Wednesday, April 1, 2020

किसान से कहा गाड़ी में बैठोगे या लठ्ठ खाओगे

किसान से कहा गाड़ी में बैठोगे या लठ्ठ खाओगे

फसल कटाई के लिये पहुंये किसान के साथ अपशब्द, अभद्रता, मारपीट 

पुलिस की मौजूदगी में बिना वर्दीधारी कर रहा सिवनी पुलिस की छबी खराब

किसान पुत्र मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सरकार के राज में किसानों की पिटाई व लुटाई नियमों की आड़ में कफॅूर्य और लॉकडाउन की आड़ में पुलिस की मौजूदगी में बिना वर्दीधारियों के साथ किया जा रहा है। इसकी शिकायत पीड़ित किसान ने कोतवाली पुलिस में मार्च के अंतिम दिन कर प्रताड़ित करने वालों पर प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही की मांग किया है।  

सिवनी। गोंडवाना समय।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के स्पष्ट शब्दों में निर्देश है कि किसानों को फसल कटाई के लिये खेतों में आने जाने में कोई रोक नहीं लगाई जायेगी साथ ही फसल कटाई के लिये केंद्र और राज्य सरकार के द्वारा एडवाईजरी में जारी की गई है। सबसे विशेष बात यह है कि पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में सिवनी जिले की पुलिस कफर््यू और लॉकडाउन का पालन कराने में रात-दिन मुस्तैद तो है ही साथ में गांव-गांव, शहर-शहर कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव से रोकने के लिये जनजागरूकता अभियान भी चला रही है जिसे आप सिवनी पुलिस फेशबुक पेज पर जाकर देख सकते है किस तरह पूरी जिम्मेदारी के साथ पुलिस अपना कर्तव्य वफादारी के साथ निभा रही है जिससे आम नागरिकों में पुलिस की अच्छी छबी बनी हुई और जनता का विश्वास पुलिस के प्रति सम्मानजनक स्थान बनाने में काम याब हुआ है लेकिन वहीं कुछ अंगूली में गिनने लायक ही पुलिसिया तुर्रा बताकर सिवनी पुलिस प्रशासन के बेदाग छबी को दागदार बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे।                   
 किसानों के साथ मारपीट, अभद्रता, अपशब्दों का प्रयोग करने वाले संबंधित पुलिस और साथ में गये हुये दो व्यक्तियों पर प्रकरण दर्ज कराये जाने को लेकर कोतवाली पुलिस ने किसान द्वारा शिकायत दी गई है। अब देखना यह कि पुलिस प्रशासन अपनों पर कार्यवाही करती है बचाती है यह पुलिस प्रशासन का अपना मामला है लेकिन किसानों के साथ इस तरह का व्यवहार करना कहां तक जायज है यह किसान पुत्र मुख्यमंत्री की सरकार शिवराज सिंह चौहान की प्रशासनिक व्यवस्था को करना है।

खेत में हारवेस्टर की राह देख रहे थे किसान 

ग्राम सिमरिया पो बींझावाड़ा के किसान हरवंश सिंह बघेल 31 मार्च 2020 को लगभग 4 बजे के आसपास में जब अपने खेत जो कि फोरलॉइन के पास स्थित है। उक्त खेत की फसल कटवाने के लिये दो अन्य के साथ में खेत में हारवेस्टर के आने का इंतजार कर रहे थे । 

एम पी 22 सीए 4906 में नशे में पहुंचे पुलिस व अन्य दो

हम आपको बता दे कि किसान हरवंश बघेल ने कोतवाली थाना में दी गई शिकायत में उन्होंने बताया कि जब हम खेत में फसल कटाई के लिये हारवेस्टर की रास्ता देख रहे थे तो उसी दौरान सफेद कलर की ब्रेजा गाड़ी क्रमांक एम पी 22 सीए 4906 में एक व्यक्ति पुलिस वर्दी में दो अन्य सिविल डैस में पहुंचे। 

आते ही अभद्रता, अपशब्दों के बाद किया मारपीट 

खेत में खड़े किसानों के साथ में मौके पर पहुंची पुलिस ने कलेक्टर का आदेश और सरकार के नियमों का हवाला देते हुये किसानों को सीधे गाड़ी में बैठने के लिये अभद्रतापूर्वक व्यवहार करने के साथ ही अपशब्दों का उपयोग जिस तरह से किया गया है वह वीडियों में सुनाई व दिखाई दे रहा है, जो संभवतय: प्रमाण के लिये काफी है। 

बताओ गाड़ी में बैठोगे या लठ्ठ खाओगे

किसान के साथ में पुलिस के साथ सड़क पर एक अन्य व्यक्ति तो मारपीट व अभद्रता, अपशब्दों की बौछार करते हुये नियम कानूनों की सीख सिखा रहा था वहीं एक अन्य व्यक्ति जो कि बिना पुलिस की वर्दी में था वह किसान के सामने लठ् घूमाने का ईशारा करते हुये यह बार बार कह रहा था कि बताओ गाड़ी में बैठोगे या लठ्ठ खाओगे। 

3000 रूपये किसान की जेब से निकाल चले गये 

किसान के साथ में अभद्रता, अपशब्दों से सत्कार, व लठ्ठ से स्वागत तो वर्दीधारी पुलिस की मौजूदगी में दो अन्य बिना वर्दी वालों के द्वारा कोराना वायरस संक्रमण को लेकर बनाये गये नियमों का हवाला तो दिया गया ही साथ में किसान के जेब में हारवेस्टर वाले को देने के लिये रखे हुये 3000 रूपये भी छुड़ाकर चले गये ।   

No comments:

Post a Comment

Translate