात आरोपी के पतासाजी के पुलिस अधीक्षक ने दिये थे निर्देश 

पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह (भा.पु.से.) द्वारा अज्ञात आरोपी की पतासाजी के सम्बंध मे आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये तथा, आरोपी की अविलम्ब गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया। आदेश के परिपालन मे अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ. राय सिंह नरवरिया,  अति. पुलिस अधीक्षक अपराध श्री शिवेश सिंह बघेल, उ.पु.अ. मुख्यालय श्री मलखान सिंह के मार्ग निर्देशन में थाना प्रभारी कुण्डम श्री प्रताप मरकाम के नेतृत्व में टीम गठित की गयी। घटना स्थल के निरीक्षण पर मृतिका पिंकी धुर्वे का स्कूल बैग व्यवस्थित रखा हुआ था, सिर की चोट के अलावा शरीर में कहीं चोट के निशान नहीं थे, परिस्थितिजन्य साक्ष्य के आधार पर पाया गया कि मृतिका स्कूल से गॉव के लिये लिये जाने वाले पगडंडी के रास्ते जंगल में घटना स्थल तक पहुंचने के दौरान संघर्ष के कोई निशानात उसके शरीर पर नहीं पाये गये एवं पैर में  सेंडिल पहनी हुई थी तथा उसका स्कूली बैग बगल में ही रखा हुआ था, अर्थात मृतिका पगडंडी वाले रास्ते से जंगल मे घटना स्थल तक अपने किसी परिचित के साथ ही सहमति से ही जा सकती थी ।                     

आवेश आकर पटका तो गंभीर चोट आने से हो गई मृत्यू

घटना स्थल की परिस्थितियों एवं मिले साक्ष्य के आधार पर मृतिका पिंकी के परिजनों एवं सहेलियों तथा कक्षा के सहपाठियो से काफी बारीकी से पूछताछ करने पर पाया गया कि ग्राम हिनोता निवासी रमन सिंह सैयाम जो कि कक्षा 12 वीं में मृतिका पिंकी के साथ में ही पढ़ता था, उससे प्रेम प्रसंग थे, यह जानकारी लगते ही ग्राम हिनौता निवासी रमन सिंह सैयाम को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा में लेते हुये सघन पूछताछ की गयी, तो रमन सिंह ने साथ मे पढ़ने वाली कु. पिंकी धुर्वे से प्रेम सम्बंध होना स्वीकार करते हुये बताया कि 3 सितंबर 2019 को पिंकी धुर्वे को उसने बीजापुरी के जंगल में पोल्ट्रीफार्म के पीछे नाले के किनारे मिलने के लिये बुलाया था। दोपहर लगभग  2.30 बजे स्कूल से निकलकर दोनो बीजापुरी के जंगल मे पोल्ट्रीफार्म के पीछे नाले किनारे पहुंचे, जहॉ कुछ देर बैठकर बात की, बातचीत के दौरान उसने पिंकी धुर्वे को किस करना चाहा था तो पिंकी ने किस करने से उसे रोका, आवेश मे आकर उसने पिंकी धुर्वे को पटक दिया। जिससे पिंकी धुर्वे का सिर पत्थर से टकरा गया सिर में पीछे तरफ गम्भीर चोट आने से पिंकी की कुछ ही देर बाद मृत्यु हो गयी, तो वह घबरा गया एवं आसपास लगे बीजा पेड़ के पत्तों को तोड़कर, पत्तों से पिंकी के शव को ढ़क कर भागकर सीधे अपने घर पहुंचा  तथा अपने दोस्तों के सम्पर्क मे लगातार बना रहा एवं मृतिका पिंकी के सम्बंध में दोस्तों से पूछताछ करता रहा। आरोपी रमन सिंह सैयाम की निशादेही पर रमन सिंह का मोबाईल जिससे लगातार मृतिका से बातचीत एवं एसएमएस करता था तथा घटना स्थल से भौतिक साक्ष्य जप्त करते हुये आरोपी रमन पिता रज्जू सिंह सैयाम उम्र 19 वर्ष निवासी ग्राम हिनोता थाना खमरिया की प्रकरण में विधिवत गिरफ्तारी की गयी।

हत्याकाण्ड का खुलासा करने में इनकी रही उल्लेखनीय भूमिका

आरोपी को गिरफ्तार करने थाना प्रभारी कुण्डम श्री प्रताप मरकाम, उप निरीक्षक एम.पी. श्रीवास्तव, श्रीचंद मरावी, शैलेन्द्र दायमा, पीएसआई अमित शर्मा, दीपक मण्लोई, राजकुमार यादव, प्रकाश दत्त रूप सिंह वरिष्ठ आरक्षक जागेशवर, आरक्षक जयप्रकाश, धरमवीर महिला आरक्षक गरिमा सिह, स्तुति पाण्डेय, तथा  सायबर सेल के उ.नि. नीरज सिंह नेगी, आरक्षक आदित्य परस्ते दुर्गेश दुबे, अभिषेक मिश्रा तथा क्राईम ब्रांच के प्रधान आरक्षक मृदुलेश शर्मा, आरक्षक राजेश पाण्डे, प्रेम विश्वकर्मा, रवि सागर पाण्डे, अनूप सिंह, अखिलेश यादव की सराहनीय भूमिका रही।  पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह ने टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा किया।

No comments:

Post a Comment

Translate