Saturday, January 8, 2022

झाबुआ पॉवर प्लांट के ठेकेदारों के गुण्डों ने विशेष संरक्षित बैगा आदिवासी को बेरहमी से पीटकर तौड़े हाथ-पैर

झाबुआ पॉवर प्लांट के ठेकेदारों के गुण्डों ने विशेष संरक्षित बैगा आदिवासी को बेरहमी से पीटकर तौड़े हाथ-पैर 

घंसौर ब्लॉक गोंडवाना गणतंत्र पार्टी सहित अन्य राजनैतिक दल झाबुआ पॉवर प्लांट व ठेकेदारों की मनमानी पर क्यों रहते है चुप ?

पुलिस प्रशासन व स्थानीय प्रशासन के संरक्षण में आदिवासियों पर हो रहा अन्याय, अत्याचार, शोषण 


सिवनी/घंसौर। गोंडवाना समय। 

पूंजीपति व उद्योगपति को धन दौलत कमाने के लिये सरकार सबसे ज्यादा आदिवासी क्षेत्रों में जल, जंगल, जमीन की सुविधा मुहैया कराती है।


इसके बदले में पूंजीपित व उद्योगपति सत्ताधारी दल का खजाना भरने के साथ ही नेताओं की जेब तिजोरी भी भरते है। इसलिये आदिवासी क्षेत्रों में पंूजीपति व उद्योगपति धन्नासेठों के द्वारा क्षेत्रिय आदिवासियों के साथ शोषण, अन्याय, अत्याचार बेखौफ होकर किया जाता है।
            वहीं आदिवासी क्षेत्रों में इन पूंजीपतियों व उद्योगपतियों को संरक्षण पुलिस प्रशासन व स्थानीय प्रशासन भी खुलकर साथ देता है। ऐसी स्थिति आदिवासी बाहुल्य जिला सिवनी के आदिवासी ब्लॉक घंसौर में स्थित झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन के साथ साथ वहां पर कार्यरत ठेकेदारों व उनके गुण्डों के द्वारा आदिवासियों के साथ अन्याय, अत्याचार, शोषण करने के साथ साथ अब खुले आम मारपीट कर उनके हाथ पैर तोड़ने का काम भी किया जा रहा है। 

विशेष संरक्षित जनजाति बैगा रूपलाल पुरिया को मारपीट कर तोड़ दिये हाथ पैर 


झाबुआ पॉवर प्लांट से निकलने वाले मानव व पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाले डस्ट को झाबुआ पॉवर प्लांट ठेकेदार के द्वारा ग्राम पंचायत बरौदामाल के कुरमटेल ग्राम के आगे फैंका जा रहा है। भारी वाहन में डस्ट ले जाने के लिये आदिवासियों के घर के सामने से रोड से निकलते वाहन प्रदुषण फैलाते है इस बात को लेकर विशेष संरक्षित जनजाति बैगा रूपलाल पुरिया ने डंपर वाहन चालक को मना किया था, इसके बाद वाहन चालक व ठेकेदार के द्वारा फोरव्हीलर वाहनों में गुण्डों को बुलवाकर बुरी तरह से मारपीट किया गया।
            

पुलिस थाना घंसौर अंतर्गत ग्राम पंचायत बरौदामाल के ग्राम कुरमटेल में बीते 27 दिसंबर 2021 को लगभग 10 से 11 बजे रात्रि की घटना है। जहां पर विशेष संरक्षित जनजाति बैगा रूपलाल पुरिया को झाबुआ पॉवर प्लांट से निकलने वाले डस्ट को फैंकने का ठेका लेने वाले ठेकेदार के गुण्डे जो कि लगभग 3 से 4 फोरव्हीलर वाहन में गांव पहुंचे थे उनके द्वारा बैगा रूपलाल पुरिया को बुरी तरह से मारपीट करते हुये उसके हाथ पैर तोड़ दिये। जिसके कारण बैगा रूपलाल पुरिया विस्तर में ही पड़ा है, उसकी स्थिति अत्याधिक गंभीर है। 

ग्रामीणजनों ने आक्रोश जताते हुये 


पीड़ित परिवार का सहयोग करते हुये उन्हें न्याय दिलाने के लिये घंसौर ब्लॉक के जागरूक युवक इंजिनियर संतोष उईके के द्वारा आवाज उठाई गई है। वहीं ग्रामीणजन झाबुआ पॉवर प्लांट व वहां से निकलने वाले डस्ट को फैंकने के लिये ठेका लेने वाले ठेकेदार के डंफरों को कचरा फैंकने से पीड़ित परिवार के साथ मिलकर रोक दिया है जिससे डंफर के पहिये थम गये है।
        ग्रामीणों ने पुलिस थाना घंसौर पर आरोप लगाया है कि पुलिस आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं कर रही है यहां तक दी गई शिकायत की पावती तक पुलिस थाना घंसौर द्वारा नहीं दी गई है। ग्रामीणजनों ने आक्रोश जताते हुये कहा है कि क्षेत्रिय जनप्रतिनिधि व क्षेत्रिय राजनैतिक दलों के नेतागण भी झाबुआ पॉवर प्लांट व वहां पर कार्य करने वाले ठेकेदारों के द्वारा आदिवासियों पर किये जा रहे अत्याचार, अन्याय, शोषण के खिलाफ आवाज तक नहीं उठा रहे है। 

No comments:

Post a Comment

Translate