Thursday, December 2, 2021

अटल विहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय, बिलासपुर का नामकरण गोंडवाना रत्न पेनवासी दादा हीरासिंह मरकाम जी के नाम पर किये जाने की मांग

अटल विहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय, बिलासपुर का नामकरण गोंडवाना रत्न पेनवासी दादा हीरासिंह मरकाम जी के नाम पर किये जाने की मांग

नि:शुल्क कोचिंग सेंटर उपलब्ध किया जाने की मांग की गई


रायपुर। गोंडवाना समय।

जीएसयू इंण्डिया के राष्ट्रीय संचालक अभिषेक उईके के नेतृत्व में जीएसयू इण्डिया ने 1 दिसंबर 2021 को छतीसगढ़ की महामहिम राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उईके से शिष्टाचार मुलाकात की। साथ ही जीएसयू ने सामुहिक रूप से राज्यपाल को सम्मान के रूप में जीएसयू द्वारा बनाया गया स्मृति चिन्ह और अंगवस्त्र, पीला गमछा देकर सम्मानित किया। मुलाकात के दौरान अभिषेक उईके ने मुख्य रूप से छात्रहितों का ध्यान रखते हुए छतीसगढ़ प्रदेश के शिक्षा व्यवस्था, रोजगार की कमी व वर्षो से रोक कर रखी गई शिक्षा विभागों में सहायक प्रध्यापको की अविलंब नियुक्ति आदेश, शिक्षाकर्मियों की भी नियुक्ति को तत्काल नियुक्ति आदेश देने की मांग रखी। 

ट्राइबल लाइब्रेरी की स्थापना किये जाने की मांग भी की गई


महामहिम राज्यपाल से शिष्टाचार भेंट के द्वारा जीएसयू इण्यिा के प्रतिनिधिमण्डल द्वारा सात सूत्रीय मांगों को लेकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपते हुये कार्यवाही कराये जाने का निवेदन किया। जिसमें अटल विहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय, बिलासपुर का नामकरण गोंडवाना रत्न पेनवासी दादा हीरासिंह मरकाम जी के नाम पर किये जाने की मांग की गई। वहीं छत्तीसगढ़ के समस्त जिला मुख्यालयो में ट्राइबल लाइब्रेरी की स्थापना किये जाने की मांग भी की गई। इसके साथ ही 14580 शिक्षकों में पदस्थापना जिसमे बस्तर संभाग और सरगुजा संभाग में चयनित शिक्षकों की नियुक्ति अविलंब आदेश किया जाने की मांग की गई।

लोकसेवा आयोग द्वारा चयनित सहायक प्रध्यापको की नियुक्ति अविलंब किया जाये


जीएसयू द्वारा राज्यपाल से मांग रखते हुये लोकसेवा आयोग द्वारा चयनित सहायक प्रध्यापको की नियुक्ति अविलंब किया जाये इसकी भी मांग रखी गई। इसके साथ ही प्रदेश के अनुसूचित जाति-जनजाति छात्र-छात्राओं की छात्रवृति अविलंब समय सीमा में प्रदान किया जाये मांग रखी गई। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ प्रदेश में अनुसूचित जनजाति छात्र-छात्राओं की उच्च शिक्षा व प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु समस्त जिला मुख्यालयो में नि:शुल्क कोचिंग सेंटर उपलब्ध किया जाने की मांग की गई। इसके साथ ही अनुसूचित जनजाति छात्रावास में छात्रवास अधीक्षक व अधीक्षिका अनुसूचित जनजाति वर्ग से ही हो।

इस दौरान ये रहे मौजूद 


राज्यपाल ने उपरोक्त मांगो को लेकर यह आश्वासन दिया है कि तत्काल ही इन विषयों पर जानकरी एकत्र कर प्रक्रिया पूर्ण कर ली जाएगी। राजभवन, छतीसगढ़ में मुलाकात के दौरान जीएसयू छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष पुरनेश कावड़े, उपाध्यक्ष योगेंद्र राजन, बिलासपुर संरक्षक स्वपनिल ध्रुवे, लोकेश पोर्ते, जीएसयू सदस्य बिलासपुर मौजूद रहे।

2 comments:

Translate