Monday, March 30, 2020

दुकानदार द्वारा गलत दवा देने से श्वान की हुई मृत्यू

दुकानदार द्वारा गलत दवा देने से श्वान की हुई मृत्यू

पशु चिकित्सालय के सामने स्थित दुकानदार ने दिया गलत दवा

सिवनी। गोंडवाना समय। 
पशु चिकित्सालय सिवनी के सामने, महावीर मढ़िया के पास स्थित स्थित पशुओं के स्वास्थ्य को लेकर विक्रय करने वाले दवाई दुकान के संचालक के द्वारा पर्ची में लिखी दवा न दी जाकर अधिक पॉवर की दवाई दिये जाने के कारण श्वान की मृत्यू 28 मार्च 2020 को हो जाने पर श्वान पालक परिवारजनों के द्वारा लापरवाही के आरोप लगाते हुये दवाई बेचने वाले दुकानदार पर कार्यवाही की मांग किया है। 

पशु चिकित्सालय में डॉक्टर द्वारा लिखी गई थी दवाई

हम आपको बता दे कि काली चौक सिवनी निवासी एक परिवारजन के द्वारा श्वान को पाला गया था। जिसका उपचार कराने के लिये श्वान पालक द्वारा पशु चिकित्सालय सिवनी ले गये जहां परडॉ भावना दुबे द्वारा श्वान का उपचार किया गया था एवं दवाई भी लिखी गई थी। 

जो दवाई लिखी थी वह न देकर दिया गलत दवाई

पशु चिकित्सालय सिवनी में चिकित्सक द्वारा श्वान के उपचार करने के बाद जो दवाई पर्ची में लिखकर दी गई थी । वह दवाई लेने जब महावीर मढ़िया के पास स्थित दवाई विक्रेता के यहां पर श्वान पालक पर्ची दिखाकर दवाई लेने गये तो दवा विक्रेता दुकानदार के द्वारा पर्ची में लिखी हुई दवाई न देकर अधिक पॉवर की दवाई दे दिया गया। 

दवा खिलाने के पहले सही थी श्वान की हालत, दवाई खाने के बाद हुआ मृत

श्वान पालन परिवारजन ने बताया कि दवा खिलाने के पहले एक घंटे तक श्वान की स्थिति बहुत अच्छी थी लेकिन जैसे ही श्वान को दवाई खिलाई गई उसके लगभग 1 घंटे बाद से ही श्वान की हालत अत्याधिक बिगड़ गई और श्वान की मृत्यू हो गई।

पूर्व में गलत दवाई बेचने की आ चुकी है शिकायत

विभागीय सूत्र बताते है कि उक्त दवा दुकानदार के द्वारा पूर्व में भी पर्ची में लिखी दवाई न देकर अन्य दूसरी दवाई बेचे जाने की शिकायत आई है और कुछ पशु की हालत गलत दवाई देने के कारण बिगड़ चुकी है। 

पशु चिकित्सालय के सामने दवा विक्रेता कर रहा लापरवाही

हम आपको बता दे कि गलत दवा बेचने का काम दवाई दुकान संचालक कहीं और नहीं पशु चिकित्सालय के सामने ही दवाई की दुकान खोलकर कर रहा है। वहीं गलत दवाई बेचे जाने की शिकायत पहले भी सामने आ चुकी है इसके बाद भी पशु चिकित्सा विभाग के द्वारा उक्त दवा दुकानदार के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं किया सवाल खड़े कर रहा है। 

No comments:

Post a Comment

Translate