Thursday, May 30, 2019

खनिज अधिकारी किसी के दबाव में न आएँ-जायसवाल

खनिज अधिकारी किसी के दबाव में न आएँ-जायसवाल

नई रेत नीति का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के निर्देश

भोपाल। गोंडवाना समय।
खनिज साधन मंत्री प्रदीप जायसवाल ने गुरूवार को राज्य-स्तरीय कार्यशाला में कहा कि खनिज अधिकारी किसी के दबाव में आकर कार्य न करें। निर्धारित लक्ष्यों को पूरा करने के साथ राजस्व वसूली में भी तेजी लाएँ। राज्य शासन द्वारा बनाई गई नई रेत नीति का प्रभावी क्रियान्वयन करें। उन्होंने कहा कि विगत दिनों सभी ने विपरित परिस्थिति में भी अच्छा कार्य कर लक्ष्य प्राप्त किया है। इस वर्ष मुख्यमंत्री ने लक्ष्य बढ़ाकर दिया है। उनके विश्वास पर खरा उतरें। इसके लिए अमले को बढ़ाकर, प्रशिक्षित कर, संसाधन जुटाकर कार्य करें। मंत्री जायसवाल ने कहा कि नई रेत नीति काफी चिंतन-मनन कर बनाई गई है। खदानों को पंचायत से संचालित नहीं करते हुए उनके समूह बनाकर नीलामी होगी। सभी खनिज अधिकारी नई रेत नीति का अध्ययन करें। सभी जिलों में खदानों का चिन्हांकन करें, जिससे कोई खदान छूट न पाये। जिला स्तर पर पर डीएमएफ की जानकारी रखी जाये। खनिज अधिकारी कलेक्टर और मुख्य कार्यपालन अधिकारी से सतत सम्पर्क बनाए रखें।
खनिज मंत्री जायसवाल ने वित्तीय वर्ष 2018-19 में निर्धारित लक्ष्य 4528.00 करोड़ के विरूद्ध 4623.00 करोड़ राजस्व अर्जित करने पर खनिज अधिकारियों की सराहना की। प्रमुख सचिव खनिज श्री नीरज मंडलोई
ने कहा कि सभी जिलों में समूह बनाने की कार्रवाई शीघ्र की जाये। बैठक में कार्यपालक संचालक, राज्य खनिज निगम श्री दिलीप कुमार ने रेत नियम के क्रियान्वयन, सचिव श्री नरेन्द्र सिंह परमार ने जिला खनिज प्रतिष्ठान, उप सचिव श्रीमती सरिता बाला प्रजापति ने प्रतिष्ठान के संबंध में प्रस्तुतिकरण किया। प्रदेश में शिविरों के माध्यम से और चल रहे पूर्वेक्षण कार्य की उपलब्धियाँ का भी प्रस्तुतिकरण हुआ। इस मौके पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले जिला अधिकारियों को प्रशस्ति-पत्र प्रदान किये गए।

No comments:

Post a Comment

Translate