Wednesday, March 31, 2021

इंद्रकला उईके बिना कोचिंग के घर पर ही तैयारी करके देश सेवा के लिये बीएसएफ में ज्वानिंग करने पहुंंची

इंद्रकला उईके बिना कोचिंग के घर पर ही तैयारी करके देश सेवा के लिये बीएसएफ में ज्वानिंग करने पहुंंची

बरघाट विकासखंड के ग्राम केसलाकला की बेटी इंद्रकला उईके की पश्चिम बंगाल में होगी ट्रैनिंग 


किशोर तेकाम संवाददाता

बरघाट। गोंडवाना समय।

जहां एक ओर बिना कोचिंग के सफलता नहीं मिलेगी यह कहने वालों के लिये प्रेरणास्त्रोत बनकर बरघाट विकासखंड की केसलाकला ग्राम की बेटी इंद्र कला उईके सामने आई है। हम आपको बता दे कि इंद्रकला उईके ने बिना कोचिंग के ही बीएसएफ की परीक्षा पास करके देश सेवा के लिये भर्ती होकर सफलता पाई है।


बरघाट विकासखंड के ग्राम केसला कलां के निवासी शिक्षक श्री गनपन सिंह उईके एवं माता श्रीमती श्यामा उईके की पुत्री इंद्रकला उईके का चयन बीएसएफ में होने से परिवार, समाज व क्षेत्र में उत्साह व्याप्त है।

ग्राम केसला कला की इंद्र कला उइके के बीएसएफ में नियुक्ति होने पर समस्त सगा समाज के द्वारा 28 मार्च को 2021 को देश सेवा में चयन के लिये लिए हर्ष उल्लास के साथ विदाई दी गई। इस दौरान आशा मर्सकोले समाजसेविका सहित सर्व आदिवासी समाज के पदाधिकारिगण मौजूद रहे। 

प्राथमिक शिक्षा से पी जी कॉलेज सिवनी तक शैक्षणिक संघर्ष 

इंद्रकला उईके ने प्रारंभिक शिक्षा कक्षा 5 वीं तक उन्नयन प्राथमिक शाला सलंगटोला में प्राप्त की वहीं कक्षा 6 से 8 वीं तक शासकीय माध्यमिक शाला भमोड़ी में अध्ययन किया। कक्षा 9 से 12 तक शासकीय उच्चत्तर उत्कृष्ट विद्यालय बरघाट में की इसके बाद स्नातक पी जी कॉलेज सिवनी से किया है। वहीं इसके साथ ही इंद्रकला उईके ने डीएड की शिक्षा जिला शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान केवलारी से किया है। 

पश्चिम बंगाल में की ज्वानिंग,

वर्ष 2018 में बीएसएफ की परीक्षा इंद्रकला उईके ने बिना कोचिंग के घर पर ही तैयारी करके उत्तीर्ण किया जिसका परिणाम मई 2019 को आया था। इसके बाद वर्ष 2020 में शारीरिक जांच आदि हुआ था, वहीं 31 मार्च 2021 को इंद्रकला उईके ने बैकुण्डपुर, सालेगुड़ा, जलपाईगुड़ी, पश्चिम बंगाल में ज्वानिंग किया है। जहां पर इंद्रकला उईके ट्रेनिंग होगी। 

बेटी के देश सेवा में चयन से खुश है माता-पिता 


आईपीएस बनने का लक्ष्य लेकर कर्तव्य पथ पर आगे बढ़ रही इंद्रकला उईके के पिता श्री गनपत उईके जो कि खुर्सीपारकला स्कूल में शिक्षक के पद पर पदस्थ है उन्होंने गोंडवाना समय से चर्चा करते हुये बताया कि बेटी इंद्रकला उईके बचपन से ही शैक्षणिक अध्ययन में मेहनत करती रही है। वहीं उसका लक्ष्य आईपीएस बनने का है लेकिन वह अन्य परिक्षाओं की तैयारी भी करती रहती है।

इसके तहत ही बीएसएफ में बेटी इंद्रकला का चयन हुआ है। हमारे परिवार, समाज, क्षेत्र के लिये गर्व की बात है कि देश की सेवा के लिये बेटी इंद्रकला का चयन हुआ।



जिसे हमने खुशी खुशी देश सेवा के लिये परिवार, समाज व क्षेत्रिय नागरिकों की उपस्थिति में भेजा है। वहीं उन्होंने बताया कि बेटी इंद्रकला का चयन वर्ग 2 संविदा में भी हो गया था। इन सब परीक्षाओं की तैयारी बेटी इंद्रकला उईके द्वारा घर पर ही बिना किसी कोचिंग की गई है। वहीं उनकी माता श्यामा उईके जनपद सदस्य भी रही है जो कि सामाजिक कार्यों में सक्रिय रहती है। 

No comments:

Post a Comment

Translate