Thursday, March 5, 2020

छात्रा से छेड़खानी, एफआईआर को लेकर पुलिस की लापरवाही से गुस्साए ग्रामीण, टीआई के बर्खास्त की रखी मांग

छात्रा से छेड़खानी, एफआईआर को लेकर पुलिस की लापरवाही से गुस्साए ग्रामीण, टीआई के बर्खास्त की रखी मांग

सागर स्कूल में शिक्षक ने की थी छेड़खानी

सिवनी। गोंडवाना समय। 
विकासखंड छपारा अंतर्गत सागर गांव के माध्यमिक शाला स्कूल की आठवी कक्षा की आदिवासी छात्रा के साथ शिक्षक द्वारा की गई छेड़खानी और एफआईआर के लिए छपारा पुलिस द्वारा की गई लेटलतीफी को लेकर ग्रामीण गुस्सा गए हैं।
बुधवार को ग्रामीणों ने गुस्सा जाहिर करते हुए छपारा थाने पहुंचकर पुलिस की आलोचना कर टीआई की बर्खास्तगी की मांग करते हुए तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा है। वहीं इसी मामले को लेकर आवाज बुलंद करते हुए समाजिक संगठन के लोग आज गुस्सा जाहिर कर प्रशासन को ज्ञापन सौंप सकते हैं।

पीड़िता और उसके परिवार को छह घंटा से ज्यादा समय तक बैठालकर रखी थी पुलिस-

शिक्षक द्वारा की गई छेड़खानी से छात्रा मानसिक एवं शारीरिक  रूप से परेशान है और होश खो बैठी है। पीड़ित छात्रा और उसके माता-पिता इस मामले को लेकर मंगलवार की दोपहर तीन बजे छपारा थाने में एफआईआर दर्ज कराने के लिए गए थे जहां छपारा पुलिस की लापरवाही साफतौर पर सामने आई। 4 मार्च को आठवी कक्षा के बोर्ड इग्जाम होने के बावजूद छपारा पुलिस 9.30 से 10 बजे तक बैठालकर रखी। जबकि पुलिस महिला अधिकारियों को बुलाकर कुछ घंटों में ही बयान लेकर पीड़ित बच्ची को घर भेज सकती थी लेकिन छपारा पुलिस के अधिकारी-कर्मचारियों ने ऐसा नहीं किया। वहीं छेड़खानी के मामले की एफआईआर दोपहर तीन बजे से पीड़ितों से बैठाले रखे जाने के बाद रात 11.20 बजे लिखी गई। ग्रामीणों का साफ कहना है कि इससे छपारा पुलिस की कार्यप्रणाली साफतौर पर नजर आ रही है। ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक के नाम तहसीलदार छपारा को ज्ञापन सौंपते हुए छपारा टीआई की बर्खास्तगी की मांग की है।

शिक्षक पर निलंबन की गाज-

छात्रा से छेड़खानी का मामला प्रकाश में आने के बाद आदिम जाति कल्याण विभाग के सहायक आयुक्त एसएस मरकाम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए कलंकित शिक्षक अखिलेश डेहरिया के खिलाफ निलंबन का प्रस्ताव बनाकर कलेक्टर कार्यालय में भेज दिया है। गुरूवार को कलेक्टर के हस्ताक्षर के बाद अखिलेश डेहरिया का निलंबन आदेश जारी होने की संभावना है।

आरोपी शिक्षक भेजा गया जेल-

पुलिस ने रात सवा 11 बजे छेड़खानी सहित विभिन्न गंभीर धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर आरोपित शिक्षक अखिलेश डेहरिया को न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

सलीम खान के खिलाफ क्यों नहीं दर्ज की गई एफआईआर-

 कुरई विकासखंड के अंतर्गत बटामा स्कूल की कक्षा पांचवी में अध्ययनरत आदिवासी छात्रावास के साथ कलंकित शिक्षक सलीम खान द्वारा छेड़खानी करने के मामले में संज्ञान लेते हुए कलेक्टर प्रवीण सिंह अढ़ायच और सहायक आयुक्त एसएस मरकाम ने निलंबन कर दिया है लेकिन क्राइम होने के बावजूद कलंकित शिक्षक सलीम के खिलाफ अब तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। आखिर बेटी को लेकर न तो परिजन सामने आ रहे हैं और न ही स्कूल के शिक्षक,बीआरसी और ट्रायवल विभाग के अधिकारी सामने आ रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

Translate