Sunday, December 19, 2021

तहसीलदार ने स्वयं के साथ दो नायब तहसीलदार, समस्त आरआई, पटवारी, रीडर्स, आपरेटर्स का दिसंबर माह वेतन रोकने के दिये आदेश

तहसीलदार ने स्वयं के साथ दो नायब तहसीलदार, समस्त आरआई, पटवारी, रीडर्स, आपरेटर्स का दिसंबर माह वेतन रोकने के दिये आदेश 

सीएम हेल्पलॉइन में लंबित शिकायतों को लेकर कलेक्टर की नाराजगी के बाद जारी किया आदेश 


सिवनी। गोंडवाना समय।

समय सीमा की बैठक में एवं अन्य समीक्षा बैठकों में सिवनी कलेक्टर डॉ राहूल हरिदास द्वारा सीएम हेल्पलॉइन सहित अन्य समाधान कारक शासन की योजनाओं में समय पर समस्याओं का निराकरण नहीं किये जाने पर विभागीय अधिकारियों पर नाराजगी व्यक्त की जाकर उन्हें त्वरित निराकरण किये जाने के लिये निर्देश दिये जाते है। 

कलेक्टर ने वीसी में जताई थी नाराजगी 

सीएम हेल्प लॉइन में लंबित समस्याओं का त्वरित निराकरण नहीं किये जाने पर कलेक्टर डॉ राहूल हरिदास द्वारा वीसी के माध्यम से बैठक लेने के उपरांत राजस्व विभाग तहसीलदार कार्यालय सिवनी अंतर्गत कार्यप्रणाली को लेकर नाराजगी व्यक्त की गई थी।  

समस्या का निराकरण होते तक वेतन रोकने के आदेश किये जारी 

सीएम हेल्प लॉइन की समस्याओं के निराकरण को लेकर तहसीलदार सिवनी द्वारा विगत 16 दिसंबर को एक ओदश जारी किया गया है जिसमें उन्होंने स्वयं तहसीलदार सहित, नायब तहसीलदार, श्री संगम पटले, सुश्री निधि शर्मा के साथ साथ समस्त राजस्व निरीक्षक, सभी पटवारी, सभी रीडर्स, आपरेटर का माह दिसंबर 2021 का वेतन सीएम हेल्प लॉइन की लंबित शिकायतों के समाधान निराकरण होते तक रोके जाने का आदेश जारी किया गया है। 

शासन की महत्वपूर्ण जनकल्याणकारी योजना है सीएम हेल्पलॉइन 

हालांकि सीएम हेल्पलॉइन शासन की महत्वपूर्ण जनकल्याणकारी योजना है, विभागीय समस्याओं का समाधान निराकरण की सुनवाई नहीं होने पर आम जनता की शिकायतें सीधे शासन स्तर पर वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचती है। अक्सर यह भी सामने आता है कि सीएम हेल्प लॉइन में कुछ शिकायतें ऐसी भी होती है जिन्हें कुछ अधिकारी जानबूझकर समय पर निराकरण नहीं करते है तो वहीं कुछ शिकायतें ऐसी होती है जिनका निराकरण संबंधित विभाग से नहीं होता है या निराकरण होते तक कई विभागों व लेबल तक पहुंच जाती है। यही कारण होता है शिकायत त्वरित निराकरण होने की वजाय लंबित हो जाती है। कई शिकातयों को लेकर यह सुनने में आता है कि बिना शिकायतकर्ता को संतुष्ट किये बिना ही निराकरण कर दिया जाता है, इसके बाद वह शिकायतकर्ता पुन: निराकरण नहीं होने की शिकायत करता है।

No comments:

Post a Comment

Translate