Friday, April 3, 2020

अब तक, कोविड-19 के 2301 मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 56 मौतें हुई

अब तक, कोविड-19 के 2301 मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 56 मौतें हुई 


कोविड 19 पर अपडेट


नई दिल्ली। गोंडवाना समय।

देश में कोविड-19 की रोकथाम, नियंत्रण और प्रबंधन के लिए भारत सरकार द्वारा राज्यों/ संघ शासित प्रदेशों के सहयोग से विभिन्न कार्य शुरू किए गए हैं। इन कार्यों की उच्चतम स्तर पर नियमित निगरानी की जा रही है।
माननीय राष्‍ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने आज राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों के राज्‍यपालों और उपराज्‍यपालों के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेंस कर समाज के असहाय वर्गों पर ध्‍यान केंद्रित करते हुए कोविड-19 को फैलने से रोकने की तैयारियों की स्थिति, सामाजिक संगठनों/स्‍वयंसेवी संगठनों/निजी क्षेत्र की भूमिका और रेडक्रॉस की भूमिका पर विचार विमर्श किया।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने राष्‍ट्र को सम्‍बोधित करते हुए संकट की इस अनिश्चियपूर्ण घड़ी में देश द्वारा दर्शाए गए अभूतपूर्व अनुशासन और सामूहिकता की भावना की सराहना की। उन्‍होंने सामाजिक दूरी का महत्‍व दोहराया और प्रत्‍येक नागरिक से लॉकडाउन को लागू करने में सहायता करने का अनुरोध किया।
केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने रोगियों और उनके परिजनों से अपील की कि वे डॉक्‍टरों और अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों के कार्य में बाधा नहीं उत्‍पन्‍न करें। उन्‍होंने देशभर में अग्रिम मोर्चे पर डटकर कार्य कर रहे कर्मियों के साथ हो रहे दुर्व्‍यवहार पर भी चिंता प्रकट की। उन्‍होंने कहा कि वे हमारे कोरोना वॉरियर्स हैं, जो कोविड-19 महामारी पर काबू पाने और इसे फैलने से रोकने के लिए निरंतर राष्‍ट्र की सेवा कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि इन कर्मियों के योगदान की प्रधानमंत्री ने भी सराहना की है, क्‍योंकि अब तक कोविड-19 के 156 रोगी इस बीमारी से निजात पा चुके हैं।
स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने 02 अप्रैल, 2020 को कोविड-19 के लिए प्रशिक्षण सामग्री के बारे में सभी राज्‍यों/संघशासित प्रदेशों को एक परामर्श भी जारी किया है, जो at https://www.mohfw.gov.in/pdf/AdvisoryforHRmanagement.pdf . पर उपलब्‍ध है । इसमें क्षमता निर्माण का प्रशिक्षण और फील्‍ड सर्विलांस, आइसोलेशन सुविधाओं के नैदानिक प्रबंधन, क्‍वारंटीन, मा‍नसिक-सामाजिक देखभाल, लॉजिस्टिक्‍सऔर आपूर्ति श्रृंखला के प्रबंधन को मजबूती प्रदान करने के उपाय शामिल हैं।
इसके अतिरिक्‍त, एम्‍स की ओर से आईसीयू में देखरेख और वेंटीलेशन कार्यनीति के बारे में चिकित्‍सकों के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण और कोविड-19 रोगियों की देखरेख करने वाली नर्सों के लिए भी एक अन्‍य ऑनलाइन प्रशिक्षण आयोजित किया जा रहा है। इस प्रकार के सभी वेबिनार की सारणी स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की वेबसाइटhttps://www.mohfw.gov.in/ पर उपलब्‍ध है।
अब तक, कोविड-19 के 2301मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 56मौतें हुई हैं। 156 व्‍यक्तियों का इलाज किया जा चुका है/ स्‍वस्‍थ होने के बाद अस्‍पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। 
कोविड-19 से संबंधित तकनीकी मामलों के बारे में सभी प्रकार की विश्‍वसनीय और अद्यतन जानकारी, दिशानिर्देशों एवं परामर्शों  के लिए कृपया नियमित रूप से : https://www.mohfw.gov.in/  देखें।
कोविड-19 से संबंधित तकनीकी प्रश्‍नों को technicalquery.covid19@gov.inऔर अन्‍य प्रश्‍नों को ncov2019@gov.inपर ई-मेल के माध्‍यम  से भेजा जा सकता है ।
कोविड-19 के बारे में किसी भी प्रश्‍न के बारे में कृपया स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय को हेल्‍पलाइन नम्‍बर : +91-11-23978046 या 1075 (टोल फ्री) पर सम्‍पर्क करें। राज्‍यों/संघशासित प्रदेशों के हैल्‍पलाइन नम्‍बरों की सूचीhttps://www.mohfw.gov.in/pdf/coronvavirushelplinenumber.pdfपर भी उपलब्‍ध है।

No comments:

Post a Comment

Translate