Saturday, May 2, 2020

मजदूरी मांगने पर हाथ पैर तुड़वाने की धमकी दे रहा ठेकेदार

मजदूरी मांगने पर हाथ पैर तुड़वाने की धमकी दे रहा ठेकेदार 

12 आदिवासी मजदूरों की मेहनत को डकर गया ठेकेदार 
फोन से थाना-चौकी से बोल रहा हूं जेल भिजवाने की दे रहे धकमी 
छिंदवाड़ा के ठेकेदार की पुलिस अधीक्षक सिवनी से किया शिकायत 

सिवनी/छपारा। गोंडवाना समय। 
पूंजीवादी व्यवस्था के रहते श्रमिकों का शोषण कभी रूक सकता है क्या ? इसका जवाब श्रमिकों से अच्छा कोई नहीं दे सकता है। लॉकडाउन के दौरान मजदूरों की हकीकत वहीं बढ़ते मशीनी युग में मजदूर दिवस पर एक दिन का सम्मान से क्या मजदूरों की स्थिति में कोई परिवर्तन आयेगा, यह श्रमवीर बनाम मजदूरों, सरकार, पंूजीवादी व्यवस्था व असमानता की खाई खोदने वालों को स्वयं निर्णय करना है।
           हम आपको बता दे कि छपारा विकासखंड के लगभग 12 श्रमिकों ने माचागोरा नहर के अंतर्गत पायली के पास बन रही नहर व पुलिया में दिन-रात की मजदूरी के हिसाब से 9 दिन तक 17 मार्च से काम से किया था वहीं उन मजदूरों को लॉकडाउन लग जाने के बाद भी छोड़ा नहीं गया था और जबरन काम कराया जाने का दबाव बनाया जा रहा था। इस आधार पर 16 दिन तक मजदूरी ठेकेदार ने हजम कर लिया है और हजम करने के बाद डकरते हुये मजदूरों को धमका भी रहा है। 
पीड़ित मजूदरों ने मजदूरी नहीं मिलने के बाद ठेकेदार रवि वर्मा के द्वारा धमकाने, अपशब्दों का प्रयोग कर फोन पर भी धमकी दिये जाने की शिकायत पुलिस अधीक्षक सिवनी से 2 मई 2020 को किया है। पीड़ित मजदूरों ने अपनी शिकायत में यह बताया है कि 12 मजदूरों के द्वारा पायली नहर के निर्माण कार्य में मजदूरी का काम 16 दिनों तक किये थे लेकिन ठेकेदार रवि वर्मा द्वारा मजदूरी का रूपये नहीं दिया गया है और उल्टा हम मजदूरों को मारने-पीटने की धमकी दे रहा है। 

पुरूषों को 300 एवं महिलाओं को 250 के हिसाब से करवा रहा मजदूरी 

पीड़ित शिकायतकर्ताओं ने अपने आवेदन में यह उल्लेख किया है कि ठेकेदार रवि वर्मा द्वारा पुरूष को 300 रूपये तथा महिलाओं को 250 रूपये के हिसाब से कार्य में लगाया गया था। उनसे काम भी पूरा कराया लेकिन मजदूरी नहीं दे रहा है और मजदूरी मांगने पर धमकी दे रहा है। इसके साथ मजदूरी मांग रहे है तो झूठा इल्जाम व कुछ भी चोरी में फंसाने की भी धमकी ठेकेदार रवि वर्मा के द्वारा दिया जा रहा है। 

छिंदवाड़ा थाना/चौकी से कौन कर रहा फोन और दे रहा जेल पहुंचवाने की धमकी

पीड़ित मजदूरों ने अपनी शिकायत में यह भी उल्लेख किया है कि ठेकेदार रवि वर्मा किसी अन्य व्यक्ति से फोन करवाकर धमकी भी दिलवा रहा है जो कि अपशब्दों से संबोधित करता है। वहीं फोन में छिंदवाड़ा थाना/चौकी से बोल रहा है कहता है, तुम्हे सबको जेल पहुंचा दुंगा कहकर डराता है। 

मजूदरी दिलाने व ठेकेदार पर कार्यवाही की मांग

ठेकेदार रवि वर्मा द्वारा बालकुमार इरपाचे, वदन सिंह इनवाती, दीपक मरकाम, सुनील धुर्वे, दुबेलाल उईके, कविता धुर्वे, झामसिंह भलावी, सुरेंद्र धुर्वे, लोंगवती धुर्वे, विजय उईके, सरजू इरपाचे, छोटी बाई इरपाचे, से मजदूरी का कार्य करवाया गया था । मजदूरी करने के बाद मजदूरों को मेहनत के रूपये नहीं देने पर ठेकेदार रवि वर्मा पर कार्यवाही की मांग एवं मजूदरी की राशि दिलाये जाने की मांग किया गया है। 

No comments:

Post a Comment

Translate