Wednesday, March 25, 2020

कोरोना वायरस के मध्य प्रदेश में 15 पॉजिटिव प्रकरण दर्ज

कोरोना वायरस के मध्य प्रदेश में 15 पॉजिटिव प्रकरण दर्ज 

भोपाल। गोंडवाना समय।
संचालनालय स्वास्थ्य सेवायें राज्य सर्विलेंस ईकाई भोपाल मध्य प्रदेश द्वारा नोबल कोराना वायरस को लेकर डॉ वीणा सिंह अपर संचालक संचालनालय स्वास्थ्य सेवायें मध्य प्रदेश द्वारा मीडिया बुलेटिन दिनांक 25 मार्च 2020 को जारी किय गया है। जिसमें बताया गया है कि वर्तमान में नोबल कोराना वायरस बीमारी के प्रकरण विश्व के 195 देशों में दर्ज किये गये है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार 25 मार्च 2020 को पूरे विश्व में 3,72,575 प्रकरण दर्ज किये गये है। जिसमें से 16,231 की मृत्यू हुई है।
भारत में भी अब तक 553 नोबल कोरोना वायरस बीमारी के प्रकरण एवं 10 मृत्यू दर्ज की गई है। यह एक चिंताजनक विषय है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इसे अंरताष्ट्रीय महत्व का पब्ल्कि हेल्थ इमरजेंसी घोषित किया गया है। इस बीमारी से निपटने के लिये राज्य शासन ने निगरानी तथा नियंत्रण उपायों को सुदृढ़ किया है। वहीं 25 मार्च 2020 को नोबल कोराना वायरस से प्रभावित देशों से आने वाले 1422 यात्रियों की पहचान की जा चुकी है। इनमें से 890 यात्री अपने घरों में आईसोलेशन में रखे गये है तथा 435 यात्रियों का सर्विलेंस पूरा हो चुका है।

178 निगेटिव, 36 की रिपोर्ट आना शेष तथा 6 सेपंल हुये रिजेक्ट

वहीं 178 संभावित प्रकरणों के सेंपल जांच हेतु एनआईव्ही पुणे, इंदिरा गांधी शासकीय मेडिकल कॉलेज नागपुर, एम्स भोपाल एवं एन.आई.आर.टी.एच जबलपुर भेजे गये थे उनमें से 15 पॉजिटिव (इंदौर-4, जबलपुर-6, भोपाल-2, शिवपुरी-1, उज्जैन-1 तथा ग्वालियर-1) एवं 1 मृत्यू (उज्जैन), 178 निगेटिव तथा 36 की रिपोर्ट आना शेष है तथा 6 सेंपल रिजेक्ट हुये है।

12,576 यात्रियों की की जा चुकी है स्क्रीनिंग 

इंदौर, भोपाल, जबलपुर, छतरपुर व ग्वालियर एयरपोर्ट पर प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। वहीं 25 मार्च 2020 तक 12,576 यात्रियों की इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, छतरपुर एवं जबलपुर एयरपोर्ट में स्क्रीनिंग की जा चुकी है।

सीएमएचओ को जारी किये गये है दिशा निर्देश 

समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को नोबल कोरोना वायरस बीमारी के संबंध में भारत सरकार की ट्रेबल एडवाईजरी, पब्लिक हेल्थ एक्ट की अधिसूचना तथा सामुहिक समारोहों के आयोजनों के दिशा निर्देश जारी किये गये है। प्रचार प्रसार के माध्यम से जनसामान्य को श्वसन शिष्टाचार का उपयोग करे, बार-बार अपने हाथ धोंवे, खॉंसी/छींकते समय अपनी नाक और मुंह को टिशु पेपर/रूमाल या कोहनी से ढंके। हाथ मिलाकर अभिवादन न करें बल्कि नमस्ते/आदाब करें। अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने तथा लक्षण न होने पर 28 दिनों तक होम आईसोलेशन में रहने हेतु निर्देशित किया है।

कॉल सेंटर 104 स्थापित 

राज्य सर्विलेंस इकाई नय दिशा-निर्देश एवं परामर्श के लिये सेंट्रल सर्विलेंस ईकाई दिल्ली के संपर्क में है। नोबल कोरोना वायरस बीमारी की जानकारी व मार्गदर्शन हेतु राज्य स्तर पर कॉल सेंटर 104 स्थापित किया गया है। वहीं 25 मार्च 2020 की स्थिति में 5280 कॉल प्राप्त हो चुके है। प्रभावित देशों से आने वाले नय संभावित प्रकरणों को निरंतर दर्ज कर सर्विलेंस एवं आईसोलेशन में रखा जा रहा है। 

No comments:

Post a Comment

Translate