Sunday, March 29, 2020

लॉकआउट का कहानी क्षेत्र में पालन करा रही पुलिस

लॉकआउट का कहानी क्षेत्र में पालन करा रही पुलिस 
कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर ग्रामीणों को दे संदेश 

प्रभु सल्लाम संवाददाता कहानी 
कहानी। गोंडवाना समय। 
विकासखंड घंसौर थाना के विभिन्न क्षेत्रों में लॉक आउट का खास असर देखने को मिल रहा है। वहीं घंसौर थाना प्रभारी श्री रमन सिंह मरकाम व पुलिस थाना घंसौर का स्टाप के द्वारा मुस्तैदी से कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर जनजागरूकता के साथ जनता को संदेश भी दे रहे है साथ में लॉकआऊट क्षेत्र का जायजा लेने गांव-गांव पहुंच रहे है। कहानी क्षेत्र में पुलिस बल गश्ती करते हुए लोगों को कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए की निर्धारित अवधि लॉकआऊट के तहत घरों में रहने के लिए कहा जा रहा है वहीं जो लोग बेवजह घर से निकल रहे हैं। पुलिस उन्हें समझाईश देकर घर पर ही रहने की सलाह दे रही है। वहीं यह भी देखा जा रहा है कि पुलिस द्वारा लगातार दिए जा रहे निदेर्शों का पालन कर ग्रामीणजन घरों में ही रहकर पूरे परिवार के बीच समय गुजार रहे हैं और क्षेत्र के सभी नागरिकों ने लॉक आउट का को लेकर प्रशासन को साथ दे रहे है । घंसौर पुलिस स्टाफ लगातार कहानी क्षेत्र और ग्रामीण क्षेत्र में दस्तक दे रही है लोगों को समझाइश कर घर में रहने को कह रहे हैं। इस दौरान थाना प्रभारी श्री रमन सिंह मरकाम, आरक्षक रजनीकांत दुबे, राजू बोरकर, तरुण ककोडिया, तुलाराम उईके, मनोज कुमार पारधी शामिल है। 

तो कुछ कर्मचारी दिखा रहे का वर्दी का रूतबा

जहां एक और घंसौर पुलिस थाना प्रभारी व अन्य कर्मचारी सजगता के साथ जनजागरूकता का संदेश दे रहे है तो वहीं कुछ कर्मचारी वर्दी का रूतबा दिखाते हुये ग्रामीणजनों पर अनावश्यक बिना कारण जाने ही सख्ती बरतने का काम कर रहे है। प्राप्त जानकारी के अनुसार घंसौर थाना अंतर्गत ग्राम भेड़ा के 7 मजदूर जो कि जबलपुर से अपने गांव आये थे और उनकी जांच कहानी हॉस्पिटल में 4 लोगो का हुआ था वहीं बाकी 3 लोग रह गए थे। जिन्हें भेड़ा ग्राम में पहुचने से पहले ही रास्ते मं रोककर उन्हें हॉस्पिटल जांच कराने की समझाइश दी गई और उन लोगों को अस्पताल भेज दिया गया लेकिन कुछ समय बाद कहानी पर तैनात ग्राम लालपुर के ईश्वरलाल टेकाम जो कि खाकी ड्रेस पर पहुंचे थे उन्होंने अस्पताल जाने की समझाईश देने वाले के साथ मारपीट किया। इस तरह की कार्यवाही को लेकर भी ग्रामीणजनों में कुछ कर्मचारियों को लेकर नाराजगी व्याप्त है। 

No comments:

Post a Comment

Translate