Saturday, September 19, 2020

बलिदान दिवस पर कहा यकीन दिला रही हूं मैं, हमारा गोंडवाना राज्य जरूर आयेगा-मोनिका शाह बट्टी

बलिदान दिवस पर कहा यकीन दिला रही हूं मैं, हमारा गोंडवाना राज्य जरूर आयेगा-मोनिका शाह बट्टी

163 वां बलिदान दिवस गोंडवाना इन्फोटेक हर्रई में संकल्प दिवस के रूप मनाया गया 


अनिल उईके/जिला संवाददाता
छिन्दवाड़ा/हर्रई। गोंडवाना समय।

गोंडवाना साम्राज्य के शासक महाराजा शंकर शाह जी पुत्र कुंवर रघुनाथ शाह जी का 163 वां बलिदान दिवस शुक्रवार 18 सितंबर 2020 को गोंडवाना इन्फोटेक हर्रई में जिला स्तरीय का कार्यक्रम आयोजित कर संकल्प दिवस के रूप में मनाया गया। सर्वप्रथम बलिदान दिवस कार्यक्रम की शुरूआत सुमरनी गीत गायन और पूजन कर की गई।


उसके पश्चात विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित कु मोनिका शाह बट्टी ने तथा अन्य अतिथिगणों, पदाधिकारियों और समाजसेवियों के द्वारा महाराजा शंकरशाह, पुत्र कुवंर रघुनाथ शाह एवं लिंगोवासी तिरु मनमोहनशाह बट्टी जी के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर पुष्प अर्पित किये और देवांजलि अर्पित की गई। 

पिता पुत्र की वीरता व शहादत देती है प्रेरणा 


बलिदान दिवस कार्यक्रम में समाजसेवी, बुद्धिजीवियों और पदाधिकारियों ने अपने अपने विचार सगासमाज के समक्ष रखते हुये सभा को संबोधित करते हुए गोंडवाना साम्राज्य के वीर यौद्धा महाराजा शंकरशाह पुत्र कुंवर रघुनाथ शाह के ऐतिहासिक बलिदान व गौरवशाली इतिहास को बताया। 1857 की क्रांती में अपने प्राण न्योछावर करने वाले वीर शहीद गोण्डवंशीय राजा शंकर शाह कुंवर रघुनाथ शाह जो कि गढ़ा मंडला और जबलपुर मध्यप्रदेश के गोंड राजवंश के प्रतापी राजा संग्राम शाह के वंशज थे।

गोंडवाना राजवंश की कई पीढ़ियों ने देश और आत्मसम्मान के लिये अपना बलिदान देने में कभी संकोच नहीं किया। अंग्रेजों की खिलाफत कर विद्रोह करने के लिये मुखर आवाज उठाने वाले वीर प्रतापी राजा शंकर शाह व कुंवर रघुनाथ शाह जी का ऐतिहासिक शहादत आज भी हमारे लिये प्रेरणा के रूप में साथ है। 

गोंडियन संस्कृति की दिखी झलक 


बलिदान दिवस के अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम में हर्रई करैया की नन्ही बच्चियों और गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन हर्रई की टीम ने शानदार नृत्य प्रस्तुत कर लोगों को मनमोहित किया,

उनकी शानदार प्रस्तुति पर गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन हर्रई और समाजसेवियों के द्वारा सांत्वना पुरस्कार स्वरूप राशि प्रदान किया गया

मोनिका शाह बट्टी का हुआ भव्य स्वागत

कुमारी मोनिका मनमोहनशाह बट्टी के अखिल भारतीय गोंडवाना पार्टी की नई अध्यक्ष बनने एवं हर्रई नगर प्रथम आगमन पर युवाओं ने हर्रई से सैकड़ो मोटरसाइकिल से अगुवाई करने हर्रई-नरसिंहपुर बॉर्डर लालपुर-कुण्डालीकला पहुचे जहां उनका युवाओ कें द्वारा भव्य स्वागत एवं सम्मान किया गया। इसके बाद बाइक रैली के माध्यम से हर्रई-नरसिहपुर बॉर्डर से अगुवाई करते होते हुए हर्रई के गोंडवाना इन्फोटेक में आते समय रास्ते में पड़ने ग्रामों में भव्य स्वागत सम्मान किया गया। 

फड़ापेन ठाना में मत्था टेका

गोंडवाना साम्राज्य के अमर शहीद महाराजा शंकरशाह जी व कुंवर रघुनाथ शाह जी के 163 वे बलिदान दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रुप में शामिल हुई मोनिका मनमोहन शाह बट्टी ने कार्यक्रम स्थल पर पहुंचते ही सबसे पहले उन्होंने फड़ापेन ठाना में अपना मत्था टेका और पूजन किया। इसके बाद वे मंच पर पहुंची यहाँ भी भागोंपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष कु मोनिका शाह बट्टी का पार्टी के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओ और सामाजसेवियो ने हल्दी चावल का तिलक लगाकर भव्य स्वागत किया और मुकुट पहनाकर सम्मान किया। 

आपकी सेवा के लिए सदैव आपके बीच खड़ी रहूंगी


इसके बाद कार्यक्रम स्थल पर मौजूद लोगो को संबोधित करते हुए कु मोनिकाशाह बट्टी तो कार्यक्रम स्थल पर पहले से ही भारी संख्या में मौजूद लोगों की भीड़ देखकर भावुक हो गई और लोगो को सम्बोधित करते हुए कहा यहाँ इतनी बड़ी संख्या में मौजूद लोगो को देखकर यह विश्वास हो गया है कि आप लोगो का प्यार मेरे पिता जी को मिला उसी का परिणाम है कि आज आप लोग आज भारी संख्या में यहां कार्यक्रम में उपस्थित हुए हो, आप लोगो ने जो प्यार मेरे पिता जी को दिया है, वही प्यार मुझे भी दो अपने पैरो में मुझे थोड़ी से जगह दे दो में आपकी सेवा के लिए सदैव आपके बीच खड़ी रहूंगी।

मैं मनमोनशाह बट्टी का खून हूं मर जाऊंगी लेकिन बिकुंगी नहीं


इसके साथ ही उन्होंने कहा की मुझे बाहर से खबर सुनने को मिल रही है की भागोंपा पार्टी तो विलय होने वाली है मोनिका ने तो इनसे इतने लिए है और पैसे लेकर बिक गई है। इसका करारा जवाब देते हुए मोनिका शाह ने कहा की मैं मनमोहन शाह बट्टी जी का खून हूं, मैं उनका सपना हर हाल में पूरा करूंगी, उनके द्वारा सामाज उत्थान के लिए कार्य जीवन पर्यन्त किये गए और मैं भी सामजिक उत्थान के लिए कार्य करती रहूंगी। इसके साथ ही पार्टी को मजबूत करूंगी।


              जैसे की मेरे पिता जी कहा करते थे की मेरे मरने की खबर आप सुनोगे पर बिकने की नहीं, इसी तरह में भी आप लोगों के सामने शपथ लेती हूं कि मैं मनमोनशाह बट्टी का खून हु मर जाऊंगी लेकिन बिकुंगी नहीं। आप लोगो साथ देखकर मुझे लगता है की एक न एक दिन गोंडवाना राज्य जरूर आयेगा। इस कार्यक्रम के दौरान पार्टी के वरिष्ट कार्यकर्ता और हर्रई के आसपास के ग्रामीण सहित छिन्दवाड़ा जिला के अन्य तहसीलो, अमरवाड़ा, तामिया, पांढुर्ना, चौरई, बिछुआ, जुन्नारदेव, सौसर सहित अन्य सामाजिक संगठन के लोग भारी संख्या में बलिदान दिवस मनाने गोंडवाना इन्फोटेक हर्रई पहुँचे। 

1 comment:

Translate