Monday, February 1, 2021

मक्का के 13,500 रूपये मांगने पर व्यापारी ने आदिवासी किसान को पीटा, छपारा थाना में दर्ज हुआ मामला

मक्का के 13,500 रूपये मांगने पर व्यापारी ने आदिवासी किसान को पीटा, छपारा थाना में दर्ज हुआ मामला 

ग्राम बिजना मुतिया के व्यापारी तेजीलाल ठाकुर पर छपारा पुलिस ने की कार्यवाही 


केवल डेहरिया संवाददाता
सिवनी/छपारा। गोंडवाना समय।

छपारा पुलिस थाना अंतर्गत ग्राम बिजना मुतिया में खेती किसानी का कार्य कर अपना परिवार का पालन पोषण करने वाले आदिवासी किसान हरिराम बरकड़े की रिपोर्ट पर छपारा पुलिस थाना द्वारा मक्का की रकम 13, 500 रूपये नहीं देने और आदिवासी किसान के द्वारा मांगने पर किसान के ही घर पर व्यापारी तेजीलाल ठाकुर के द्वारा दबंगता दिखाते हुये घर अंदर बुरी तरह से मारपीट करने पर व्यापारी तेजीलाल ठाकुर पर छपारा पुलिस थाना द्वारा 294, 323, 506, 452 और एससीएसटी एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। 

गांव-गांव गल्ला खरीदी का कार्य करता है तेजीलाल ठाकुर 

छपारा पुलिस थाना अंतर्गत ग्राम बिजना मुतिया में खेती किसानी का काम करने वाले हरिराम बरकड़े जिनका लगभग 8 वर्ष पूर्व एक्सीडेंट हो गया था जिससे दाहिने हाथ से उसे कोई काम भी नहीं बनता है। इसके बाद भी वह परिवार के साथ मिलकर खेती किसानी का काम करते रहते है। किसान हरिराम बरकड़े के द्वारा पिछले वर्ष ग्राम बिजना मुतिया के व्यापारी तेजीलाल पिता होमसिंह ठाकुर को जो कि गल्ला खरीदी बिक्री का काम करता है, उसे घर का मक्का बेचा था। जिसका कुछ रूपया व्यापारी तेजीलाल द्वारा हरिराम बरकड़े को दे दिया था और बाकी बचा हुआ 13,500 रूपया को नही दिया था। 

किसान के घर में व्यापारी ने किया मारपीट 

आदिवासी किसान हरिराम बरकड़े के द्वारा जब भी व्यपारी तेजीलाल ठाकुर के पास मक्का के बाकी रह गये 13, 500 रूपये मांगने के लिये जाता था तो उसे टालकर भगा देता था। वहीं बीते दिनों 29 जनवरी 2021 को सुबह 8:30 बजे करीबन किसान हरिराम बरकड़े द्वारा अपने घर के पास जब व्यापारी पहुंचा तो किसान के द्वारा रूपया मांगा गया तो व्यापारी तेजीलाल ठाकुर ने अभद्रतापूर्वक किसान से कहा कि तुम मुझसे बार-बार रूपया मांगकर परेशान करते हो, मैं तुझे कोई रूपया नही दूंगा, तु मेरा कुछ नहीं कर सकता कहकर धमकाया। 

मारपीट कर जाते हुये जान से खत्म करने की दिया धमकी 

किसान हरिराम बरकड़े के द्वारा व्यापारी को कहा कि आओ घर में बैठो तो व्यापारी तेजीलाल ठाकुर घर अन्दर घुसकर अपशब्दों का प्रयोग कर तुझे कोई रूपया नही दूंगा कहते हुए किसान के साथ मारपीट किया जिससे किसान को चोट भी आई है। घटना के समय कुसुम मर्सकोले, भागबती मर्सकोले, महक मर्सकोले ने देखकर बीच बचाव भी किया। वहीं व्यापारी तेजीलाल ठाकुर ने मारपीट करने के बाद  जाते हुये किसान हरिराम बरकड़े को धमकी भी दिया कि आज तो बच गये हो फिर कभी भी दूसरा हाथ तोड़कर जान से खत्म कर दूंगा। 


No comments:

Post a Comment

Translate