Monday, October 21, 2019

सर्वाधिक फांसी की सजा कराकर मध्य प्रदेश बना टॉपर

सर्वाधिक फांसी की सजा कराकर मध्य प्रदेश बना टॉपर 

मध्‍यप्रदेश के अभियोजन अधिकारीयो की कार्यशाला हुई सम्‍पन्‍न 

भोपाल। गोंडवाना समय। 
वरिष्‍ठ आई0पी0एस0 पुलिस महानिदेशक/संचालक श्रीमान पुरूषोत्‍तम शर्मा नवनियुक्‍त संचालक, मध्‍यप्रदेश अभियोजन भोपाल के द्वारा प्रदेश के समस्त उपसंचालक एवं जिला अभियोजन अधिकारी की कार्यशाला बीते दिनों 19 अक्टूबर 2019 को आयोजित की गई उक्त संबंध में जानकारी देते हुये मीडिया प्रभारी श्री मनोज सैयाम द्वारा बताया गया कि संचालक महोदय द्वारा गंभीर एवं चिन्हित प्रकरण में आरोपियो को त्‍वरित दोष सिद्धि कराये जाने एवं अप‍राधियों को उनके अपराध के लिये पूरे देश में सबसे अधिक फांसी की सजा कराये जाने की उपलब्धि प्राप्‍त करने पर प्रदेश तथा विभाग का नाम राष्‍ट्रीय एवं अन्तराष्‍ट्रीय स्‍तर पर गौवरवांतित करने पर समस्‍त अभियोजन अधिकारी को बधाई देकर इस उत्‍कृष्‍ट कार्य की प्रशंसा की है।

जिला न्यायालयों में साक्षी सहायता केंद्र की हुई घोषणा

अभियोन संचालन में होने वाली परिशानियों को दूर करने की कार्य योजना की रूप रेखा बनाई गई। जिसके आधार पर प्रदेश के न्‍यायालयों में अपराधियों को अधिक से अधिक दंड से दंडित कराया जा सके। जिसके लिए अभियोजन अधिकारियो की न्‍यायालय में पर्याप्‍त संख्‍या, वेतन विसंगति, समय मान वेतन, अभियोजन अधिकारियो की सुरक्षा तथा स्वयं का अभियोजन कार्यालय आदि विषय पर चर्चा की गई। अभियोजन अधिकारियों की कार्यकुशलता और दक्षता में वृद्धि करने हेतु समय-समय पर महत्‍वपूर्ण विषयों पर कार्यशाला/प्रशिक्षण आयोजित किये जाने हेतु आदेश जारी किये गये एवं प्रदेश के समस्‍त जिला न्‍यायालयों पर साक्षी सहायता केन्‍द्र आरम्‍भ करने की घोषणा की गई। जिससे अभियोजन कार्य सुचारू रूप से क्रियान्‍वयन कर प्रदेश के सभी पीड़ितो को त्‍वरित और सुलभ न्‍याय प्रदान किया जा सके।
    

No comments:

Post a Comment

Translate