Tuesday, March 8, 2022

जन शिक्षक पंजु लाल सेन पर अवैध वसूली और धमकी देने का शिक्षकों ने लगाया आरोप

जन शिक्षक पंजु लाल सेन पर अवैध वसूली और धमकी देने का शिक्षकों ने लगाया आरोप

लगभग 35 शिक्षकों ने प्रताड़ना की शिकायत की जांच कर कार्यवाही की रखी मांग 

सिवनी। गोंडवाना समय।

शिक्षा विभाग में कुछ पदों की कुर्सी ऐसी है जिसमें चिपकने के लिये लालायित होकर शैक्षणिक गतिविधियों के तहत अध्यापन का कार्य छोड़कर मजबूत राजनैतिक और प्रशासनिक जुगाड़ लगाकर सम्माननीय शिक्षक पदासीन हो जाते है।
            


लाभ दायक कुर्सी में बैठने के बाद कुछ शिक्षकगण तो अपने कर्तव्यों का ईमानदारी से बखूबी पालन करते है जिनपर कोई आरोप नहीं लगते है वहीं दूसरी ओर कुछ जनशिक्षक ऐसे होते है जिनका आरोपों, शिकवा शिकायतों से चोली दामन का साथ रहता है। इन कुर्सी में बैठकर उनका यही मकसद होता है कि वेतन के अलावा हमें अवैध रूप से सिर्फ रूपया पैसा कमाना है। इनमें से एक महानुभाव सम्माननीय पंजूलाल सेन जनशिक्षक भी अवैध वसूली करने  साथ धमकी देने के मामले में महारथी है।  

वरिष्ठ अधिकारियों की मोहब्बत पंजूलाल सेन के प्रति कम होने का नाम नहीं ले रही है

हम आपको बता दे कि जनशिक्षक पंजूलाल सेन की शिकायत यदि एक दो या दस शिक्षक भी करते तो मान लिया जाता कि शिक्षणगण अपने कर्तव्यों का निर्वहन सही ढंग से नहीं कर रहे होंगे इसलिये दुर्भावनावश जनशिक्षक पंजूलाल सेन की शिकायत कर रहे होंगे लेकिन यहां तो लगभग 35 शिक्षक जनशिक्षक पंजूलाल सेन पर अनावश्यक रूपये मांगने और धमकी देने का आरोप लिखित में शिकायत कर आवेदन दे रहे है। इसके बाद भी वरिष्ठ अधिकारियों की मोहब्बत पंजूलाल सेन के प्रति कम होने का नाम नहीं ले रही है, आखिर इसके पीछे कौन सा राज है। 

मैं देख लूंगा मुझे कैसे पैसे निकालना है

अनावश्यक पैसो की मांग एवं धमकी दिए जाने विषयक को लेकर लगभग 35 से अधिक शिक्षकों ने जन शिक्षक केंद्र सागर में पदस्थ जन शिक्षक श्री पंजु लाल सेन की शिकायत यह जानकारी देते हुये किया है कि जनशिक्षक पंजूलाल सेन शिक्षकों को आये दिन पैसों के लिए प्रताड़ित करते हैं एवं पैसे ना देने पर मैं देख लूंगा मुझे कैसे पैसे निकालना है आदि शब्दों का प्रयोग करते हैं। शिक्षकगण श्री पंजू लाल सेन से निम्नलिखित कारणों से प्रताड़ित हैं जिसमें उल्लेख किया गया है कि पंजू लाल सेन जन शिक्षक आए दिन पैसों की अनावश्यक मांग करते हैं। 

मां की बगिया एवं हैंड वास निर्माण में भी शिक्षकों से अवैध वसूली धमकी देकर की गई है

जनशिक्षक पंजू लाल सेन पैसे ऐंठने के लिए डाको को समय सीमा में कुछ चिन्हित शिक्षकों तक पहुंचाते है नहीं तो अनेक शिक्षकों तक डाक नहीं पहुंचाते है। जनशिक्षक पंजू लाल सेन की भाषा शैली भी शिक्षकों से सम्मान पूर्वक नहीं रहती रफ टोन में बात करते रहते हैं जिसमें शिक्षक अपने आप में अपमानित महसूस करते हैं। पंजू लाल सेन शिक्षकों को यह कह कर प्रताड़ित करते हैं कि मेरी अधिकारियों तक पहुंच बहुत ऊपर तक है तुमसे जो बने कर लो पर मुझे पैसे देना पड़ेगा तथा पैसे निकालना मुझे आता है। पंजू लाल सेन द्वारा शाला में मां की बगिया एवं हैंड वास निर्माण में भी शिक्षकों से अवैध वसूली धमकी देकर की गई है।

डाक को अनावश्यक रोककर स्पष्टीकरण देने व निलंबित करवाने आदि की धमकी शिक्षकों को देते हैं

आवश्यक डाक को जन शिक्षक पंजूलाल सेन अपने घर में बैठकर या अन्य जगह से वितरण करते हैं जिससे पैसे की वसूली की जा सके तथा पैसे ना देने पर डाक को अनावश्यक रोककर स्पष्टीकरण देने व निलंबित करवाने आदि की धमकी शिक्षकों को देते हैं। जनशिक्षक पंजूलाल सेन द्वारा कक्षा में शिक्षकों को बालको के समक्ष पैसे ना देने पर पालको के सामने अपमानित करते हैं। अधिकांश शिक्षणगण उक्त जन शिक्षक पंजूलाल सेन से मानसिक रूप से प्रताड़ित होकर शिकायत करने पर मजबूर हैं इसलिये जांच कर कार्यवाही करने की मांग की है। 

कर्तव्यों का पालन नहीं करने वाले शिक्षकों ने किया निराधार शिकायत

वहीं जब इस मामले में जनशिक्षक श्री पंजूलाल सेन से गोंडवाना समय द्वारा चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि जनशिक्षक केंद्र अंतर्गत शिकायत करने वाले शिक्षक अपने कर्तव्यों का पालन नहीं करते है। समय पर स्कूल नहीं जाते है और भी विभाग के दिशा निर्देशों का पालन नहीं करते है। जानबूझकर ऐसे शिक्षकों के द्वारा जो कि कर्तव्यों का पालन नहीं करते है उनके द्वारा निराधार शिकायत की गई है। मेरे द्वारा कोई अवैध या अनावश्यक वसूली नहीं की जाती है। 

No comments:

Post a Comment

Translate