Wednesday, April 8, 2020

5194 पुष्ट मामलों का पता चला, 149 की संक्रमण से मौत और 402 व्यक्ति​ इलाज से ठीक हुए

5194 पुष्ट मामलों का पता चला, 149 की संक्रमण से मौत और 402 व्यक्ति​ इलाज से ठीक हुए 

कोविड-19 पर अपडेट


नई दिल्ली। गोंडवाना समय।
भारत सरकार
, देश में कोविड-19 के रोकथाम, नियंत्रण एवं प्रबंधन के लिए राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों के साथ कई कदम उठा रही है। उच्चतम स्तर पर इनकी नियमित रूप से समीक्षा और निगरानी की जा रही है।
सरकारराज्यों / संघ शासित प्रदेशों द्वारा प्रभावी लॉकडाउन उपायों को समान रूप से लागू किये जाने और नागरिकों द्वारा सामाजिक दूरी बनाए रखने के नियमों का अच्छी तरह से पालन सुनिश्चित करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है जो कोविड-19 के संक्रमण से निबटने के प्रयासों में मदद करेंगे।
संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा मिलकर कई उपाय किए गए हैं। देश भर में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर इससे निबटने के उपाय भी तेज कर दिए गए हैं। अनुसार प्रतिक्रियाओं को बढ़ाया गया है। राज्यों को देश भर में पर्याप्त संख्या में कोविड-19 देखभाल केंद्र सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।
कई जिलों ने ऐसे उपाय किए हैं जो सर्वोत्तम प्रथाओं के रूप में सामने आए हैं। इनमें से कुछ इस प्रकार हैं:
पुणे जिला प्रशासन ने पुणे के मध्य क्षेत्र और कोंधवा इलाके को प्रभावी तरीके से से सील कर दिया है और 35 वर्ग किलोमीटर के दायरे में स्थित सभी घरों का सर्वेक्षण कराया हैपुणे जिला प्रशासन ने पुणे के मध्य क्षेत्र और कोंधवा इलाके को प्रभावी तरीके से से सील कर दिया है और 35 वर्ग किलोमीटर के दायरे में स्थित सभी घरों का सर्वेक्षण कराया है। सर्वेक्षण कर रही टीम लोगों द्वारा हाल में की गई यात्राओं के ब्यौरे और संपर्कों के अलावा मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसे  सह-रुग्णता वाले व्यक्तियों की जाँच भी कर रही है।
पथानामथिट्टा जिला प्रशासन की ओर से  निगरानीलोगों के यात्रा ब्यौरे एकत्र करनेउनके संपर्कों का पता लगानेक्वारटांइन सुविधाएं सुनिश्चित करने तथा लोगों को आवश्यक और मनोवैज्ञानिक सहायता प्रदान करने का काम किया जा रहा है।
भारत सरकार ने कोविड-19 के प्रबंधन के लिए इंटीग्रेटेड गवर्नमेंट नामक एक प्रशिक्षण मॉड्यूल शुरू किया है। महामारी से पूरी कुशलता के साथ निबटने के लिए अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं के क्षमता निर्माण के लिए दिक्षा  प्लेटफॉर्म पर ऑनलाइन प्रशिक्षण '(आईजीओटी) पोर्टल शुरु किया गया है।  ​अग्रिम पंक्ति के इन लोगों मेंचिकित्सकनर्सअर्धचिकित्सकतकनीशियनएएनएमराज्य सरकार के अधिकारीनागरिक सुरक्षा अधिकारीराष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी)राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस)इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी (आईआरसीएस) और अन्य स्वयंसेवक शामिल हैं। पोर्टल वेबसाइट का लिंक https://igot.gov.in/igot/ है।
नई दिल्ली का अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्सकोविड-19 से कारगर तरीके से निबटने के लिए वेबिनार यानी कि आनलाइन माध्यम से स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों की विभिन्न श्रेणियों की क्षमता निर्माण का काम कर रहा है। इस सप्ताह एम्स  द्वारा कोविड संक्रमण की संदिग्ध या पुष्ट मामलों वाली गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व देखभाल और प्रसव प्रबंधन के लिए चिकित्सकों के वास्ते ऑनलाइन प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई है।इसका विस्तृत ब्यौरा स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट www.mohfw.gov.in पर उपलब्ध है।
अब तक देश में कोविड-19 के 5194 पुष्ट मामलों का पता चला है और 149 लेागों की संक्रमण से मौत हुई है। इस बीच 402 व्यक्ति​ इलाज से ठीक हुए हैं और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।कोविड-19से सं​बधित तकनीकी जानकारीदिशा निर्देशों और परामर्शों की प्रमाणिक और ताजा जानकारी के लिए कृपया  नियमित रूप से https://www.mohfw.gov.in/ की वेबसाइट देखें।
कोविड -19 से संबंधित तकनीकी सवाल novov2019@gov.in के पते पर ईमेल किए जा सकते हैं। अन्य सवाल  ncov2019@gov.in . पर भेजे जा सकते हैं।
कोविड-19 से संबधित कोई भी जानकारी प्राप्त करने के लिए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के  हेल्पलाइन नंबर  + 91-11-23978046 या 1075 (टोल-फ्री) नंबर पर संपर्क किया जा
सकता है।कोविड-19 पर राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों के हेल्पलाइनंबरों की सूची https://www.mohfw.gov.in/pdf/coronvavirushelplinenumber.pdf पर उपलब्ध है।

No comments:

Post a Comment

Translate