Monday, March 8, 2021

मरार माली समाज मंगल भवन, शिक्षा के मंदिर के रूप में बनायेगा विशेष पहचान

मरार माली समाज मंगल भवन, शिक्षा के मंदिर के रूप में बनायेगा विशेष पहचान 

मरार माली समाज ने ज्योतिबा फूले व सावित्री बाई फूले के विचारों को किया साकार 

सभी समाज के लिये मरार माली समाज की प्रेरणादायी पहल

मरार माली समाज मंगल भवन का लोकार्पण कार्यक्रम में लिया निर्णय 


सिवनी/बरघाट। गोंडवाना समय।

शिक्षा के क्षेत्र में जो उजियारा फैलाने का कार्य ज्योतिबा फूले जी व सावित्री बाई फूले ने किया था उसे साकार रूप से परिणत करने का कार्य मरार माली समाज ने सार्थक करने की ओर कदम बढ़ाया है। देखा जाये तो सभी समाज वर्ग के सामाजिक संगठनों के द्वारा अपने अपने समाज का मंगल भवन बनाया जा रहा है। जहां पर वे सामाजिक मीटिंग व सामाजिक कार्यक्रमों के साथ उक्त भवन को किराये पर देकर समाजिक संगठन संचालन के लिये आर्थिक व्यवस्था भी जुटाते है।
            


वहीं बरघाट में मरार माली समाज ने समाजिक मंगल भवन के लोकापर्ण होने के पश्चात प्रेरणादायी पहल किया है। मरार माली समाज द्वारा समस्त समाज वर्ग के विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण प्रशिक्षण की आवश्यकता के चलते कोचिंग सेंटर चलाने के लिये देने का सराहनीय निर्णय लिया है। इतना ही नहीं मरार माली समाज विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य निमार्ण के लिये लाईब्रेरी भी प्रारंभ करेगा जो कि प्रतियोगिता परिक्षा सफलता दिलाने व सामान्य ज्ञान को बढ़ाने में सहायक सिद्ध होगी।


        मरार माली समाज के मंगल भवन के लोकापर्ण कार्यक्रम के दिन ही शिक्षा के क्षेत्र में विद्यार्थियों का भविष्य निर्माण को लेकर मरार माली समाज के द्वारा लिये निर्णय की जानकारी मिलने पर सभी समाज के प्रशंसा किया जाकर इसे प्रेरणादायक पहल निरूपित किया जा रहा है और बुद्धिजीवि मरार माली समाज मंगल भवन के विषय में यह तर्क दे रहे है कि मरार माली समाज मंगल भवन शिक्षा का मंदिर के रूप में अपनी विशेष पहचान बनायेगा। 

समस्त वर्गाें के शैक्षणिक उत्थान के प्रस्ताव पर सभी ने दिया सहमति 


मरार माली समाज मंगल भवन का लोकार्पण कार्यक्रम में स्वागत भाषण, मंत्री श्री रामकिशोर कांवरे का संदेश देने के साथ श्री गजानंद पंचेश्वर ने मरार माली समाज के भवन का सदुपयोग करने की बात का प्रस्ताव रखते हुये कहा कि मरार माली समाज के भवन का उपयोग सामाजिक कार्यक्रमों के साथ साथ समस्त वर्गों के लिये भी काम आ सके इसके लिये हमें पहल करना चाहिये।


        मरार माली समाज भवन के सदुपयोग के लिये श्री गजानंद पंचेश्चर ने समाज के बीच में प्रस्ताव रखते हुये कहा कि सभी समाज वर्गों के विद्यार्थियों के शैक्षणिक उत्थान व विकास के लिये कोचिंग सेंटर में प्रशिक्षण दिये जाने के लिये हम मरार माली समाज के भवन को दे सकते है जो कि सभी समाज के लिये पे्रेरणादायी पहल होगी, जिस पर समाजिक बंधुगणों व कार्यक्रम में पहुंचे समाज के अतिथियों ने इसकी सहमति भी दिया। 

समाज के विकास हेतु एकजुटता के साथ करेंगे कार्य 


मरार माली समाज मंगल भवन का लोकार्पण कार्यक्रम में वक्तागणों द्वारा अपने वक्तव्यों में सभी लोगों ने अपनी-अपनी शुभकामनाएं प्रेषित की एवं समाज के विकास के लिए बात रखी। वहीं श्री भगत सिंह कुशवाहा प्रदेश अध्यक्ष भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा अध्यक्ष ने कहा कि समाज में शिक्षा के क्षेत्र में विशेष ध्यान देने की आवश्यकता के साथ सभी लोगों को मिलकर समाज को शैक्षणिक विकास की दिशा में ले जाने के लिये एकता के साथ में कार्य करने की आवश्यकता है।
        मरार माली समाज मंगल भवन का लोकार्पण कार्यक्रम में श्री सुनील राणा जिलाध्यक्ष मरार माली समाज ने कहा कि समाज के सभी समाजिक बंधुगण समाज को सभी क्षेत्रों में विकास की दिशा में आगे बढ़ाने के लिये मिलजुलकर एकजुटता के साथ कार्य करेंगे। 

मंत्री रामकिशोर कावरे कोचिंग सेंटर संचालन के लिये देंगे 1 लाख रूपये 


मरार माली समाज मंगल भवन का लोकार्पण कार्यक्रम भव्य रूप से समाजिक बंधुगणों की मौजूदगी में व जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में संपन्न हुआ। वहीं लोकापर्ण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मंत्री श्री रामकिशोर कावरे को आगमन पूर्व में तय था परंतु जबलपुर व दमोह में महामहिम राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी के कार्यक्रम के चलते वे नहीं पहुंच पाये उनके द्वारा समाजिक विकास के दिशा मेें भेजे गये संदेश को श्री गजानन पंचेश्वर ने समाजिक बंधुगणों तक मंच के माध्यम से पहुंचाया। उन्होंने समाज के बीच में यह संदेश दिया कि मंत्री श्री रामकिशोर कांवरे समस्त वर्गों के शैक्षणिक अध्ययन व शिक्षा के क्षेत्र में उज्जवल भविष्य निर्माण के लिये कोचिंग सेंटर संचालन के लिये 1 लाख रूपये की राशि प्रदान करेंगे। 

पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष लाईब्रेरी के लिये देंगे 50 हजार


मरार माली समाज के मंगल भवन के दौरान लोकापर्ण कार्यक्रम में श्री गजानंद पंचेश्वर ने जानकारी देते हुये बताया कि मरार माली समाज के द्वारा समस्त समाज वर्ग के शैक्षणिक उत्थान हेतु शिक्षा के क्षेत्र में आवश्यक साधन व संसाधन उपलब्ध कराने का प्रयास किया जायेगा। मरार माली समाज मंगल भवन में कोचिंग सेंटर के साथ सर्वसुविधायुक्त लाईब्रेरी प्रारंभ किया जायेगा। इसके लिये पूर्व नगर पंचायत परिषद के अध्यक्ष श्री रंजीत वासनिक द्वारा 50 हजार रूपये सहयोग के रूप में प्रदान किये जाने का संदेश मरार माली समाज तक पहुंचाया है।  

अतिथियों का भव्य स्वागत, यादगार के रूप में दिया स्मृति चिह्न 


श्री गजांनद पंचेश्वर ने आगे बताया कि मरार माली समाज मंगल भवन के लोकापर्ण कार्यक्रम में पहुंचे समस्त अतिथियों का मरार माली समाज के पदाधिकारियों व सदस्यों द्वारा भव्य स्वागत सत्कार किया गया जिन्हें बरघाट की सीमा से लेकर समाज के मंगल भवन तक अगवानी करते हुये ससम्मान लाया गया।
        

मरार माली समाज मंगल भवन के लोकापर्ण कार्यक्रम के रूप में पहुंचे समस्त अतिथियों को यादगार के रूप में शिक्षा का उजियारा फैलाने वाले ज्योतिबा फूले जी व सावित्री बाई फूले जी के छायाचित्र स्मृति चिन्ह युवाओं के द्वारा सम्मान कर भेंट स्वरूप प्रदान किया गया। वहीं मरार माली समाज द्वारा पर्यावरण का संदेश देते हुये पौधारोपण भी किया गया। 

मरार माली समाज मंगल भवन लोकापर्ण में विशेष रूप से ये रहे मौजूद 


मरार माली समाज मंगल भवन का लोकार्पण कार्यक्रम के संंबंध में जानकारी देते हुये श्री गजानन पंचेश्वर ने बताया कि मरारा माली समाज के भवन का लोकापर्ण कार्यक्रम में मुख्य रूप से श्री भगत सिंह कुशवाहा प्रदेश अध्यक्ष भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा, श्रीमती मीना बिसेन जिला पंचायत अध्यक् बरघाट, विधानसभा क्षेत्र बरघाट विधायक श्री अर्जुन सिंह काकोड़िया, श्री उदय सिंह पंचेश्वर गुरुजी कटंगी, श्री रंजीत वासनिक, श्री धनीराम पंचेश्वर संरक्षक, श्रीलाल पंजरिया, श्री रामेश्वर भ्रमित जी, श्री सुनील राणा जिलाध्यक्ष मरार माली समाज, श्री महेश मनेश्वर सचिव, श्री हीरालाल नागेश्वर, श्री लेख राम मात्रे, श्री हनुमत पंचेश्वर, श्री अरविंद पंचेश्वर, श्री महेश मात्रे, श्रीमती सरिता सूर्यवंशी, श्रीमती किरण टेंमरे, श्री महादेव टेकाम, श्री विवेक बिसेन मंडल अध्यक्ष, श्री प्रीतपाल बघेल, श्री वेंकट राव जी एवं जिला मरार माली समाज के गांव-गांव से बड़ी संख्या में महिला एवं पुरुष की उपस्थिति रही।

No comments:

Post a Comment

Translate