Friday, May 1, 2020

चमरू उईके ने जेल में लगाई फांसी, दो जेल प्रहरी सस्पेंड

चमरू उईके ने जेल में लगाई फांसी, दो जेल प्रहरी सस्पेंड

सिवनी। गोंडवाना समय।
जिला जेल में धारा 307 की सजा काट रहे चमरू उईके पिता चंदन उईके जाति गोंड उम्र लगभग 40 वर्ष ने जेल की टॉयलेट में खुद के गमछे के सहारे झूल कर 30 अप्रैल को अपनी जान दे दी है। इसके बाद बाद जेल के दो कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

टायलेट में लगा लिया था फांसी

सर्किल जेल सिवनी में 30 अप्रैल 2020 को सुबह लगभग 4 से 5 बजे के बीच कैदी चमरू उईके ने जेल की टॉयलेट में बल्ब लटकाने के लिए लगाई गई कील के सहारे खुद के गमछे से फांसी लगा लिया। इसके बाद पुलिस ने शव का पंचनामा तैयार कर पोस्टमार्टम कराये जाने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया था। घटना के संबंध में डूंडासिवनी थाना प्रभारी श्री अमित विलास दाणी ने जानकारी देते हुये बताया कि सर्किल जेल सिवनी में धारा 307 के अपराध में चमरू उईके ग्राम शिकारा थाना घंसौर निवासी ने 30 अप्रैल 2020 को सुबह जेल में फांसी लगा लिया था। जब तक दूसरे बंदी इसे बचाने जा पाते तब तक इस कैदी की मौत हो गई। 

8 वर्ष की सजा पर माह नंबवर से सर्किल जेल में था 

आरोपी को माननीय न्यायालय ने 8 वर्ष की सजा सुनाई थी। जिसके बाद से वह माह नबंवर 2019 से सर्किल जेल सिवनी में सजा काट रहा था। अभी तक फांसी लगाने का लगाने का कारण अभी स्पष्ट नहीं है।जानकारी अनुसार फांसी लगाये जाने की वजह पोस्टमार्टम रिपोर्ट एवं विवेचना उपरांत ही स्पष्ट हो पायेगी। इस मामले को थाना डूंडासिवनी पुलिस ने संज्ञान में लेकर जांच प्रारंभ कर दी है। कैदी की मौत के बाद केश लाल ककोडी और धनसिंह मरावी जो कि प्रहरी और मुख्य प्रहरी हैं उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है।

No comments:

Post a Comment

Translate