Sunday, February 14, 2021

ग्रामीणों को रोजगार देने ग्राम पंचायत खामी में मनरेगा बनी मददगार

ग्रामीणों को रोजगार देने ग्राम पंचायत खामी में मनरेगा बनी मददगार

श्रमिकों से रूबरू होकर गोंडवाना समय ने जानी जमीनी हकीकत 


अजय नागेश्वर संवाददाता
उगली। गोंडवाना समय।

सरकार ने लॉकडाउन में मनरेगा में निर्माण कार्यों की मंजूरी देकर श्रमिकों की जिंदगी पटरी पर लाने का प्रयास किया है। जनपद पंचायत केवलारी के अंतर्गत ग्राम पंचायत खामी में मनरेगा श्रमिकों को रोजगार प्रदान किया जा रहा है। अभी नहरों की सफाई का कार्य किया जा रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि मनरेगा योजना जीवनदायिनी बन कर सामने आयी है। वहीं मनरेगा योजना लॉकडाऊन के दौरान शहरी क्षेत्रों से वापस अपने गांव लौटे लोगों के लिए बड़ा सहारा बनी है। 

मनरेगा में 661 एक्टिव श्रमिक, 19500 मानव दिवस हुये सृजित 


देखकर लग रहा है मनरेगा कोरोना जैसे संकट काल के लिए बनायी गई योजना है। श्रमिकों के लिए रोजगार की गारंटी देने वाली मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम) गांव में ही रहकर जीने का सहारा बन रही हैं। मनरेगा श्रमिकों से बातचीत में उन्होंने बताया कि हमें 190 रूपए प्रतिदिन मजदूरी मिल रही है। वही ग्राम के सहायक सचिव श्री तोमेंद्र क्षीरसागर ने बताया कि 2 जनवरी 2021 रोजगार दिवस 464 जॉब कार्ड धारियों को अब तक 19500 मानव दिवस सृजित हो चुके हैं। मनरेगा में 661 एक्टिव श्रमिक है अभी 137 मजदूर कार्य कर रहे हैं।

अच्छे कार्य करने वाले मजदूरों का ताली-थाली से किया जाता है सम्मानित 


ग्राम पंचायत खामी में मनरेगा में अच्छे कार्य करने वाले मजदूरों को ताली बजाकर सम्मानित किया जाता है। 2 जनवरी 2021 रोजगार दिवस के अवसर पर ताली, थाली और ग्लास देकर 40 उत्कृष्ट कार्य करने वाले मजदूरों को सम्मानित किया गया। हम आपको बता दें कि जनपद पंचायत केवलारी अंतर्गत ग्राम पंचायत खामी में पदस्थ रोजगार सहायक श्री तोमेंद्र क्षीरसागर इन्हें मनरेगा योजना के सफल संचालन हेतु अच्छा खासा अनुभव है। प्रशिक्षण मेट है एवं ग्रामीण इंजीनियर का प्रमाण पत्र भी प्राप्त है। पूर्व में कलेक्टर श्री प्रवीण सिंह द्वारा मनरेगा एवं आवास में उत्कृष्ट कार्य हेतु सम्मानित किया जा चुका है। इन्होंने बताया मनरेगा योजना के सफल क्रियान्वयन में जनपद केवलारी में पदस्थ मुख्य कार्यपालन अधिकारी व एपीओ का मार्गदर्शन व सहयोग भी निरंतर मिलते रहता है। 

No comments:

Post a Comment

Translate