Friday, October 11, 2019

कमल नाथ सरकार में कांग्रेसी कर रहे आदिवासियों का अपमान, बढ़ रहा आक्रोश कार्यवाही को लेकर सौंपा ज्ञापन

कमल नाथ सरकार में कांग्रेसी कर रहे आदिवासियों का अपमान, बढ़ रहा आक्रोश कार्यवाही को लेकर सौंपा ज्ञापन

युवक कांग्रेस अध्यक्ष के शहीद आदिवासी दिवस पर आदिवासी अधिकारी को अपमान करने पर गर्माया मामला

सिवनी। गोंडवाना समय।
आजादी की लड़ाई में अंग्रेजों की बंदुकों के सामने हंसिया से संघर्ष करने वाले आदिवासी समाज के लोग 9 अक्टूबर वर्ष 1930 को शहीद हो गये थे उसी की याद में प्रितवर्ष शहीद मेला एवं शहीद आदिवासी सम्मान समारोह कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। बीते दिनों 9 अक्टूबर 2019 को हुये शहीद आदिवासी सम्मान समारोह में सिवनी जिले के प्रभारी मंत्री सुखदेव पांसे व आदिम जाति कल्याण मंत्री श्री ओमकार मरकाम भी सहित क्षेत्रिय विधायक अर्जुन सिंह काकोड़िया व कांग्रेस के नेतागण मौजूद थे ।
           जहां पर दोनो मंत्री व सभी वक्तागणों ने आदिवासी समाज के सम्मान में और उनके इतिहास में योगदान की बखान किया था वहीं मध्य प्रदेश में कांग्रेस व कमल नाथ सरकार जंगल में ही नहीं शहर में रहने वाले आदिवासियों के सम्मान का ख्याल रख रही है लेकिन उसी मंच पर युवा कांग्रेस अध्यक्ष आनंद पंजवानी के द्वारा जिस तरह से आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त श्री एस एस मरकाम के साथ डीजल पंप के बिल भुगतान को लेकर बबाल मचाया और अभद्र व अमर्यादित भाषा का उपयोग किया और सार्वजनिक रूप से आदिवासी अधिकारी का ही नहीं आदिवासी समाज का भी अपमान किया है उक्त बाते युवक कांग्रेस अध्यक्ष आनंद पंजवानी को कार्यवाही किये जाने को लेकर शुक्रवार को सौंपे गये विभिन्न संगठनों के द्वारा ज्ञापन में उल्लेख किया गया है वहीं इस मामले को लेकर कमल नाथ सरकार के साथ कांग्रेस पार्टी के प्रति आदिवासी समाज में नाराजगी एवं आक्रोश व्याप्त है।

आदिवासी समाज को पहुंची वेदना और समाज इसके लिए है व्यथित 

बिरसा बिग्रेड आदिवासी बचाव आंदोलन, जीएसयू सहित अन्य समाजिक संगठनों के पदाधिकारियों के द्वारा उक्त मामले पर मुख्यमंत्री कमल नाथ के नाम ज्ञापन शुक्रवार को सौंपा गया है जिसमें उन्होंने आदिवासी शहीद सम्मान मेला कार्यक्रम ग्राम टुरिया में आदिवासी अधिकारी का सार्वजनिक रूप से अभद्रता, अशिष्टता व अपमान व धमकी दिये जाने के संबंध में कार्यवाही की मांग किया है । उन्होंने अपने ज्ञापन में उल्लेख किया है कि मुख्यमंत्री की घोषणा क्र. ए- 1362 ग्राम टुरिया तहसील कुरई जिला सिवनी में शहीद मेला का आयोजन के तहत टुरिया स्मारक स्थल पर प्रतिवर्षानुसार 09 अक्टूबर को आदिवासी शहीद मेला का आयोजन किया जाता है। इसी तारतम्य में ग्राम टुरिया वि. ख. कुरई में शहीद स्थल पर 09 अक्टूबर 2019 को जिला प्रशासन द्वारा शहीद मेले का आयोजन किया गया।
            कार्यक्रम में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री म. प्र. शासन व प्रभारी मंत्री जिला सिवनी तथा आदिम जाति कल्याण मंत्री म. प्र. शासन के मुख्य अतिथ्य तथा स्थानीय विधायक की अध्यक्षता में तथा अन्य जनप्रतिनियों तथा आप श्रीमान की उपस्थिति में शहीद मेला कार्यक्रम सम्पन्न कराया जा रहा था। आदिम जाति कल्याण विभाग के अधिकारी कर्मचारीगण कार्यक्रम के सफल आयोजन की सुचारू रूप से सफल बनाने में लगे हुये थे कि मंच पर एक जनप्रतिनिधि युवा कांग्रेस अध्यक्ष आनंद पंजवानी ने सहायक आयुक्त श्री सतेन्द्र मरकाम से अभद्रता एवं अशिष्टता से पेश होते हुए उन्हें धमकी दी गई कि आपको देख लेगें तथा व्यक्तिगत रूप से गाली गलौच भी की गई।
         बिरसा बिग्रेड द्वारा सौंपे गये ज्ञापन में उन्होंने यह उल्लेख किया है कि आनंद पंजवानी ने सहायक आयुक्त को ही नहीं उन्होने हमारे आदिवासी समाज के साथ दुर्भावना, अभद्रता, अशिष्टतापूर्वक व अपमान किया गया, जिससे हमारे आदिवासी समाज को वेदना पहुंची है और हमारा समाज इसके लिए व्यथित है। आगे बिरसा बिग्रेड द्वारा यह भी उल्लेख किया है कि हमें यह भी अंदेशा है कि भविष्य में हमारे आदिवासी समाज के अधिकारीगण, कर्मचारीगण के साथ षडयंत्र रचा जा सकता है। इस तरह की पुनर्रावृत्ति समाज के अधिकारीगण,  कर्मचारीगण के साथ की जा सकती है। उक्त कृत्य को लेकर बिरसा बिग्रेड द्वारा निवेदन किया गया है कि उक्त अमर्यादित कृत्य के लिए एट्रोसिटी एक्ट की धारा 3 [1] सह पठित धारा 5 के तहत आवश्यक कार्यवाही की जावे।

डीजल पंप के बिल भुगतान कराने बना रहे थे सहायक आयुक्त पर दबाव

वहीं युवक कांग्रेस अध्यक्ष आनंद पंजवानी के द्वारा आदिवासी अधिकारी एस एस मरकाम के साथ की गई अभद्रता को लेकर जय जंगो दाई संघर्ष समिति की महिलाओं ने सड़क पर उतरकर विरोध जताया एवं मध्य प्रदेश सरकार के संरक्षण कांग्रेस नेताओं के द्वारा आदिवासी समाज के साथ किये जा रहे अपमानजनक कृत्य को लेकर मध्य प्रदेश सरकार के खिलाफ में विरोध व आक्रोश जताते हुये नारेबाजी भी किया वहीं इस मामले में पुलिस अधीक्षक, एसडीएम व अजाक थाना पहुंचकर कानूनी कार्यवाही की मांग किया है।
       
         इस माम वहीं उन्होंने यह भी उल्लेख किया है कि सरकार, सत्ता का दुरूपयोग कांग्रेस पदाधिकारियों के द्वारा किया जा रहा है वहीं अधिकारियों पर दबाव की राजनीति की जाकर मानसिक रूप से विभागीय अधिकारियों को प्रताड़ित कर अवैधानिक कार्यों को करवाने का प्रयास किया जा रहा है। आदिवासी अधिकारी व आदिवासी समाज के अपमान के मामले में उन्होंने कार्यवाही किये जाने की मांग किया है और इस संबंध में पुलिस अधीक्षक श्री प्रतीक कुमार को आवेदन दिया है।
जय जंगो दाई संघर्ष समिति द्वारा दिये गये आवेदन में उन्होंने उल्लेख किया है कि शहीद आदिवासी सम्मान समारोह के दौरान युवा कांग्रेस अध्यक्ष आनंद पंजवानी के द्वारा आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त एस एस मरकाम पर कुरई ब्लॉक में डीजल पंप सप्लाई किये जाने के बिल भुगतान को लेकर दबाव बनाया जा रहा था और इसी को लेकर 9 अक्टूबर को शहीद सम्मान कार्यक्रम के मंच पर सहायक आयुक्त के साथ मर्यादित व अशोभनीय भाषा का उपयोग कर सहायक आयुक्त एस एस मरकाम के साथ साथ आदिवासी समाज का सार्वजनिक रूप से अपमान किया गया है।

मैं आदिवासी समाज एवं उनके मंच का करता हूं सम्मान-आनंद पंजवानी

सहायक आयुक्त के साथ न किया अभद्र व्यवहार न ही अपमानित 

जिला युवक कांग्रेस अध्यक्ष श्री आनंद पंजवानी द्वारा प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुये बताया कि मुझे समाचार पत्रों एवं अन्य स्त्रोत के माध्यम से ज्ञात हुआ कि मेरे  विरूद्ध षडयंत्र पूर्वक तरीके से गलत एवं भ्रामक जानकारी प्रचारित करते हुये कुछ लोगों द्वारा फैलाया जा रहा है कि दिनांक 9 अक्टूबर 2019 को ग्राम टुरिया में आयोजित आदिवासी शहीदो के सम्मान समारोह के कार्यक्रम में, मैंने सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग, श्री सतेन्द्र मरकाम के साथ अभद्र व्यवहार किया गया, जो कि निराधार एवं असत्य है। मेरे द्वारा सहायक आयुक्त के साथ किसी भी प्रकार की अभद्रता नही की गई है।
विगत 2 दिन पूर्व मैं अपने वरिष्ठ कांग्रेस जनों एवं युवक कांग्रेस साथियों के साथ आदिवासी शहीदों के सम्मान समारोह में पंहुचा था। जहां पर नेता गणो के साथ आदिवासी कल्याण विभाग के सहायक आयुक्त श्री मरकाम भी मौजूद थे, श्री मरकाम से मेरे द्वारा पूर्व में भी विभिन्न समस्याओं एवं सुझाावों को लेकर समय समय पर चर्चा होती रहती है। कुछ दिन पूर्व मेरे पास आदिम जाति कल्याण विभाग में कार्यरत कर्मचारी आदिवासी बहन अपनी समस्या लेकर पंहुची एवं जिला युवक कांग्रेस के नाम लिखित आवेदन कर मदद की गुहार लगाई थी एवं समस्या से संबंधित दस्तावेज मुझे सौंपे थे, जिसका अध्ययन कर मैंने जिला कलेक्टर को उक्त आदिवासी बहन की समस्या के निराकरण के लिये पत्र लिखा था एवं इसी संदर्भ में मेरे द्वारा 9 अक्टूबर को टुरिया में आयोजित आदिवासी सम्मान समारोह के दौरान मेरी चर्चा सहायक आयुक्त श्री मरकाम से हुई थी। जिसमें उस महिला की समस्या को लेकर जो जानकारी सहायक आयुक्त श्री मरकाम द्वारा चर्चा के दौरान दी गई थी वह सही नहीं थी लेकिन मेरे द्वारा उनके प्रति किसी भी प्रकार से अपमानित नही किया गया।
मैं आदिवासी समाज एवं उनके मंच का सम्मान करता हॅू, मेरे युवक कांग्रेस के संगठन में मेरे आदिवासी भाई, बहन कंधे से कंधा मिलाकर संगठन के लिये लगातार कार्य करते आ रहे है एवं मेरे युवक कांग्रेस के संगठन में हमेशा से ही हमारे आदिवासी भाई एवं बहन सम्मानित पदो पर है। मेरी समस्त आदिवासी भाई बहनो एवं संगठनों से मार्मिक अपील है कि वह इस प्रकार की किसी भी भ्रामक एवं गलत अफवाहों पर ध्यान न देते हुये सत्य को जाने, और सत्य यह है कि आदिवासी समाज एवं उनके मंच का सम्मान हृदय से करता हॅू और उनके अधिकारों और उनके सम्मान की लड़ाई में जीवन पर्यन्त साथ रहंूगा।

No comments:

Post a Comment

Translate