Sunday, December 13, 2020

संयुक्त किसान मोर्चा का 4 मांगों के अलावा अन्य मांग से कोई लेना-देना नहीं

संयुक्त किसान मोर्चा का 4 मांगों के अलावा अन्य मांग से कोई लेना-देना नहीं 

सोमवार को 1 दिन का अनशन तो देश भर में किसान करेंगे धरना प्रदर्शन 




नई दिल्ली। गोंडवाना समय।

दिल्ली के बोर्डरों पर किसानों के सभी मोर्चों (कुंडली बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, पलवल बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर) पर 14 दिसंबर 2020 दिन सोमवार को सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक किसान नेता 1 दिन का अनशन करेंगे। वहीं देशभर में जिला मुख्यालयों पर भी किसानों द्वारा धरना प्रदर्शन किया जायेगा।

ये है संयुक्त किसान मोर्चा की 4 मांगें हैं 

3 कृषि कानून रद्द किए जाएं, एमएसपी गारंटी कानून बनाया जाए, प्रस्तावित बिजली बिल रदद् किया जाए और पराली जलाने के मुद्दे पर किसानों का शोषण बन्द किया जाए। इसके अलावा संयुक्त किसान मोर्चा की कोई मांग नहीं है। हमारा किसी अन्य मांग से कोई लेना देना नहीं है। 

बीकेयू भानु संगठन संयुक्त किसान मोर्चा का हिस्सा नहीं 

किसान संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारियों ने बताया कि बीकेयू भानु संगठन संयुक्त किसान मोर्चा का हिस्सा नहीं है, चिल्ला बॉर्डर से हटने का फैसला बीकेयू भानु संगठन का निजी फैसला है, संयुक्त किसान मोर्चा के आंदोलन का बीकेयू भानु संगठन से कोई लेना देना नहीं है। हमारा आंदोलन पहले की तरह ही चलता रहेगा। 

वीएम सिंह को संयोजक के पद से हटाया

किसान नेता वीएम सिंह द्वारा बीते दिवस दिया गया बयान उनका अपना निजी बयान है, एआईकेएससीसी द्वारा मीटिंग कर के वीएम सिंह को संयोजक के पद से हटा दिया गया है। वीएम सिंह द्वारा दिये गए किसी भी बयान से संयुक्त किसान मोर्चा का कोई लेना देना नहीं है। 

हरियाणा पुलिस की तानाशाही की निंदा

संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारियों ने जानकारी देते हुये बताया कि पलवल के धरने पर पहुंच रहे मध्यप्रदेश के किसानों की गाड़ियों के चालान गैरकानूनी तरीके से होडल में किये जा रहे हैं, संयुक्त किसान मोर्चा हरियाणा पुलिस की तानाशाही की निंदा करता है। 


No comments:

Post a Comment

Translate