Friday, December 3, 2021

शहीद वीर नारायण सिंह जी को अंग्रेजों ने फांसी की सजा देने के बाद शव को तोफ से उड़ा दिया था

शहीद वीर नारायण सिंह जी को अंग्रेजों ने फांसी की सजा देने के बाद शव को तोफ से उड़ा दिया था 

शहीद वीर नारायण सोनाखान जी के योगदान, बलिदान पर प्रकाशन हेतु लेख आमंत्रित 


सिवनी। गोंडवाना समय।

अंग्रेजों से आजादी दिलाने के लिये ऐतिहासिक शहादत देने वाले गोंड़वाना के शेर वीर नारायण सिंह सोनाखान जी के बलिदान दिवस 10 दिसंबर तक आप अपने लेख, कविता दैनिक गोंडवाना समय समाचार पत्र में प्रकाशन हेतु भेज सकते है। 

        


विशेष नोट- दैनिक गोंडवाना समय समाचार पत्र में गोंडवाना के शेर शहीद वीर नारायण सोनाखान जी के योगदान, बलिदान पर 5 दिसंबर से लेख का प्रकाशन प्रारंभ किया जायेगा, जो भी लेख लिखना चाहता है वह दैनिक गोंडवाना समय की ई मेल आई डी gondwanasamay@gmail.com या वाटसप नंबर 9303842292, 9303375859  पर 4 दिसंबर से भेजना प्रारंभ कर सकते है। 

No comments:

Post a Comment

Translate