Saturday, June 20, 2020

गर्भवती महिला को दुपहिया वाहन में 10 किलोमीटर तक जाना पड़ा

गर्भवती महिला को दुपहिया वाहन में 10 किलोमीटर तक जाना पड़ा 

बरगी बांध निर्माण से विस्थापन का दर्द आज भी भोग रहे क्षेत्रवासी 

सिवनी। गोंडवाना समय। 
घंसौर ब्लॉक के बरगी बांध विस्थापित गांव बीजासेन, में एक गर्भवती महिला को 18 जून 2020 की रात्रि में करीब 11.30 बजे डिलीवरी हेतु मोटरसाइकिल से करीब 10 किलोमीटर ले जाया गया। रास्ता खराब होने और बारिश के चलते गांव तक एंबुलेंस नहीं पहुंच पाई। विकास की ओर देश व प्रदेश के बढ़ते कदम के बाद भी विस्थापित क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं से आज भी लोग वंचित है। 

क्षेत्र में मूलभूत की है व्याप्त है अनेक समस्यायें 

पहले गर्भवती महिला को दुपहिया वाहन में 10 किलोमीटर एवं इसके बाद फिर महिला को 22 किलोमीटर एंबुलेंस से समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घंसौर ले जाया गया। जबकि क्षेत्रिय ग्रामीणों का कहना है कि बीजासेन गांव में उप स्वास्थ्य केंद्र रिकॉर्ड में है लेकिन इसके बाद भी विस्थापन का दर्द झेलने के लिये बरगी बांध के विस्थापित मजबूर है। तहसील मुख्यालय से गांव तक जोड़ने वाला सड़क मार्ग में पढ़ने वाला प्रतापगढ़ पुल 2 वर्ष से अधूरा पड़ा है। पूर्व में भी गर्भवती महिलाओं के अस्पताल पहुंचने से पहले अनहोनी हुई है। 

No comments:

Post a Comment

Translate