Tuesday, May 3, 2022

पेंच नहर विकास की समस्त समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता तब तक धरना निरंतर जारी रहेगा

पेंच नहर विकास की समस्त समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता तब तक धरना निरंतर जारी रहेगा


सिवनी। गोंडवाना समय। 

सिवनी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली पेंच नहर शाखा डी 4 के किसानों का धरना प्रदर्शन सातवें दिन भी निरंतर जारी है। नहर की विभिन्न समस्याओं को लेकर धरने में बैठे हैं। किसानो की प्रमुख मांगे हैं खामखरेली डैम में पानी ना छोड़कर पेंच नहर को खामखरेली डैम के ऊपर से घुमाकर नहर को ले जाया जाए। जिससे जो ग्राम सिंचाई से वंचित रह रहे हैं वे सभी ग्रामों के खेतों तक नहर का पानी आसानी से पहुंच जाएगा।
        नहर निर्माण का कार्य पुराने सर्वे के अनुसार ही हो। नहर का काम तीव्र गति से एवं उच्च गुणवत्ता के साथ हो। पेंच नहर निर्माण कार्य के लिए किसानों की एक समन्वयक समिति का गठन किया जाए जो निर्माण कार्य में विभाग का सहयोग करेगी एवं निर्माण कार्य का सतत निगरानी करेंगी। नहर निर्माण के लिए नया सर्वे का कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जाए एवं जल्द से जल्द प्रपोजल तैयार कर संबंधित विभाग को सौंपा जाए।

3 मई को धरना में प्रमुख रूप से ये किसान रहे मौजूद

इन तमाम समस्याओं को लेकर किसान धरना प्रदर्शन में बैठे हुए हैं और जब तक इनकी समस्त समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता तब तक धरना निरंतर जारी रहेगा। दिनांक 30 अप्रैल 2022 की प्रथम दौर की बैठक में मुख्य अभियंता जल संसाधन विभाग सिवनी के द्वारा कुछ मांगे मान ली गई हैं।
            वहीं 3 मई 2022 दिन मंगलवार को पेंच नहर सत्याग्रह में प्रमुख रूप से तिरु नरेश भलावी बोरिया, गंगा प्रसाद तेकाम सरपंच खमरिया, महेश मर्सकोले सरपंच खामखरेली, दिलीप कुमार उइके, संतोष धुर्वे छीतापार, पवन धुर्वे महलोंन, बृजमोहन भाटीवाडा, झील पिपरिया राजेंद्र कंगाली, डुंगरिया महेश परते, कंडीपार रंज्जू मर्सकोले, भूपेंद्र मर्सकोले, जितेंद्र, कमल प्रसाद मरावी कंडीपार, शिवाले इंदावाडी, रवि ब्रम्हे इंदावाडी, राजेश पटेल, बीडी बासनिक, शिवम बघेल परासपानी, राहुल कुमार ऐसे बहुत सारे किसानों की उपस्थिति रही।

No comments:

Post a Comment

Translate