Monday, August 24, 2020

आनंदीलाल भावेल आदिवासी प्रसिद्ध गायक जिला पर्यटन के बने ब्रांड एम्बेसेडर

आनंदीलाल भावेल आदिवासी प्रसिद्ध गायक जिला पर्यटन के बने ब्रांड एम्बेसेडर 

धार किले एवं छतरियों का होगा कायाकल्प 

श्री आनंदीलाल भावेल जिन्होंने आदिवासी गीत हमू काका बाबा ना पोरिया से कोंडालियो खेला और सायकल-सायकल व मारी सोना नि सायकल व जैसे प्रसिद्ध गीत विश्व में आदिवासी की छाप छोड़ने वाले गीत के गायक है, धार जिले के टाण्डा के निवासी है। 

ब्यूरो चीफ, मोहन मोरी
मो. 9977979099
धार। गोंडवाना समय। 

जिला पुरातत्व एवं पर्यटन परिषद की बैठक में धार कलेक्टर श्री आलोक कुमार सिंह द्वारा जिले के आदिवासी के प्रसिद्ध लोक गायक श्री आनंदीलाल भावेल को जिला पर्यटन का ब्रांड एम्बेसेडर बनाने की घोषणा की गई इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री आदित्य प्रताप सिंह, जिला पंचायत सीईओ श्री संतोष वर्मा और प्रसिद्ध आदिवासी लोक नृत्यक श्री कैलाश सिसोदिया झाबा भी उपस्थित रहे। 

कलेक्टर की पहल पर होगा सौंदर्यीकरण 

जिला पुरातत्व एवं पर्यटन परिषद की बैठक में यह तय किया गया कि धार का किला पुरातात्विक ऐतिहासिक एवं सौंदर्य का अप्रतिम उदाहरण है किंतु सुविधाओं एवं व्यवस्थाओं के अभाव में अपेक्षा का शिकार हो रहा है। इस प्रकार समृद्ध विरासत को समेटे हुए पंवार वंश की छत्रियों तक भी पर्यटक नहीं पहुॅचते है। कलेक्टर श्री आलोक कुमार सिंह ने इन उपेक्षित स्मारकों की सुध लेते हुए धार किला एवं छत्रियों के सौंदर्यीकरण करने की पहल किया। 

आकर्षक बगीचा एवं न्यू पाइंट विकसित किए जाएंगे

बैठक के दौरान कलेक्टर श्री आलोक सिंह ने बताया कि धार के ऐतिहासिक किले में पहुॅच मार्ग व्यवस्थित कर आकर्षक बगीचा एवं न्यू पाइंट विकसित किए जाएंगे। इसके साथ ही किले में पाथ वे, गार्डन तथा खान-पान के स्टाल भी बनाए जायेंगे। इससे धार शहर के निवासियों एवं पर्यटकों को एक सुविधायुक्त पर्यटक स्थल मिल सकेगा। इसी प्रकार छत्रियों के सौंदर्यीकरण एवं अन्य सुविधाओं हेतु भी विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए गए। 

आदिवासी क्षेत्रों में पर्यटन की अपार संभावनाए 

जिला पुरातत्व एवं पर्यटन परिषद की बैठक में कलेक्टर श्री आलोक सिंह द्वारा जिले के प्रसिद्ध लोक गायक आनंदीलाल भावेल को जिला पर्यटन का ब्रांड एम्बेसेडर बनाने की भी घोषणा की गई। श्री आलोक सिंह ने बताया कि जिले में आदिवासी क्षेत्रों में पर्यटन की अपार संभावनाए है, जिन पर निंरतर कार्य किया जा रहा है। इसी तारतम्य में केंद्र शासन द्वारा आदिवासी बालक-बालिकाओं के लिए स्वीकृत नृत्य, कला एवं सांस्कृतिक गतिविधि को मांडव में स्थापित करने के निर्देश भी दिए। 

साहसिक गतिविधियां आयोजन प्रस्ताव को सराहा 

बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री आदित्य प्रताप सिंह ने आदिवासी संस्कृति पर आधारित पर्यटन एवं माण्डव में वर्ष भर साहसिक गतिविधियॉ आयोजित करने का प्रस्ताव रखा जिसे सभी सदस्यों द्वारा सराहा गया। जिले में प्रस्तावित फैशन एंड क्राफ्ट इंस्ट्रटीयूट हेतु उपयुक्त भूमि चिन्हित करने के निर्देश अनुविभागीय अधिकारी राजस्व धार को दिए गए। 

आदिवासी महिलाओं को दी जा रही लोक शिल्प का प्रशिक्षण 

बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री संतोष वर्मा ने बताया कि माण्डव में फासिल्स पार्क के साथ-साथ अन्य स्थलों को भी विकसित किया जाएगा। जिससे मांडव में वर्ष भर पर्यटक आंनदित हो सके। इसके साथ ही मांडव स्थित एनआरएलएम केंद्र में आदिवासी महिलाओं को लोक शिल्प का प्रशिक्षण शीघ्र प्रारंभ किए जाने की जानकारी प्रदान की गई। बैठक में राज्य पुरातत्व एवं भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Translate