Monday, December 27, 2021

भाजपा के संरक्षण में नीलेश उर्फ बंटी जैन का आदिवासी विकासखंड धनौरा में आतंक बरकरार

भाजपा के संरक्षण में नीलेश उर्फ बंटी जैन का आदिवासी विकासखंड धनौरा में आतंक बरकरार

मनोज बकोड़े की शिकायत पर धनौरा पुलिस ने नीलेश उर्फ बंटी जैन पर दर्ज किया मामला 


सिवनी/धनौरा। गोंडवाना समय।

आदिवासी विकासखंड धनौरा में भारतीय जनता पार्टी का संरक्षण का लाभ उठाकर एवं पूर्व में भाजपा के प्रमुख पदों पर रहकर धनौरा मुख्यालय व क्षेत्र के अनुसूचित जनजाति व अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों पर दबंगई दिखाकर उनके साथ मारपीट करना, अपमानित करने में माहिर नीलेश उर्फ बंटी जैन का आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है।
        


पूर्व में विगत कुछ वर्ष पहले भाजपा के पद पर रहते हुये अत्याचार अन्याय करने के खिलाफ में आदिवासी समुदाय के द्वारा भूख हड़ताल की गई थी जिसमें पुलिस प्रशासन की छबी धूमिल हुई थी। उस दौरान तात्कालीन पुलिस अधीक्षक के हस्तक्षेप के बाद धनौरा पुलिस द्वारा भूख हड़ताल करने वालों को लिखित में दिया गया था कि नीलेश उर्फ बंटी जैन का जिला बदल की कार्यवाही के लिये प्रस्ताव कलेक्टर की ओर भेजा गया था, इसके बाद जिला बदल की कार्यवाही भी की गई थी। आदिवासी विकासखंड धनौरा में नीलेश उर्फ बंटी जैन की गुण्डागर्दी से ग्रामीणजन से अत्याधिक परेशान है। बीते 25 दिसंबर 2021 को भी अनुसूचित जाति वर्ग के व्यक्ति के साथ मारपीट करने एवं अपमानजनक कृत्य करने के बाद धनौरा पुलिस ने नीलेश उर्फ बंटी जैन पर मामला दर्ज किया है। 

नीलेश उर्फ बंटी जैन ने कहा तमीज सीखने के लिये तेरे से सर्टिफिकेट लुंगा क्या

पुलिस धनौरा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम धनौरा में दामाद कालोनी का रहने वाले मनोज बकोड़े जो कि खेती किसानी का काम करते है, जो कि25 दिसंबर 2021 को भूरा यादव की दुकान के सामने खड़ा था तभी करीबन शाम 7.30 बजे ग्र्राम धनौरा का रहने वाला नीलेश उर्फ बंटी जैन आया और मनोज बकोड़े के चाचा देवचंद बकौड़े को बोला कि और कलुटा तो मनोज बकोड़े ने नीलेश उर्फ बंटी जैन को बोला कि मेरे चाचा को तमीज से बोलो तो नीलेश उर्फ बंटी जैन ने मनोज बकोड़े से कहा कि कि तमीज से बात करने के लिये तेरे से सर्टिफिकेट लूंगा क्या यह कहा। इसके बाद मनोज बकोड़े को जातिगत रूप से अपमानित कर अपशब्दों का प्रयोग करने लगा। जब मनोज बकोड़े ने नीलेश उर्फ बंटी जैन को जातिगत रूप से अपमानित नहीं करने और अपशब्दों का प्रयोग नहीं करने के लिये कहा तो मनोज बकोड़े को नीलेश उर्फ बंटी जैन ने जान से मारने की धमकी देने लगा। इसी बीच मौके पर आकर मनोज बकोड़े के चाचा देवचंद बकौडे और छोटा भाई विनोद बकौडे एवं दुकानदार लारार यादव ने आकर बीच बचाव एवं समझाए थे। 

धनौरा पुलिस ने किया मामला दर्ज 

वहीं इस मामले की जब पुलिस थाना धनौरा में पीड़ित मनोज बकोड़े द्वारा शिकायत दी गई तो पुलिस थाना धनौरा द्वारा नीलेश उर्फ बंटी जैन पर 294, 506 एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत 3(1)(द), 3 (1)(ध), 3 (2) (व्ही ए) के तहत मामला कायम किया गया है। 

धनौरा मुख्यालय में नाले की जमीन पर कर रहा व्यवसाय


हम आपको बता दे कि आदिवासी विकासखंड धनौरा में अनुसूचित जनजाति व अनुसूचित जाति वर्ग के साथ अन्याय, अत्याचार व शोषण तो नीलेश उर्फ बंटी जैन के द्वारा किया ही जा रहा है। इसके साथ ही शासकीय भूमि पर नाले की जमीन पर अतिक्रमण कर दुकान बनाकर व्यापार-व्यावसाय भी कर रहा है। नाले के ऊपर व्यापार के लिये दुकान बनाये जाने के कारण नाले से होने वाले गंदे पानी की निकासी नहीं हो पा रही है। जिससे आसपास के रहवासी अत्याधिक परेशान है। इसकी शिकायते अनेकों बार की जा चुकी है लेकिन अतिक्रमण कर किये जा रहे व्यापार व्यवसाय के लिये दुकान को हटाने की कार्यवाही नहीं की जा रही है। 

No comments:

Post a Comment

Translate