Thursday, July 23, 2020

कोविड-19 से ठीक हुये कुल संख्या 7.82 लाख के पार

कोविड-19 से ठीक हुये कुल संख्या 7.82 लाख के पार

एक दिन में सर्वाधिक लगभग 30,000 मरीजों के ठीक हुये  

नई दिल्ली। गोंडवाना समय।
23 जुलाई 2020 को भी लगातार दूसरे दिन भी एक ही दिन में कोविड-19 से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में बड़ी तेजी दर्ज की गई। पिछले 24 घंटों में एक दिन के दौरान अब तक के सर्वाधिक यानी 29,557 मरीज कोविड-19 बीमारी से ठीक हुए हैं और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। इसके साथ ही कोविड-19 बीमारी से ठीक होने वाले लोगों की कुल संख्या बढ़कर 7,82,606 हो गई है और इस तरह इस बीमारी से ठीक होने की दर में भी सराहनीय वृद्धि दर्ज की गई है जो अभी 63.18% है। इस बीमारी से ठीक होने और अस्पताल से छुट्टी पाने वाले रोगियों की अधिक संख्या की वजह से अब तक ठीक होने वाले कुल मरीजों और इसके कुल सक्रिय मामलों के बीच का अंतर बढ़ता ही जा रहा है। यह अंतर 23 जुलाई 2020 को 3,56,439 हो गया।

कोविड-19 प्रबंधन कार्यनीतियों को जाता है श्रेय  

इस उपलब्धि का श्रेय केंद्र सरकार के नेतृत्व में जारी कोविड-19 प्रबंधन कार्यनीतियों को दिया जा सकता है। केंद्र और राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा निरंतर प्रयासों की वजह से अधिक प्रभावी रोकथाम, तेज रफ्तार से परीक्षण और शीघ्र तथा कुशल नैदानिक ​​उपचार रणनीतियां कार्य कर रही हैं। ये सब स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में विशेषज्ञों की टीमों द्वारा संचालित संयुक्त निगरानी समूह (जेएमजी) से निर्देशित हैं और इनमें एम्स,नई दिल्ली, विभिन्न राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में उत्कृष्टता केंद्रों, आईसीएमआर और एनसीडीसी के तकनीकी विशेषज्ञों द्वारा मदद की जा रही है। 

अभी देश भर में केवल 4,26,167 सक्रिय है मरीज 

केंद्र सरकार राज्यों में कोविड के तेज प्रसार वाले इलाकों में विशेषज्ञों की केंद्रीय टीम भेजकर और कोविड अस्पतालों को मदद कर एम्स, नई दिल्ली के नेतृत्व में टेली-परामर्श कार्यक्रम के माध्यम से राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के प्रयासों के साथ समन्वय करना जारी रखे हुए है। केंद्र और राज्य/केंद्र शासित प्रदेश की सरकारों के इन संयुक्त प्रयासों से मृत्यु दर को निम्न स्तर पर रखने में मदद मिल रही है। 23 जुलाई 2020 की तारीख में मृत्यु दर 2.41% है और इसमें लगातार गिरावट आ रही है। इन प्रयासों की वजह से कोविड-19 के मरीजों की संख्या को कम करने में भी मदद मिली है। अभी देश भर में केवल 4,26,167सक्रिय मरीज हैं।

No comments:

Post a Comment

Translate