Monday, May 27, 2019

भीषण गर्मी में जनकल्याण के लिए हाथों में जलती अखंड ज्योति लेकर निकला भक्तों का जत्था

भीषण गर्मी में जनकल्याण के लिए हाथों में जलती अखंड ज्योति लेकर निकला भक्तों का जत्था

हाथों में अंखड ज्योति लेकर भर दोपहरी सफर

सिवनी। गोंडवाना समय। 
भगवान पर अटूट श्रद्धा हो तो भक्त भूख-प्यास और ठंड-धूप सब भूल जाते हैं। देखिए यह तस्वीर सब कुछ बयां कर रही है। भीषण गर्मी के बावजूद हाथों में जलती हुई अखंड ज्योति लेकर  जनकल्याण की भावना को लेकर बद्रीनाथ से  भक्तगण महाराष्ट्र के सोलापुर ओकारनाथ जा रहे हैं। 25 लोगों के जत्थे में एक-एक भक्त अखंड ज्योति लेकर बिना रूके छह किलोमीटर का सफर तय कर रहे हैं। यानी एक दिन में भक्तों का जत्था डेढ़ सौ किलोमीटर का सफर पूरा कर रहा है। सबसे खास बात तो यह है कि अखंड ज्योत सतत रूप से प्रजवल्ति हो रही है।

जनकल्याण को लेकर 2500 किलोमीटर पैदल सफर-

जानकारी के मुताबिक बद्रीनाथ से 25 लोगों का एक जत्था जनकल्याण की भावना और देश की एकता बनी रहे इस उद्देश्य की कामना लिए हुए हाथों  में जलती हुई अखंड ज्योति लेकर पैदल महाराष्ट्र के सोलापुर स्थित ओकारनाथ भगवान के पास जा रहे हैं। ब्रदीनाथ से सोलापुर आेंकारनाथ तक 2500 किलोमीटर का सफर भक्तों को 16 दिन में पूरा करना है। जबलपुर रोड स्थित सोनाडोंगरी गांव के पास 43 डिग्री के पारा के बीच भर दोपहर हाथों में अखंड ज्योति लेकर चल रहे भक्त दत्तात्रेय ने बताया कि उनकी 25 लोगों की टोली है। जिसमें एक सदस्य हाथों में अखंड ज्योति लेकर छह किलोमीटर तक चल रहे हैं बाकी के सदस्य पीछे-पीछे वाहन में सफर कर रहे हैं। सभी 25 सदस्य बारी-बारी से हाथों में अखंड ज्योति लेकर चल रहे है। दत्तात्रेय ने बताया कि प्रतिदिन डेढ़ सौ किलोमीटर का सफर तय कर रहे हैं।

16 दिन में पहुंचना है ओकारनाथ-

दत्तात्रेय ने बताया कि जनकल्याण की भावना को लेकर उनकी टोली का सफर 10 दिन पहले हुआ है और आने वाले 16 दिन में ओकारनाथ पहुंच जाएंगे और अखंड ज्योति स्थापित करे देंगे। दत्तात्रेय ने बताया कि 17 मई को अखंड ज्योत जलाया गया है जो सतत जल रही है।

No comments:

Post a Comment

Translate