Tuesday, February 16, 2021

सीधी दुर्घटना में 45 मृत व्यक्तियों के परिजनों को 7 लाख रूपए की सहायता मंजूर

सीधी दुर्घटना में 45  मृत व्यक्तियों के परिजनों को 7 लाख रूपए की सहायता मंजूर

मृतकों में 24 पुरुष, 20 महिलाएँ और एक बच्चा शामिल

सीधी और निवाड़ी दुर्घटना में मृत व्यक्तियों को मंत्रि-परिषद ने दी श्रद्धांजलि


भोपाल। गोंडवाना समय। 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंगलवार को मंत्रालय में संपन्न हुई मंत्रि-परिषद की बैठक के पूर्व सीधी जिले की बस दुर्घटना और निवाड़ी जिले में खदान धँसने से मृत व्यक्तियों को एक मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रि-परिषद के सदस्यों को सीधी जिले में हुई बस दुर्घटना के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रात: 7:30 बजे बस अनियंत्रित होने के कारण बाणसागर बांध की नहर में गिरी। तत्काल प्रभाव से आरंभ हुआ रैस्क्यू आॅपरेशन पूर्ण हो चुका है। इस दुर्घटना में 45 लोगों की मृत्यु हई है, जिसमें 24 पुरुष, 20 महिलाएँ और एक बच्चा है। मुख्यमंत्री ने निवाड़ी जिले में एक निजी खदान में मिट्टी धँसने से तीन व्यक्तियों की मृत्यु के संबंध में भी अवगत कराया।

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा शोक संवेदना

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने सीधी में हुई बस दुर्घटना पर संवेदना व्यक्त की है। केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने भी गहरा दु:ख व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर केंद्र शासन द्वारा 2 लाख रूपए और राज्य शासन द्वारा 5 लाख रूपए प्रत्येक मृत व्यक्ति के परिजन को सहायता दी जाएगी। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा तात्कालिक सहायता के रूप में संबंधित परिजनों को 10-10 हजार रूपए की सहायता उपलब्ध करा दी गई है।

घायलों के इलाज की व्यवस्था

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने प्रत्येक घायल व्यक्ति को 50 हजार रूपए की सहायता देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि घायल व्यक्तियों का हरसंभव इलाज राज्य शासन द्वारा कराया जाएगा। जिला प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं कि मृत व्यक्तियों के अंतिम संस्कार की व्यवस्था पूरी संवेदनशीलता के साथ की जाए।

तीन जिलों का प्रशासनिक अमला लगा रैस्क्यू आॅपरेशन में

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि दुर्घटना की सूचना मिलते ही तत्काल रेस्क्यू आॅपरेशन आरंभ कर दिया गया था। तीन जिलों के कलेक्टर, एस.पी., प्रशासनिक अमला, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमें तत्काल सक्रिय हुईं। क्रेन, हाइड्रा और एंबुलेंस, डॉक्टर सहित राहत एवं सहायता के सभी आवश्यक संसाधन मौके पर लगातार सक्रिय रहे। भोपाल से भी स्थिति का निरंतर समन्वय किया जाता रहा। वहीं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इस दुर्घटना को देखते हुए आज आयोजित होने वाले प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के गृह प्रवेशम कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया। इसके साथ ही रैस्क्यू आॅपरेशन पूर्ण होने तक कैबिनेट बैठक को भी आगे बढ़ाया गया।


No comments:

Post a Comment

Translate