Friday, August 14, 2020

पुलिस बता रही दुघर्टना, परिजन बता रहे हत्या

 पुलिस बता रही दुघर्टना, परिजन बता रहे हत्या 

शहडोल। गोंडवाना समय।

पुलिस थाना सीधी तहसील जैसीनगर जिला शहडोल मध्यप्रदेश में हुई घटना को लेकर परिजनों के द्वारा लिखित शिकायत के बाद भी पुलिस के द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही थी तो उसकी लिखित शिकायत पुलिस निरीक्षक को किया गया था लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है वहीं परिजनों को ही धमकी दी जा रही थी उसके बाद अब परिजनों के द्वारा पुलिस महानिरीक्षक, मुख्यमंत्री, राज्यपाल को शिकायत दी गई है। 

घटना के गवाह भी है मौजूद 

परिजनों द्वारा दी गई लिखित शिकायत में बताया गया है कि 8 जुलाई 2020 को उन्हें सूचना मिली थी कि रामदयाल जायसवाल को की हत्या कर उसे पुल के नीचे फेंक दिया गया है। जिसे तुलसी दास जायसवाल पिता रामेस्वर जायसवाल पंकज जायसवाल ने हत्या कर आरोपियों को मृतक के शव को फेंकते हुए देखा है और ये उक्त घटना के गवाह है। 

पानी निकासी को लेकर किया था मामूली विवाद 

इस घटना के बारे में सम्बंधित थाने में उसी रात को सूचना दी गई थी कि पानी निकासी के मामूली विवाद पर घर में घुसकर प्रार्थी के पुत्र और उसके पति के साथ मारपीट की गई थी। इस घटना के रिपोर्ट लिखवाने भी पुलिस थाना गये थे। वहीं स्वर्गीय रामदत्त जयसवाल थाने घटना व रिपोर्ट के संबंध में जानकारी लेने जा रहे थे उसी बीच आरोपी नारायण केवट, नाथूराम केवट, सुरेश केवट, पूजा केवट, दीनदयाल केवट, मोनुलाल केवट, और अन्य केवट समाज के निवाशी ने उनकी हत्या कर शव को पुल के नीचे फेंक दिया था इस घटना को तुलसीदास जयसवाल, पंकज जयसवाल ने अपनी आंखों से देखा था।

दुघर्टना में वाहन में आई खरोच तो घटना स्थल पर साक्ष्य थे मौजूद 

इस घटना की जानकारी उन्होंने उसके परिवार वालो को दिया था एवं साथ में संबंधित पुलिस थाने में शिकायत किये थे परंतु पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई। जिस घटना को लेकर दुर्घटना बताकर पुलिस बच रही है ताज्जुब की बात ये की जिस गाड़ी पर सवार होकर रामद्दत जयसवाल थाना गए थे, उस गाड़ी पर एक्सीडेंट का कोई खरोच भी नही आई है। इसके साथ ही घटना स्थल पर जिस डंडे से मृतक की हत्या की गई है वो घटना स्थल पर मौजूद है। इसके साथ ही आरोपियों के चप्पल वहां पर छूटा है फिर भी पुलिस इस घटना को एक्सीडेंट बताकर जांच कर कार्यवाही को बच रही है। 

No comments:

Post a Comment

Translate