Sunday, May 10, 2020

1040 लाड़ली लक्ष्मियों के लिए 12.27 करोड़ रुपए के ई-सर्टिफिकेट जारी किये

1040 लाड़ली लक्ष्मियों के लिए 12.27 करोड़ रुपए के ई-सर्टिफिकेट जारी किये

मातृत्व वंदना योजना में 2655 हितग्राहियो को 52.12 लाख रूपए

भोपाल। गोंडवाना समय।
मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर लाड़ली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत 1040 प्रकरणों में 12.27 करोड़ रुपए की राशि के ई-सर्टिफिकेट जारी किये। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत 2655 हितग्राहियों को 52.12 लाख रुपए की राशि ट्रांसफर करने के लिए बैंक को आॅनलाइन आदेश जारी किए। इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्री अनुपम राजन एव अन्य संबंधित उपस्थित थे।

बेटी बोझ नहीं वरदान है

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वीसी के माध्यम से लाड़ली लक्ष्मियों की माताओं से बातचीत की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जन्म से लेकर मृत्यु तक बेटियों के कल्याण के लिए योजनाएं बनायी गयी हैं। लाड़ली लक्ष्मी योजना का प्रारंभ वर्ष 2007 में किया गया था तथा अभी तक कुल 35 लाख 35 हजार 28 बालिकाओं को लाभान्वित किया जा चुका है। योजना के अंतर्गत बालिका को छठवीं पास करने पर 2 हजार रुपए, नौवीं पास करने पर 4 हजार रुपए, ग्यारहवीं पास करने पर 6 हजार रुपए, बारहवीं पास करने पर 6 हजार रुपए तथा 21 वर्ष की आयु पूर्ण करने पर एक लाख रुपए इस प्रकार कुल 01 लाख 18 हजार रुपए प्रदान किये जाते हैं। इसके अलावा बेटियों को नि:शुल्क किताबों, यूनीफार्म, साईकिल आदि भी दिए जाते हैं। बिटिया की शादी के लिए सहायता दी जाती है तथा संबल योजना के अंतर्गत बच्चे के जन्म से पहले 4 हजार रुपए तथा जन्म के बाद 12 हजार रुपए की सहायता प्रदान की जाती है।

अच्छे से पढ़ना, मामा साथ है

मुख्यमंत्री ने लाड़ली लक्ष्मी आराध्या की माता श्रीमती ज्योति मित्रा शिवपुरी, भूमि की माता श्रीमती पूजा वर्मा खण्डवा, काव्या की माता श्रीमती पूनम शर्मा मुरैना, श्रेया की माता श्रीमती बेलाकली साकेत सीधी तथा ईरा की माता श्रीमती सुल्ताना मोहसिन पन्ना से बातचीत की। श्रेया ने बताया कि वह इस बार नौवीं कक्षा में आ गयी है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अच्छे से पढ़ना मामा आपके साथ है।

माताओं को किया वंदन, जरूरत पड़े तो भईया को याद करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के हितग्राहियो श्रीमती खुशबू प्रजापति शहडोल, श्रीमती नंदनी नेताम डिण्डौरी, श्रीमती बाली हुरमाड़े बैतूल, श्रीमती रचना जाटव विदिशा, श्रीमती उमा गोपाल उज्जैन से भी वीसी के माध्यम से बातचीत की। उन्होंने सभी का वंदन किया तथा कहा कि सदैव खुश रहें, जरूरत पड़े तो भईया को याद करें।

मातृत्व वंदना योजना में मध्यप्रदेश को प्रथम पुरस्कार

प्रमुख सचिव श्री अनुपम राजन ने बताया कि मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत सभी गर्भवती महिलाओं एवं धात्री माताओं (प्रथम प्रसव) को 5 हजार रुपए की राशि प्रदान की जाती है। इसमें से एक हजार रुपए गर्भावस्था के पंजीयन पर, दो हजार रुपए गर्भावस्था के 6 महीने बाद तथा दो हजार रुपए जन्म के बाद प्रदान किये जाते हैं। योजना वर्ष 2017 में प्रारंभ की गई थी तथा इसके अंतर्गत अभी तक प्रदेश में कुल 16 लाख 56 हजार हितग्राहियों को 671 करोड़ रुपए राशि का भुगतान किया जा चुका है। वर्ष 2019-20 में पूरे भारत में मध्यप्रदेश को उत्कृष्ट कार्य के लिये प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया था।

No comments:

Post a Comment

Translate