Friday, September 4, 2020

आदिवासी की जमीन पर अवैध कब्जा कर मारपीट पर खमारपानी पुलिस ने नहीं की कार्यवाही

आदिवासी की जमीन पर अवैध कब्जा कर मारपीट पर खमारपानी पुलिस ने नहीं की कार्यवाही 

पुलिस चौकी खमारपानी कार्यवाही की मांग को लेकर पहुंची पीड़िता व ग्रामीणजन 


छिन्दवाड़ा/खमारपानी। गोंडवाना समय। 

आदिवासी बाहुल्य जिला जहां पर पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ व उनके पुत्र सांसद नकुलनाथ प्रतिनिधित्व करते है। छिंदवाड़ा जिले में आदिवासियों के साथ अन्याय, अत्याचार, शोषण के मामले जब आवाज उठती है तो सामने आते है नहीं अधिकांशतय: दबाव व डर के कारण दब जाते है।
             ऐेसा ही एक मामला खमारपानी पुलिस चौकी के तहत आने वाले ग्राम सावंरी के पीड़ित आदिवासी परिवार का है, जहां पर गैर आदिवासी के द्वारा आदिवासी की जमीन पर कब्जा तो कर ही लिया है साथ में आदिवासी परिवार की महिला के साथ जातिगत आधार पर अपमानित भी कर रहा है और मारपीट रहा है।
           इस मामले में खमारपानी पुलिस चौकी के अंतर्गत आने वाले ग्राम सांवरी में पिछले माह राजकुमार पिता सम्पत कोल्हटकर साहू के द्वारा ग्राम के ही आदिवासी की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करने के बाद आदिवासी महिला के साथ जातिगत आधार पर अपमानित करते हुये अपशब्दों का प्रयोग कर मारपीट करने का मामला सामने आया था। जिसकी शिकायत पुलिस चौकी खमारपानी में की गई थी। 

घटना को बीता 2 माह, पुलिस ने नहीं कोई कार्यवाही 


घटना के लगभग 2 माह बीत जाने के बाद भी कोई कार्रवाही नहीं हुई हो तो इस घटना के संबंध में गुरुवार 3 सितम्बर 2020 को सर्व आदिवासी समाज के सगाजनों के द्वारा आदिवासी की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करने के साथ ही मारपीट करने वाले पर जल्द से जल्द कार्रवाही करने की मांग को लेकर खमारपानी पुलिस चौकी पहुँचे थे।
       जहां पर पीड़ित आदिवासी महिला ने कहा की कुछ राजनेताओं के संरक्षण के कारण पुलिस आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही नही कर रही है। कार्यवाही की मांग को लेकर सर्व आदिवासी समाज के पदाधिकारी व ग्रामीणजन मौजूद रहे।  

No comments:

Post a Comment

Translate