Monday, May 16, 2022

गोंडवाना गोंड महासभा का प्रांतीय कार्यकारिणी गठित, नीलकंठ टेकाम प्रांतीय अध्यक्ष चुने गये

गोंडवाना गोंड महासभा का प्रांतीय कार्यकारिणी गठित, नीलकंठ टेकाम प्रांतीय अध्यक्ष चुने गये

महासभा का गठन वर्ष 2009 में आदिशक्ति मां अंगारमोती गंगरेल जिला धमतरी के प्रांगण में हुआ था




छत्तीसगढ़। गोंडवाना समय। 

गोड़वाना गोंड महासभा सामान्य प्रभाग नीलकंठ टेकाम, महिला प्रभाग उत्तरा मरकाम एवं युवा प्रभाग के चेम सिंह मरकाम प्रांतीय अध्यक्ष चुने गए। छत्तीसगढ़ गोंडवाना गोंड महासभा की बैठक महासभा के संरक्षक सदस्य श्री बी.पी.एस. नेताम के अध्यक्षता में बड़ादेव ठाना बंजारी नवा रायपुर में आहूत की गई। बैठक में 24 अप्रैल 2022 को स्थगित बैठक के एजेंडा अनुसार महासभा के कार्यकारिणी का गठन किया गया। इस हेतू बैठक के सभापति द्वारा नियमानुसार श्री आर के पोयम को निर्वाचन अधिकारी एवं श्री एन आर ध्रुव को सहायक निर्वाचन अधिकारी नियुक्त किया गया। सर्वसम्मति से प्रदेश अध्यक्ष श्री नीलकंठ टेकाम (आईएएस) संचालक कोष एवं लेखा छत्तीसगढ़ शासन, प्रांतीय उपाध्यक्ष श्री अंबिका प्रसाद शांडिल्य सरगुजा, श्री चंद्रिका प्रसाद ठाकुर, डॉ शंकर लाल उइके, श्री रघुराज सिंह मरकाम, महासचिव आर.एन. ध्रुव, संयुक्त सचिव जगेश्वर सिंह राज, सुरेश कुमार खुसरो, भुनेश्वर प्रसाद सिदार, भागसिंह कोमर्रा, महिला प्रभाग के प्रदेश अध्यक्ष गोंडवाना गोंड महासभा तहसील गुरुर, जिला बालोद सामान्य प्रभाग के अध्यक्ष श्रीमती उत्तरा मरकाम, प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती नीरा सिदार, श्रीमती गीता नेताम, प्रदेश महासचिव सरपंच संघ छत्तीसगढ़ महिला प्रभाग के प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती शशि परमेश्वर जगत चुने गए। 

साधारण सभा के माध्यम से पुन: सर्वसम्मति से चुन लिए गए हैं


वहीं युवा प्रभाग के प्रदेश अध्यक्ष श्री चेम सिंह मरकाम डोंगरगढ़ यूथ क्लब राजनांदगांव, प्रांतीय उपाध्यक्ष श्री अरुण नेताम, श्री उमेश सिंह दाऊ, श्री विजय कौशिक चुने गए। ज्ञात हो महासभा गठन सन 2009 के बाद गोंडवाना गोंड महासभा का विधिवत चुनाव/मनोनयन  नहीं हुआ था। कोरोना काल में स्व. नवल सिंह मंडावी के मृत्यु उपरांत कार्यकारिणी भंग कर दी गई थी। नई कार्यकारिणी गठन हेतु राष्ट्रीय महासभा द्वारा तदर्थ रूप से श्री नीलकंठ टेकाम को जिम्मेदारी सौंपी गई थी। जिसे आज गोंडवाना गोंड महासभा के साधारण सभा के माध्यम से पुन: सर्वसम्मति से चुन लिए गए हैं। 

पूरे भारतवर्ष में समाज के संरक्षण संवर्धन हेतु लगातार कार्य कर रही है


इस अवसर पर महासभा के संरक्षक सदस्य प्रथम प्रदेश अध्यक्ष श्री नेताम ने कहा कि महासभा का गठन वर्ष 2009 में आदिशक्ति मां अंगारमोती गंगरेल जिला धमतरी के प्रांगण में हुआ था। तब से लगातार गोंडवाना गोंड महासभा छत्तीसगढ़ सहित पूरे भारतवर्ष में निवास करने वाले गोंडवंशीय व्यक्ति, संगठनों, समाज के बीच आपसी तालमेल बिठाकर पूरे देश और पूरे राज्य में अधिकारों के संरक्षण, समाज के बहुमुखी विकास, गोंडी धर्म, संस्कृति, रीति-रिवाज के संरक्षण संवर्धन हेतु लगातार कार्य कर रही है। नवगठित प्रांतीय कार्यकारिणी को हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए महासभा 2009 में पारित प्रस्ताव के बेहतर क्रियान्वयन हेतु कार्य करने का आह्वान किये। 

पदाधिकारियों सहित सामाजिक प्रमुख गण बड़ी संख्या में उपस्थित थे

इस अवसर पर राष्ट्रीय महासचिव लोकेंद्र सिंह, आर.सी. ध्रुव संभागीय संयोजक बिलासपुर, परमेश्वर सिंह जगत अध्यक्ष, वीरेंद्र मरावी जिला अध्यक्ष, हेमलाल ध्रुव जिला अध्यक्ष, संतराम ध्रुव, सरवन सिदार अध्यक्ष, अकत सिंह ध्रुव, बजरंग सिंह जगत, शोभा राम मरकाम, कौशल राम कुंजाम, एच.के. सिंह उईके, सूरज लाल मतलाम, मनहेर सिंह कोर्राम अध्यक्ष, टामेश्वर ठाकुर, राजीव कुमार ध्रुव उपाध्यक्ष, नेपाल सिदार, मायाराम नागवंशी समाज प्रमुख,  बनमाली नेटी संरक्षक, मोहित राम नेटी, हरीश मंडावी मुंगेली, एसआर शोरी कोंडागांव, कपूरचंद कुंजाम कांकेर, अमरिका मरकाम संरक्षक, राधेलाल नागवंशी अध्यक्ष कंकाली क्षेत्र, अग्रहित कुमेटी क्षेत्रीय अध्यक्ष केशकाल, हेमंत ध्रुव, उत्तम कुमार ध्रुव सहित रायपुर, महासमुंद, धमतरी, कांकेर, कोंडागांव, बस्तर, बालोद, राजनांदगांव, दुर्ग ,बेमेतरा, मुंगेली, बिलासपुर, जांजगीर चांपा, सक्ति, रायगढ़, सरगुजा जिला के सामाजिक प्रमुख गण बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

Translate