Wednesday, May 6, 2020

जनस्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वाले ठेकेदार पर एफआईआर दर्ज करने की मांग

जनस्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वाले ठेकेदार पर एफआईआर दर्ज करने की मांग

नगर पालिका परिषद अधिकारी व संबंधित सहयोगियों पर कार्यवाही की मांग 

सिवनी। गोंडवाना समय। 
जिला मुख्यालय में नगर पालिका परिषद अंतर्गत सिवनी नगर व कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में नगर पालिका सिवनी के द्वारा सप्लाई किये जा रहे गंदे मटमैला पीले पानी की शिकायत कलेक्टर सिवनी, पुलिस अधीक्षक सिवनी, नगर निरीक्षक थाना कोतवाली सिवनी व नगर निरीक्षक थाना डूंडासिवनी को भोजराज मदने, अधिवक्ता विनोद सोनी, अजय डागोरिया व तरुण मुनिया टांक द्वारा की गयी व आग्रह किया है कि मुख्य नगर पालिका अधिकारी सिवनी व सहयोगी अधिकारी कर्मचारी व जलावर्धन योजना के अंतर्गत पानी सप्लाई करने वाले ठेकेदार शर्मा के विरुद्ध जनस्वास्थ्य से खिलवाड़ करने के कारण एफआईआर दर्ज कर प्रकरण पंजीबद्घ किया जावे।

विधायक के हस्तक्षेप के बाद कहा था अब आयेगा साफ पानी 

हम आपको बता दे कि विगत लगभग 1 माह से सिवनी नगर व कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में गंदा मटमैला पीले रंग का पानी सप्लाई किया जा रहा है। जिसकी जानकारी सोशल मीडिया, अखबारों व अन्य तरीकों से नगर पालिका प्रशासन व जिला प्रशासन तक पहुंच रही है। प्रशासन द्वारा इस संबंध में कुछ कार्यवाही विधायक सिवनी श्री दिनेश राय मुनमुन के हस्तक्षेप के चलते की गई थी व बंडोल स्थित फिल्टर प्लांट से बेकार हो चुकी फिटकरी व ब्लीचिंग पाउडर इत्यादि जप्त भी किया गया है।
        अपने प्रेस नोट में शोसल मीडिया के माध्यम से तात्कालीन कलेक्टर व नगरपालिका के प्रशासक द्वारा इस संबंध में की गई कार्यवाही से अवगत कराते हुए आगे से साफ पानी मिलने का आश्वासन भी दिया गया था व गंदा पानी आने पर नगरपालिका के विभिन्न अधिकारियों के मोबाइल नम्बरों पर सूचना प्रदान करने का आग्रह भी किया था ।

ठेकेदार व विभागीय कर्णधार मिलकर कर नागरिकों के स्वास्थ्य से खिलवाड़

हम आपको बता दे कि इतना सब होने के बाद भी आज दिनांक तक गंदे मटमैला व पीले रंग का पानी ही नागरिकों को वितरित किया जा रहा है। जिससे पीलिया व अन्य बीमारियों के फैलने का खतरा बढ़ गया है। अपुष्ट सूत्रों व नगर में चल रही चचार्ओं के आधार पर यह बात सामने आ रही है कि नगर पालिका द्वारा पानी फिल्टर कर वितरण करने का कार्य ठेकेदार को सौप दिया गया है।
        बंडोल व बबरिया फिल्टर प्लांट का जिसने बबरिया में नए फिल्टर प्लांट का निर्माण किया गया है। पूर्व में पीएचई व नगर पालिका के सरकारी अमले द्वारा बंडोल फिल्टर प्लांट से पानी फिल्टर कर सिवनी नगर व कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में सप्लाई किया जाता था। जिसे अब निजी हाथों में सौप दिया गया है। जिस कारण मुख्य नगर पालिका अधिकारी व ठेकेदार द्वारा मिलकर नगर के नागरिकों के स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही कर पानी फिल्टर करने वाली फिटकरी व ब्लीचिंग पावडर सहित अन्य सामग्रियों की घटिया किस्म का उपयोग किया जा रहा है। 

पैसे बंदरवांट के लिये पिला रहे नागरिकों को गंदा पानी 

जिस कारण बंडोल फिल्टर प्लांट से उक्त घटिया किस्म की सामग्रियां जप्त की गई हैं वहीं यह भी जानकारी प्राप्त हो रही है कि पानी को फिल्टर करने में सामग्रियों का उपयोग भी कम किया जा रहा है। जिससे ठेकेदार पैसा बचा सके व नगर पालिका के अधिकारियों के साथ मिलकर उक्त बचाये गये पैसे की बन्दरबांट कर सके। जनप्रतिनिधियों के लगातार हस्तक्षेप के बाद भी गंदे पानी को ही नगर के व कुछ ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिकों को पिलाया जा रहा है।
       
          जिसके फरियादी हम शहर के अधोहस्ताक्षरी नागरिक हैं जिनके इस पत्र के आलोक में आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जावे। साथ ही उन्होंने यह भी निवेदन है कि पानी फिल्टर करने की व्यवस्था ठेकेदार श्री शर्मा की कम्पनी से वापिस लेकर पुन: पीएचई व नगरपालिका के सरकारी अमले को सौपा जावे। जिससे ठेकेदार के द्वारा किए जा रहे खिलवाड़ से नागरिकों की रक्षा की जा सके ।
 पूर्व पार्षद भोजराज मदने व अन्य नागरिको ने इस सूचना के माध्यम से अनुरोध किया है कि वर्तमान में कोरोना जैसी विश्व व्यापी महामारी के चलते जनस्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वाले मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगरपालिका के अन्य जिम्मेदार अधिकारी-कर्मचारी व ठेकेदार श्री शर्मा के खिलाफ जनस्वास्थ्य से खिलवाड़ करने व पीलिया व अन्य विभिन्न बीमारियों को फैलाने की कोशिश करने के लिए एफआईआर दर्ज की जावे।

नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच में भी ने किया है शिकायत 

हम आपको बता दे कि नगर पािलका परिषद सिवनी के द्वारा शहरी क्षेत्र में गंदे पानी नागरिको को घरों में सप्लाई किये जाने को लेकर नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच सिवनी द्वारा भी जिला कलेक्टर को ज्ञापन 
सौंपकर कार्यवाही की मांग किया गया है।
      नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच के द्वारा कलेक्टर को दी गई शिकायत में कहा गया है कि नगर पालिका द्वारा वाटर सप्लाई का काम लक्ष्मी कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया गया था किंतु लक्ष्मी कंस्ट्रक्शन कंपनी के द्वारा लापरवाही पूर्वक कार्य किया गया जिससे लोगों को गंदा पानी पीने मजबूर होना पड़ रहा है।
          क्षेत्र के लोगों के द्वारा बताया गया कि कोरोना जैसी महामरी पर इस तरह की लापरवाही नगर पालिका द्वारा किया जाना जनहित में नहीं है। इसलिये दोषी व्यक्तियों पर कार्यवाही की जाने की मांग नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच सिवनी के द्वारा की गई है। 

No comments:

Post a Comment

Translate