Monday, May 6, 2019

दूसरों का जीवन बचाने वाले साजिद उत्तम जीवन रक्षक पदक से हुये सम्मानित

दूसरों का जीवन बचाने वाले साजिद उत्तम जीवन रक्षक पदक से हुये सम्मानित

सिवनी। गोंडवाना समय। 
ऐसा कम ही सुनने व देखने को मिलता है कि जो अपनी जान बचे या न बचे लेकिन दूसरों की जीवन में कोई आंच नहीं आना चाहिये । ऐसा ही जोखिम भरा कार्य को अंजाम देने वाले सिवनी के साजिद खान की मिसाल लोगों की जुवान पर तरोताजा बनी हुई है । उन्होंने अपने जीवन की परवाह किये बगैर हजारों लोगों के जान-माल की रक्षा किया था । हम आपको बता दे कि सिवनी के निवासी श्री साजिद खान द्वारा नरसिंहपुर जिले के गोटेगांव में रिहायशी इलाके में पेट्रोल पंप पर खाली होते टैंकर में लगी आग की जलती हुई धार के साथ टैंकर को शहर से पांच किलोमीटर दूर सुनसान इलाके में ले जाकर खड़ा किया और एक बड़े हादसे को होने से बचा लिया था। श्री साजिद खान के इस जोखिम भरे कार्य से मध्यप्रदेश शासन द्वारा उत्तम जीवन रक्षक पदक वर्ष 2018-19 से सम्मानित किए जाने का निर्णय लिया गया है तथा रुपए 1,50,000/- रुपए एक लाख पचास हजार का चैक दिनांक 06 मई 2019 को कलेक्?टोरेट में आयोजित बैठक में सौंपा गया । उपस्थितजनों द्वारा करतल ध्वनि से स्वागत किया एवं श्री साजिद खान द्वारा प्रस्तुत किये गये आदर्श व्यवहार की सराहना करते हुए बधाई एवं शुभकामनाएं दी गयी । श्री साजिद खान को शासन द्वारा भोपाल में 15 अगस्त 2019 को आयोजित होने वाले राज्य स्तरीय कार्यक्रम में प्रशस्ति पत्र एवं जीवन रक्षक पदक से सम्मानित किया जाएगा ।

5 किलोमीटर दूर सूनसान क्षेत्र में छोड़ दिया था जलता हुआ ट्रक और झुलस गये थे हाथ

हम आपको बता दे कि नरसिंहपुर जिले के गोटेगांव में आॅइल टैंकर जब टैंकर पेट्रोल पम्प पर खड़ा हुआ था और उसमें आग लग गई थी तब ट्रक चालक श्री साजिद खान की सूझबूझ से बड़ा हादसा टल गया था । आग लगे हुये टैंकर को पेट्रोल पम्प से दूर ले जाकर छोड़ दिया था ताकि पेट्रोल पम्प आग की चपेट में ना आए हालांकि इस आग में पम्प के आसपास रखे कुछ वाहन और कुछ छोटी दुकानों में जरूर आग लग गई थी । घटना उस समय हुई थी जब टैंकर से ईंधन खाली कराया जा रहा था। जैसे ही टैंकर ने आग पकड़ी पम्प और आसपास अफरातफरी मच गई। लेकिन टैंकर चालक सादिक खान ने सूझबूझ और हौंसला दिखाते हुए टैंकर को पेट्रोल पम्प से आगे बढ़ा दिया। ड्राइवर इस जलते टैंकर को पेट्रोल पम्प से काफी दूर तक लगभग 5 किलोमीटर दूर तक ले गया और खाली स्थान पर ले जाकर खड़ा कर दिया। इससे बड़ा हादसा होते होते बच गया था । हालांकि इस कोशिश में चालक श्री साजिद खान के हाथ बुरी तरह झुलस गए थे और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था ।

No comments:

Post a Comment

Translate