Thursday, March 19, 2020

मध्य प्रदेश को मिला सम्मान, ये हफ्ता खरीद-फरोक्त के लिये है सोने की खान

मध्य प्रदेश को मिला सम्मान, ये हफ्ता खरीद-फरोक्त के लिये है सोने की खान

फ्लोर टेस्ट जल्द से जल्द करवाया जाए और ऐसी बातों से बचा जा सके

मध्य प्रदेश में सत्ता की भूख और कुर्सी की लड़ाई के आगे जहां एक ओर कोराना की महामारी भी फैल है तो सम्माननीय सुप्रीम कोर्ट में मध्य प्रदेश को सत्ता की कुर्सी के जंग के तहत न्यायालय में सम्मान भी मिला है जिस पर सुप्रीम कोर्ट के सम्माननीय जज ने तल्ख टिप्पणी भी किया है। मध्य प्रदेश में कांग्रेस और भाजपा के बीच चल रही  कुर्सी की भूख की जंग देश की सम्माननीय सर्वोच्च न्यायालय की चौखट में चल रही है। मध्य प्रदेश में सत्ता की कुर्सी की भूख के लिये सियासी जंग पर सम्माननीय सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान यह कहा है कि ये हफ्ते खरीद-फरोख्त के लिए सोने की खान जैसे है। 

नई दिल्ली। गोंडवाना समय। 
सम्मानीय सुप्रीम कोर्ट में विधानसभा अध्यक्ष ने फैसला करने के लिए सम्माननीय सुप्रीम कोर्ट से दो सप्ताह का समय मांगा है। वरिष्ठ अधिवक्ता तथा कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि मुझे फैसला करने के लिए दो सप्ताह का समय दीजिए। वहीं सम्माननीय सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार के दिन हुई सुनवाई के दौरान मध्य प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष से पूछा कि क्या वह वीडियो लिंक के जरिये कांग्रेस के बेंगलुरू में मौजूद उन बागी विधायकों से बात कर सकते है। जिनके त्यागपत्र की वजह से मध्य प्रदेश राज्य की कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई है। विधानसभा अध्यक्ष ने विधायकों से खुद सामने आकर त्यागपत्र दिये जाने की पुष्टि करने के लिए कहा था लेकिन विधायकों ने सुरक्षा व्यवस्था की गैरमौजूदगी में ऐसा करने से इंकार कर दिया था। वहीं बगावत कर कर्नाटक पहुंचे विधायकों का आरोप है कि कांग्रेस उन्हें त्याग पत्र वापस लेने के लिए मजबूर करने की कोशिश कर रही है और इस वजह से वे भारी दबाव में हैं।

हम पर्यवेक्षक नियुक्त कर सकते है 

सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के सम्माननीय न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ ने कहा कि हम उनकी इच्छा सचमुच स्वेच्छा से व्यक्त किए जाने की स्थितियां सुनिश्चित कर सकते हैं। हम बेंगलुरू या किसी भी और स्थान पर पर्यवेक्षक नियुक्त कर सकते हैं। वे आपसे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये संपर्क कर सकते हैं और आप तब फैसला ले सकते हैं। 

दो सप्ताह का मांगा समय 

मध्य प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष ने फैसला करने के लिए सुप्रीम कोर्ट से दो सप्ताह का समय मांगा है। वरिष्ठ अधिवक्ता तथा कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, मुझे फैसला करने के लिए दो सप्ताह का समय दीजिए, बागी विधायकों को मध्य प्रदेश में अपने घरों में लौटकर आने दीजिए। वे अपने परिवारों से दूर रह रहे हैं। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का विचार मेरी चिंताओं की पुष्टि करता है। वहीं इस पर सम्माननीय न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने कहा, ये हफ्ते खरीद-फरोख्त के लिए सोने की खान सरीखे हैं। इसी वजह से कोर्ट फ्लोर टेस्ट का आदेश देने में प्रोएक्टिव रही हैं। विचार रहता है कि फ्लोर टेस्ट जल्द से जल्द करवाया जाए और ऐसी बातों से बचा जा सके।

No comments:

Post a Comment

Translate