Thursday, January 2, 2020

पूणे में 5 जनवरी को होगा गोंडी संस्कृति पर आधारित दसवां स्नेह सम्मेलन

पूणे में 5 जनवरी को होगा गोंडी संस्कृति पर आधारित दसवां स्नेह सम्मेलन

आदिवासी गोंड समाज व वीरांगना रानी दुर्गावती महिला मंडल के तत्वाधान में होगा आयोजन 

पूणे। गोंडवाना समय। 
प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी महाराष्ट्र के पूणे में आयोजित होने वाले आदिवासी गोंड समाज मंडल पूणे व वीरांगना रानी दुर्गावती महिला मंडल पूणे द्वारा संयुक्त रूप से दसवां दशकपूर्ति 10 वां स्नेह सम्मेलन रविवार 5 जनवरी 2020 को प्राता: 9 बजे से शाम 7 बजे तक सावित्री बाई फूले सभागृह टिंबर मार्केट, भवानी पेठ पूणे में भव्य रूप में होगा।
इस अवसर पर मध्य प्रदेश, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ़ सहित महाराष्ट्र के विभिन्न जिलों से समाजिक सगाजन तथा विद्यार्थियों को आमंत्रित किया गया है। सामाजिक बंधुओं के साथ मिलकर समाज को उन्नति-प्रगति, शिक्षा की दिशा में ले जाने का प्रयास किया जायेगा।
आयोजन में इस वर्ष खास विशेषताओं को ध्यान में रखते हुये दशकपूर्ति मनाया जायेगा। राजे रावण को स्मारिका के मुख्य पृष्ठ में स्थान दिया जायेगा वहीं उनकी जो बुराई की छबी समाज में दिखाई देती है उसको मिटाने का और अच्छाई को सामने लाने का जैसे की दस मुख को हटाके दस विद्या का संक्षिप्त स्वरूप से विवरण किया जायेगा।

कार्यक्रम की ये होंगी मुख्य विशेषतांए

पूणे में आयोजित कार्यक्रम में गोंडी संस्कृति पर आधारित चित्रकला व रंगोली स्पर्धा का आयोजन होगा, गोंडियन स्वागत गीत व गोंडियन समूह नृत्य का आयोजन होगा, आदिवासी क्रांतिकारी परिवेश में आधारित प्रतियोगिता बच्चो के लिये आयोजित की जावेगी। विद्यार्थियों की उपलब्धी पर विशेष सत्कार सम्मान कार्यक्रम होंगे। सांस्कृतिक व वैचारिक संदेशयुक्त प्रबोधन होंगे। स्पर्धा परीक्षा एवं शैक्षणिक मार्गदर्शन बुद्धिजीवियों व अनुभवी सगाजनों के द्वारा दी जावेगी।  स्मारिका का प्रकाशन होगा, वर-वधु परिचय होगा, मातृशक्तियों का आयोजन, नियोजन व सूत्रसंचालन होगा, सांस्कृतिक संगीत व वाद्य यंत्र का वादन होगा। 

कार्यक्रम अध्यक्ष माधव जी मड़ावी व उद्घाटक डॉ सूर्या बाली होंगे

पूणे में आयोजित दसवां दशकपूर्ति स्नेह सम्मेलन कार्यक्रम के अध्यक्ष के रूप में तिरूमाल माधव जी मड़ावी होंगे जो कि आदिवासी गोंड समाज मंडल के अध्यक्ष भी है, इनके द्वारा बीते दस वर्षों से उन्होंने अपने परिवार की तरह मंडल के प्रत्येक कार्यों को संभालते रहे है। उनका इस मंडल को प्रगति की दिशा में ले जाने में विशेष सहयोग माना जाता है। 
वहीं इस कार्यक्रम के उद्घाटक के रूप में तिरूमाल डॉ सूर्या बाली, सूरज धुर्वे अध्यापक एम्स भोपाल से होंगे। जो कि भारत में ही नहीं विदेशों में समाज की संस्कृति विशेषताओं, गोंडियन संस्कृति, कोयापुनेम के महत्व का प्रचार-प्रसार कर रहे है। सोशल मीडिया हो या अन्य मीडिया संस्थान में वे गोंडियन चिंतनकार के रूप में अपनी अलग ही छबि बनाये हुये है। उनके द्वारा कोयापुनेम, संवैधानिक तथा जनजातिय विषयों पर मार्गदर्शन दिया जायेगा। 

मुख्य वक्ता के रूप में मातृशक्ति जागृति कुमरे भी रहेंगी मौजूद 

दसवां दशकपूर्ति स्नेह सम्मेलन पूणे में आयोजित कार्यक्रम में वहीं मुख्य वक्ता के रूप में मातृशक्ति जागृति कुमरे भी मौजूद रहेंगी। वे प्रकल्प अधिकारी का कार्यभार महाराष्ट्र के सोलापुर जिले में संभाल रही है। इसके पहले वे अमरावती, औरंगाबाद में पदस्थ रही है। इसके साथ ही बोगस जाति प्रमाण को लेकर उन्होंने संघर्ष किया है। 

पूणे को माना जाता है शिक्षा का मायका 

पूणे को शिक्षा का मायका माना जाता है इसको ध्यान में रखते हुये विशेष अतिथि के यप में तिरूमाल सूरज खुडे सर को विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है हाल ही में उन्होंने यूपीएसी की स्पर्धा परीक्षा पास करके अस्सिटेंट कमांडट सीएसीपी सेन्ट्रल पोलिस का कार्यभार संभाल रहे है। विद्यार्थियों के लिये उकना परिश्रम अनुभव व अध्ययन करने का तरीका मार्गदर्शन के रूप में दिया जायेगा। 

आयोजन को सफल बनाने के लिये सभी कर रहे प्रयास 

इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये आदिवासी गोंड समाज मंडल के संयुक्त सभासद तथा वीरागंना रानी दुर्गावती महिला मंडल की मातृशक्तियां एवं समाज के नवयुवकों में अत्याधिक उत्साह व्याप्त है सभी कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये मेहनत कर रहे है। कार्यक्रम से संबंधित अधिकारी जानकारी के लिये अजय आत्राम जी के मोबाईल नंबर 7218394959 और नामदेव उईके जी के मोबाईल नंबर 9921718815 पर संपर्क कर सकते है।

No comments:

Post a Comment

Translate