गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Wednesday, December 2, 2020

नही तो मध्य प्रदेश की गिनती बीमारू राज्यों में होने लगेगी-विष्णु करोसिया

नही तो मध्य प्रदेश की गिनती बीमारू राज्यों में होने लगेगी-विष्णु करोसिया 

कर्ज लेकर सरकार चलाने वाले मुख्यमंत्री शिवराज अपने कार्यों की कभी चर्चा नहीं करते 


सिवनी। गोंडवाना समय। 

जिला कांग्रेस महामंत्री एडवोकेट श्री विष्णु करोसिया ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि कर्ज लेकर प्रदेश सरकार चलाने वाले मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान अपने कार्यकाल में किये गये कार्यो की कभी चर्चा नहीं करते क्योंकि विगत 8 माह से सिर्फ पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ पर झूठा दोषारोपण करते रहे है। किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ, संबल योजना बंद कर दी गयी, शिकायत 181 बंद कर दी गयी, बिजली के बिल कम नहीं किये गये, सभी लोग जानते है कि श्री कमलनाथ द्वारा ऐसी कोई योजना बंद नहीं की गयी। श्री कमलनाथ द्वारा जो मुख्यमंत्री कन्या विवाह 51 हजार रू. कन्या के खाते में दी जाती थी उस राशि को घटाकर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने 25 हजार कर दिया।

48 करोड़ रूपये प्रति दिन कर्ज ले रही शिवराज सरकार 

जिला कांग्रेस महामंत्री एडवोकेट श्री विष्णु करोसिया ने आगे कहा कि मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा बिजली के बिलो में बेतहाशा वृद्धि, डीजल-पेट्रोल में मनमाना टेक्स उसके बाद भी लगातार प्रदेश सरकार कर्ज ले रही है, लगभग 48 करोड़ रूपये प्रति दिन शिवराज सिंह सरकार कर्ज ले रही है। मध्यप्रदेश के ऊपर 2 लाख 6 हजार करोड़ रूपये का कर्ज हो गया है। इस हिसाब से प्रदेश का प्रत्येक बच्चा 34 हजार रूपये का कर्जदार है। करोना काल में भी प्रदेश सरकार द्वारा गरीब प्रवासी मजदूरो की कोई मदद नही की गयी, स्वास्थ्य सेवाओं पर भी ऐसी कोई छूट नहीं दी गयी जिससे आम आदमी को राहत मिल सकें।

लगातार कर्ज में डूब रहा मध्यप्रदेश 

जिला कांग्रेस महामंत्री एडवोकेट श्री विष्णु करोसिया ने आगे कहा कि लगातार कर्ज में डूब रहा मध्यप्रदेश का यदि यही हाल रहा तो शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार की हालत प्रदेश में बहुत बुरी हो जायेगी। सरकारी कर्मचारियों को वेतन के लाले भी पड़ सकते है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ पर झूठे आरोप लगाने की बजाय प्रदेश की अर्थव्यवस्था को सुधारने का प्रयास करें नही तो मध्य प्रदेश की गिनती बीमारू राज्यों में होने लगेगी। 


No comments:

Post a Comment

Translate