Wednesday, May 8, 2019

शाहीद इन्फ्रा से गिट्टी भरकर दौड़ रहे डम्पर रौंद रहे सड़क, किसानों का पटवारी ने जाना दर्द

शाहीद इन्फ्रा से गिट्टी भरकर दौड़ रहे डम्पर रौंद रहे सड़क, किसानों का पटवारी ने जाना दर्द

सिवनी। गोंडवाना समय। 
पर्यावरण के साथ-साथ किसानों की जमीन को बंजर और ग्रामीणों को हलाकान व जीना मुहाल कर रही डुंगरिया स्थित शाहीद इन्फ्रा ग्रुप की क्रेशर व  खदान बंद हो सकती है। गोंडवाना समय की खबर के बाद तहसीलदार प्रभात मिश्रा द्वारा संज्ञान लेते हुए हल्का पटवारी स्वेता साहू को भेजकर जांच कराई गई है। जांच के दौरान डुंगरिया के आदिवासी किसानों ने महिला पटवारी को साफतौर पर बताया है कि उनकी जमीन क्रेशर की डस्ट से बंजर हो रही है और उनकी फसलें नहीं हो रही है। किसानों का दर्द जानने के बाद उसकी हकीकत को जानने के लिए महिला पटवारी उनके खेत का भी जायजा लिया जहां उन्हें खेत में डस्ट की परत अलग ही नजर आई है। गोंडवाना समय से बातचीत करते हुए पटवारी श्रीमति स्वेता साहू ने बताया कि तहसीलदार साहब के निर्देश पर वे जांच करने गई थी। किसानों ने वैसा ही बताया है जैसा अखबारों में छपा हुआ था। क्रेशर से 200 मीटर के किसानों के खेत में डस्ट की परत अलग ही नजर आ रही है प्रकरण बनाकर तहसीलदार साहब को सौंप दिया है।

तो लग जाएगा क्रेशर में ताला

शाहीद इन्फ्रा ग्रुप की क्रेशर में पर्यावरण के नियमों के साथ-साथ माइनिंग के कई नियमों को ताक में रखकर कलेक्टर कार्यालय खनिज विभाग के अफसरों की मेहरबानी से धड़ल्ले से चल रही है। अगर खदान की लीज, गहराई और पर्यावरण संंबंधित कई बिंदुओ पर जांच हो जाए तो क्रेशर पर ताला लग सकता है। राजस्व विभाग ने  यह जांच सिर्फ किसानों की बंजर हो रही जमीन एवं बीमार पड़ रहे मवेशियों को लेकर की है।

इधर डम्परों ने सड़क को भी कर दिया बर्बाद

शाहीद इन्फ्राग्रुप से भारी मात्रा में  मुरम और गिट्टी भरकर दौड़ रहे डम्परों की धमाचौकड़ी के चलते डुंगरिया,कंडीपार और चौरगरिठया पहुंच मार्ग की धज्जियां उड़ गई है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क में तो डम्परों के कारण कई जगह गड्ढों में तब्दील हो गई है। इस बात को लेकर  प्रधानमंत्री ग्राम सड़क ईकाई के  तकनीकी अधिकारियों ने तत्कालीन कलेक्टर गोपाल चंद्र डाड को पत्र भी लिखा था कि डम्परों की आवाजाही पर रोक लगाई जाए  एवं बर्बाद हुई सड़क की मरम्मत क्रेशर मालिक से करवाई जाए लेकिन तत्कालीन कलेक्टर ने मेहरबानी दिखाते हुए क्रेशर पर कोई कार्रवाई नहीं की।

No comments:

Post a Comment

Translate