Friday, October 25, 2019

सिम्स बनेगा चिकित्सा के क्षेत्र में उत्कृष्टता की मिसाल-मुख्यमंत्री

सिम्स बनेगा चिकित्सा के क्षेत्र में उत्कृष्टता की मिसाल-मुख्यमंत्री 

मुख्यमंत्री ने किया मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण और आॅडिटोरियम का किया लोकार्पण

छिंदवाड़ा। गोंडवाना समय।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने शुक्रवार को छिन्दवाड़ा में छिन्दवाड़ा इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल साइंसेज (सिम्स) का निरीक्षण कर बेहतर व्यवस्थाओं तथा कैंपस सौंदर्यीकरण के दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने सिम्स में पूर्व डीन स्व. डॉ. एच.के.टी. रजा की स्मृति में बनाये गये आॅडिटोरियम का लोकार्पण किया और प्रशासकीय समिति की बैठक भी लिया। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि लगभग पाँच वर्ष पहले मैंने छिन्दवाड़ा में मेडिकल कॉलेज का सपना देखा था। यह सपना अब साकार होने जा रहा है। इस इंस्टीट्यूट को सच्चे अर्थों में स्थापित करने और आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी अब फैकल्टी और स्टाफ की है।
उन्होंने कहा कि शुरूआत से ही अनुशासित वर्क कल्चर और मानक स्तर की गुणवत्ता सुनिश्चित की जाये, जिससे इंस्टीट्यूट को उत्कृष्टता की मिसाल के रूप में प्रस्तुत किया जा सके। मुख्यमंत्री ने स्व. डॉ. रजा को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि इंस्टीट्यूट को प्रारंभ करने में उनका समर्पण भाव और उनकी सोच बहुत अहम रही है। अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने इंस्टीट्यूट को गुणवत्तापूर्ण एवं मानक स्तर तक पहुँचाने की दिशा में हर संभव प्रयास किये। हम सभी को मिलकर उनकी इस सोच और मंशा को आगे ले जाना है। श्री कमल नाथ ने डीन डॉ. रामटेके को इंस्टीट्यूट में फैकल्टी और स्टाफ के रिक्रूटमेंट में गुणवत्ता से किसी भी तरह का कोई समझौता नहीं करने के सख्त निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जब फैकल्टी का स्तर अच्छा होगा, तभी वे विद्यार्थियों को उच्च स्तर की शिक्षा दे सकेंगे। सिम्स के निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने परिसर की साफ-सफाई पर विशेष जोर दिया और कहा कि गुणवत्ता से किसी तरह का समझौता न किया जाए।

मुख्यमंत्री ने ली प्रशासकीय समिति की बैठक

मुख्यमंत्री ने सिम्स के अंतर्गत मेडिकल कॉलेज अस्पताल की प्रशासकीय समिति की बैठक भी ली। उन्होंने इंस्टीट्यूट में अध्ययनरत विद्यार्थियों, सहायक प्राध्यापकों, प्राध्यापकों और रिक्त पदों, नवीन उपकरणों,
आईसीसीयू एवं अन्य सुविधाओं की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि चिकित्सा महाविद्यालय के परिसर का सौंदर्यीकरण किया जाये। मेडिकल कॉलेज एवं जिला अस्पताल में स्वच्छता पर विशेष ध्यान
दिया जाये। मरीजों को मानक स्तर की उपचार सुविधाएँ दी जाएँ। मेडिकल कॉलेज कैंपस एवं जिला अस्पताल के लिये हॉर्टिकल्चर प्लान तैयार किया जाए। उन्होंने जिला अस्पताल के लिये स्वीकृत कार्य शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश दिये। इस दौरान विधायक श्री निलेश उईके और श्री सुनील उईके, पूर्व विधायक श्री दीपक सक्सेना, राज्य बार कौंसिल के पूर्व अध्यक्ष श्री गंगा प्रसाद तिवारी, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्री विश्वनाथ ओक्टे, पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री अमित सक्सेना, डीन डॉ. गिरीश बी. रामटेके सहित सिम्स का स्टाफ एवं संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

छिन्दवाड़ा रेलवे स्टेशन को मॉडल स्टेशन के रूप में विकसित करें

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने छिन्दवाड़ा रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया और वहाँ जन-सुविधाओं के विस्तार के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने प्लेटफार्म नम्बर चार का चौड़ीकरण करने और चारफाटक गेट की समस्या का समाधान करने को कहा। उन्होंने पातालकोट एक्सप्रेस को अमृतसर तक चलाये जाने की कार्य-योजना बनाने और ट्रेन के मेन्टेनेंस के लिये 2 से ढाई घंटे तक का समय छिन्दवाड़ा स्टेशन में समायोजित करने के निर्देश दिये।
श्री कमल नाथ ने स्टेशन मास्टर से कहा कि जनसुविधा और स्वच्छता के लिये छिन्दवाड़ा रेलवे स्टेशन को मॉडल स्टेशन के रूप में विकसित करें। रेलवे व्यापारी मण्डल ने मुख्यमंत्री का आत्मीय स्वागत किया।
व्यापारियों ने मुख्यमंत्री को लड्डू और मिठाई से तौलकर अपनी आत्मीयता का परिचय दिया। मुख्यमंत्री ने सभी को दीपावली की बधाई दी। इस अवसर पर पूर्व विधायक श्री दीपक सक्सेना, रेलवे के सीनियर डीईएम तथा बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित थे।

मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थियों ने ली मुख्यमंत्री के साथ सेल्फी

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ शुक्रवार को छिन्दवाड़ा में इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल साइंसेस (सिम्स) का निरीक्षण करने पहुँचे। मुख्यमंत्री को अपने बीच पाकर इंस्टीट्यूट में एमबीबीएस कोर्स के प्रथम बैच के विद्यार्थियों में काफी उत्साह देखने को मिला। विद्यार्थियों ने मुख्यमंत्री के साथ मोबाइल फोन पर सेल्फी ली। मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों से चर्चा कर कक्षाओं के संचालन के संबंध में जानकारी ली और उन्हें उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएँ दीं।

No comments:

Post a Comment

Translate