Saturday, September 19, 2020

आदिवासी समाज कई वर्षों से वनभूमि में निवास कर वनों की कर रहा रक्षा-दिनेश राय

आदिवासी समाज कई वर्षों से वनभूमि में निवास कर वनों की कर रहा रक्षा-दिनेश राय 

जिले के 730 आदिवासी परिवारों उनकी भूमि का मिला मालिकाना हक 


सिवनी। गोंडवाना समय। 

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा गरीब कल्याण सप्ताह के चौथे दिन प्रदेश के 27 हजार 371 आदिवासियों को वनाधिकार पट्टों का वितरण कर खुशियों की सौगात देने का कार्य किया गया। वहीं शनिवार 19 सितम्बर 2020 को भोपाल में आयोजित वनाधिकार उत्सव राज्यस्तरीय कार्यक्रम के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री शिवराज चौहान द्वारा आदिवासी परिवारों को उनकी वन भूमि का मालिकाना हक प्रदान किया गया। वनाधिकार उत्सव कार्यक्रम का जिला स्तरीय कार्यक्रम कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में संपन्न हुआ।
           जिसमें सिवनी विधायक श्री दिनेश राय, भाजपा जिलाअध्यक्ष श्री आलोक दुबे, जिला पंचायत सदस्या श्रीमती रैनवती मानेश्वर, वनमण्डलाधिकारी उत्तर वनमण्डल श्री प्रदीप मिश्रा, वनमण्डलाधिकारी दक्षिण वनमण्डल श्री पी.पी. टिटारे, अपर कलेक्टर श्री मूलचंद वर्मा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सुनील दुबे, उपसंचालक पेंच श्री एन.बी.सिरसैया, सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग श्री सतेन्द्र मरकाम सहित अन्य संबंधित अधिकारियों व जिले के विभिन्न विकासखण्डों से आए हितग्राहियों की उपस्थिति रही। जिला स्तरीय कार्यक्रम में सभी के द्वारा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के उद्बोधन को देखा व सुना गया। वनाधिकार उत्सव कार्यक्रम के तहत सिवनी जिले के 730 हितग्राहियों को उनके वनाधिकार पत्र का वितरण किया गया।

आदिवासी समाज प्रकृति से सीधे रूप से जुड़ा हुआ है  


विधायक श्री दिनेश राय ने अपने संबोधन में वनभूमि में खेती कर रहे तथा आवास बनाकर रह रहे आदिवासी भाईयों/बहनों को उनकी भूमि का मालिकाना हक प्रदान करने के लिए वनाधिकार का वितरण किए जाने को हर्ष का विषय बताते हुए कहा गया कि आदिवासी समाज कई वर्षों से वनभूमि में निवास कर वनों की रक्षा कर रहा है तथा खेती कर अपने जीवन यापन करता आ रहा है। यह समाज प्रकृति से सीधे रूप से जुड़ा हुआ है। प्रदेश शासन द्वारा आज वनाधिकार उत्सव कार्यक्रम के तहत प्रदेश के ऐसे 27 हजार से अधिक परिवारों को उनके भूमि का अधिकार पत्र का वितरण कर निश्चित रूप से आदिवासी समाज के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त की है। इस योजना से सिवनी जिले के 730 आदिवासी परिवारों उनकी भूमि का मालिकाना हक मिलना हर्ष का विषय है। जिसके लिए वनविभाग, आदिमजाति कल्याण विभाग सहित सम्पूर्ण जिला प्रशासन बधाई का पात्र है। 

घंसौर विकासखण्ड के 652 को मिला वन अधिकार पत्र 

कार्यक्रम के अंत में जनप्रतिनिधियों द्वारा प्रतीकात्मक स्वरूप हितग्राहियों को उनके वन अधिकार पत्र का वितरण किया गया। लाभांवित सभी हितग्राहियों द्वारा प्रदेश शासन व जिला प्रशासन का धन्यवाद देते हुए हर्ष व्यक्त किया। उल्लेखनीय है कि 19 सितंबर 2020 को आयोजित कार्यक्रम में कुरई विकासखण्ड के 39, लखनादौन विकासखण्ड के 35, छपारा विकासखण्ड के 3 तथा घंसौर विकासखण्ड के 652 एवं धनौरा विकासखण्ड के एक हितग्राही सहित कुल 730 हितग्रहियों को वनाधिकार पट्टे का वितरण किया गया है।


No comments:

Post a Comment

Translate