Thursday, April 23, 2020

वर्चस्व की लडाई में बाघ की मृत्यु

वर्चस्व की लडाई में बाघ की मृत्यु

भोपाल। गोंडवाना समय।
बांधवगढ टाईगर रिजर्व के पनपथा बफर रेंज में आज सुबह हाथी गश्त दल द्वारा एक बाघ देखा गया। बहुत देर तक बाघ में हलचल न दिखने पर दल ने पास में जाकर मुआयना किया, तो बाघ मृत अवस्था में पाया गया। घटना की सूचना मिलने पर क्षेत्र संचालक श्री विसेंक्ट रहीम, प्रभारी उप संचालक श्री अनिल शुक्ला और स्टाफ मौके पर पहुँचे। बाघ की आयु 10 वर्ष से अधिक अनुमानित है।
          बाघ के शव का परीक्षण करने पर अनेक घाव पाए गए। प्रथम दृष्टया ये घाव किसी अन्य युवा बाघ से संघर्ष के दौरान मिले प्रतीत होते हैं। षव का परीक्षण वन्यजीव सहायक शल्यज्ञ डा. अभय सेंगर और मानपुर के पशु चिकित्सक द्वारा किया गया। मृत बाघ के बिसरा के सैंपल एकत्रित कर परीक्षण के लिए सुरक्षित कर लिए गए हैं। शव का राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण के प्रतिनिधियो की उपस्थिति में दह संस्कार किया गया।

No comments:

Post a Comment

Translate